ताज़ा खबर
 

आखिर तक अपने पास मोबाइल नहीं रखते थे राम विलास पासवान लेकिन बेटे चिराग को दी हर सहूलियत, वजह भी बताई थी

राम विलास पासवान ने कहा था कि हर बाप की इच्छा होती है उसका बेटा/बेटी उससे भी आगे जाएं और यही मेरी इच्छा भी है...

chirag paswan latest updates, ram vilas paswan death, ram vilas paswan son chirag paswan, fathers message to sonराम विलास पासवान – चिराग पासवान (फाइल फोटो)

बिहार के दिग्गज नेताओं में शुमार रहे केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान का पिछले सप्ताह निधन हो गया था। इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में राम विलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) अकेले चुनाव लड़ रही है। पार्टी की सारी जिम्मेदारी उनके बेटे चिराग पासवान के कंधों पर है। पिता की मौत के बाद चिराग पासवान वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से कार्यकर्ताओं से बातचीत कर रहे हैं, उनका हौसला बढ़ा रहे हैं।

चिराग पासवान ने कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की है, वो बेहद टेक्नोलॉजी फ्रेंडली हैं। हालांकि उनके पिता राम विलास पासवान आखिर तक अपने पास मोबाइल भी नहीं रखते थे। परंतु राम विलास पासवान ने कभी अपने बेटे चिराग को मोबाइल के इस्तेमाल करने से नहीं रोका। 2014 में राम विलास पासवान और चिराग पासवान दोनों इंडिया टीवी के कार्यक्रम ‘आप की अदालत’ में एक साथ आए थे।

तब ‘आप की अदालत’ में रजत शर्मा ने राम विलास पासवान से पूछा था कि आप चिराग को फिल्मों में देखना चाहेंगे या राजनीति में ? तो राम विलास पासवान ने कहा था कि मैं हर मां-बाप को यही सजेशन दूंगा कि वो अपने बच्चों पर अपने विचार ना थोपें। मैंने कभी मोबाइल नहीं चलाया पर आजकल के बच्चे फटाफट मोबाइल चलाते हैं। राम विलास पासवान ने आगे कहा था मैने आज तक चिराग पर अपने विचार नहीं थोपे, चिराग को जब जो अच्छा लगा हमने हमेशा उसका समर्थन किया। अब मैं खुद चिराग से राय लेता हूं।

वंशवाद की राजनीति पर क्या बोले थे पासवान? रजत शर्मा ने जब चिराग और राम विलास पासवान पर वंशवाद की राजनीति को बढाने का आरोप लगाते हुए कहा था कि चिराग को सीधे पैराशूट से संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बना दिया गया ? तो राम विलास पासवान ने जवाब देते हुए कहा था यह फैसला पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का था। उन्हें लगता था कि चिराग राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने ज्यादा मजबूती से पार्टी की आवाज़ उठा सकेंगे और उन्हें कई बातों के लिए मना भी सकेंगे।

राम विलास पासवान ने इसी इंटरव्यू में कहा था कि हर बाप की इच्छा होती है उसके बेटा/बेटी उससे भी आगे जाएं और यही मेरी इच्छा भी है। उस समय भाजपा के साथ हुए गठबंधन के बारे में रा मविलास ने कहा था कि लोजपा के एनडीए में शामिल होने में चिराग का अहम योगदान है।

इस इंटरव्यू में राम विलास पासवान ने मां बाप को बच्चों से राय लेने की सलाह भी दी थी। राम विलास ने कहा था कि मैं तो सबसे कहूंगा 60 वर्ष की उम्र के बाद बच्चों की सलाह जरूर लेनी चाहिए। 60 वर्ष की उम्र के बाद दिमाग में नए विचार नहीं आते जबकि बच्चे नौजवान होते हैं और उनके दिमाग में नए-नए आइडियाज आते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नीलम-पुखराज जैसे रत्नों की शौकीन हैं पुष्पम प्रिया चौधरी, 27 लाख बैंक बैलेंस; ऐसी है लाइफस्टाइल
2 बिहार चुनाव: इस बाहुबली ने नीतीश को नेता मानने से कर दिया था इनकार, कहा था- जनता डॉन के रूप में पसंद करे तो मैं डॉन ही सही 
3 MBA पास हैं ‘भाभी जी घर पर हैं’ की गुलफाम कली, जानिये एक दिन की कितनी है कमाई और कैसा है लाइफस्टाइल
ये पढ़ा क्या?
X