ताज़ा खबर
 

राजा भैया को उन्हीं के गढ़ में दी थी चुनौती, 3 बार रह चुकी हैं MP, अब राजकुमारी रत्ना ने पति को ड्रग एडिक्ट बता मांगा प्रॉपर्टी का अधिकार

Rajkumari Ratna Singh Net Worth: रत्ना सिंह की कुल प्रॉपर्टी 67 करोड़ 82 लाख रुपए की है। 2019 में दिए डाटा के मुताबिक तब उनके पास 3 लाख रुपये कैश था और 6.30 लाख रुपए बैंक डिपॉजिट।

rajkumari ratna singh, rajkumari ratna singh daughter, rajkumari ratna singh husbandराजकुमारी रत्ना सिंह का ताल्लुक उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के कालाकांकर राजघराने से है (Photo Credit – Internet)

Rajkumari Ratna Singh: राजस्थान-गुजरात के पूर्व राजघराने और महाराणा प्रताप के वंशज परिवार से ताल्लुक रखने वालीं पूर्व राजकुमारी रत्ना सिंह एक बार फिर चर्चा में हैं। उन्होंने अपने पति राजा जयसिंह की प्रॉपर्टी का कानूनी संरक्षण मांगा है। रत्ना सिंह ने अपनी याचिका में इसके पीछे जय सिंह के ड्रग एडिक्ट और एल्कोहलिक होने का तर्क दिया है। रत्ना सिंह ने अपनी याचिका में कहा है कि पति राजा जय सिंह कैंसर और डायबिटीज जैसी कई दूसरी बीमारियों से जूझ रहे हैं और खुद चलने फिरने में असमर्थ हैं।

रत्ना सिंह ने कहा है कि उनके इलाज का सारा खर्च वही उठाती हैं, इसलिए पूर्व राजघराने की प्रॉपर्टी का हक और कानूनी संरक्षक उन्हें नियुक्त किया जाना चाहिए।

कौन हैं राजकुमारी रत्ना सिंह?: राजकुमारी रत्ना सिंह का ताल्लुक उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के कालाकांकर राजघराने से है। उनके परदादा को कांग्रेस के संस्थापकों में से एक माना जाता है। रत्ना सिंह का परिवार शुरू से ही कांग्रेसी रहा है। अप्रैल 1959 को जन्मीं रत्ना सिंह के पिता राजा दिनेश सिंह इंदिरा गांधी के करीबी माने जाते थे। वह विदेश मंत्री भी रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव राजा दिनेश सिंह को अपने लिए लकी मानते थे।

कॉमर्स में ग्रेजुएट राजकुमारी रत्ना सिंह की शादी राजा जय सिंह सिसोदिया से हुई है। दोनों के दो बच्चे, एक बेटा और एक बेटी हैं। बेटे भुवन्यू सिंह बिजनेसमैन हैं। बेटी का नाम तनुश्री सिंह है।

राजा भैया को उन्हीं के गढ़ में दी चुनौती: राजकुमारी रत्ना सिंह ने पिता दिनेश सिंह की विरासत को बखूबी आगे बढ़ाया और सियासत की सीढ़ियां चढ़ती रहीं। वह उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ से कांग्रेस के टिकट पर तीन बार चुनाव जीतकर संसद में पहुंचीं। पहली बार साल 1996 और दूसरी बार साल 1999 में।

हालांकि इसके बाद साल 2004 में जब फिर चुनावी मैदान में उतरीं तो प्रतापगढ़ की ही भदरी रियासत से ताल्लुक रखने वाले राजा भैया के चचेरे भाई अक्षय प्रताप सिंह से हार का सामना करना पड़ा।

लेकिन 2009 के लोकसभा चुनाव में राजकुमारी रत्ना सिंह ने पूरी ताकत झोंक दी और अपनी हार का बदला लिया। इस चुनाव में वे विजयी रहीं। जबकि अक्षय प्रताप सिंह तीसरे स्थान पर रहे। हालांकि इसके बाद रत्ना सिंह यहां से चुनाव नहीं जीत पाईं। 2019 के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले उन्होंने कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया था।

सबसे अमीर राजनेताओं में गिनती: राजकुमारी रत्ना सिंह की गिनती देश के सबसे अमीर राजनेताओं में होती है। इलेक्शन वॉच के मुताबिक रत्ना सिंह की कुल प्रॉपर्टी 67 करोड़ 82 लाख रुपए की है। 2019 में दिए डाटा के मुताबिक तब उनके पास 3 लाख रुपये कैश था और 6.30 लाख रुपए बैंक डिपॉजिट। इसके अलावा 2 किलो सोना और और 10 किलो चांदी थी, जिसकी कीमत करीब 90 लाख आंकी गई थी।

राजकुमारी रत्ना के पास 5.70 करोड़ रुपए की एग्रीकल्चरल लैंड भी है। इसके अलावा 4.11 करोड़ रुपए की नॉन एग्रीकल्चरल लैंड भी है। प्रतापगढ़ में 7 करोड़ रुपए मूल्य की रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी और 1.30 करोड़ रुपए मूल्य की कमर्शियल बिल्डिंग भी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Happy Lohri 2021 Wishes, Images,Messages: पंजाबी लोकपर्व लोहड़ी की अपनों को इन खास संदेशों से दें बधाई
2 Happy Lohri 2021 Wishes Images, Status: ‘पॉपकॉर्न की खुशबू..’ इन संदेशों से दें लोहड़ी की बधाई
3 पिता की मौत के बाद बड़े बेटे नरेश को मिली थी गद्दी, लेकिन राकेश टिकैत हैं BKU का ‘चेहरा’; जानिये- क्या करते हैं और दोनों भाई
ये पढ़ा क्या?
X