ताज़ा खबर
 

इस बीमारी का सामना कर रहे थे रजनीकांत, जानिए लक्षण, कारण और बचाव

रजनीकांत की तरह ब्रोंकाइटिस की समस्या का सामना नहीं करना चाहते हैं तो आपको इससे जुड़ी हर जानकारी होनी चाहिए ताकि जैसे ही इसके लक्षण दिखें आप तुरंत उसका इलाज करवा पाएं।

रजनीकांत (Source: Instagram)

जैसा कि हमें पता है कि बॉलीवुड के कई सेलेब्स हैं जिन्हें स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं हैं। उन्हीं में से एक तामील के सुपरस्टार रजनीकांत भी हैं। 13 मई 2011 को रजनीकांत चेन्नई के अस्तपाल में भर्ती हुए थे और जांच के बाद पता चला था कि उन्हें एलर्जीक ब्रोंकाइटिस की समस्या है। हालांकि इलाज करवाने के बाद उनकी हालत में सुधार आ गया था। ब्रोंकाइटिस एक आम समस्या है और समय रहते इसका इलाज कराने के लिए आपको इसके बारे में जरूरी चीजें पता होनी चाहिए।

ब्रोंकाइटिस क्या है?
ब्रोंकाइटिस सांस से जुड़ी एक समस्या है जिसमें फेफड़ों के मार्ग में मौजूद झिल्ली में सूजन आ जाती है। इस वजह से सांस लेने में समस्या होती है और कफ या खांसी के कारण झिल्ली सूख जाती है। ब्रोंकाइटिस की समस्या बैक्टीरियल या फिर वायरल इंफेक्शन के कारण भी होता है। ब्रोंकाइटिस दो प्रकार का होता है- तीव्र और दीर्घकालीक। क्रॉनिक ब्रोंकाइटिस एक ऐसी बीमारी है जिसका समय रहते इलाज करना बेहद जरूरी होता है।

ब्रोंकाइटिस के लक्षण:

  • तेज बुखार हो जाना
  • गले में खराश रहना
  • शरीर में दर्द या ऐंठन होना
  • अक्सर उल्टी या दस्त की समस्या रहना
  • थकावट महसूस करना
  • जुकाम के कारण नाक बंद हो जाना

ब्रोंकाइटिस का कारण:

  • धूल, मिट्टी या प्रदूषण की वजह से सांस लेने में परेशानी होने के कारण क्रॉनिक क्रॉनिक ब्रोंकाइटिस हो सकती है।
  • वायरल या बैक्टीरियल इंफेक्शन की वजह से।
  • अस्थमा या फिर अनुवांशिकता के कारण भी ब्रोंकाइटिस की समस्या होती है।

ब्रोंकाइटिस से बचाव:

  • प्रदूषण, धूल-मिट्टी या धूम्रपान के कारण होने वाले धुएं से दूर रहें।
  • अधिक से अधिक पानी पिएं क्योंकि इससे फेफड़ों में मौजूद बलगम पतली हो जाती है।
  • मसालेदार और तैलीय खानों का सेवन करने से बचें।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App