आपको सोनिया गांधी-मनमोहन सिंह का इंटरव्यू मिल जाता था, लेकिन मोदी ने नहीं दिया? सवाल पर ऐसा था राजदीप सरदेसाई का जवाब

राजदीप सरदेसाई से इंटरव्यू के दौरान पूछा गया था, ‘UPA में आपको सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह के इंटरव्यू मिल जाते थे, लेकिन मोदी ने नहीं दिया?’ इसके जवाब में उन्होंने कुछ ऐसा कहा था।

Rajdeep Sardesai, Manmohan Singh
मनमोहन सिंह के साथ राजदीप सरदेसाई (Photo- Rajdeep Sardesai/Twitter)

वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई और प्रधानमंत्री नरेंद्र के बीच कभी रिश्ते बहुत अच्छे हुआ करते थे, लेकिन समय के साथ रिश्ते खराब होते गए और एक समय ऐसा भी आया जब प्रधानमंत्री बनने के बाद राजदीप सरदेसाई को इंटरव्यू नहीं दिया। इस बात का खुलासा खुद राजदीप सरदेसाई ने एक इंटरव्यू के दौरान किया था कि पहले दोनों महीने में एक या दो बार साथ खाना खाया करते थे। लेकिन पीएम बनने के बाद उन्होंने मुझे मेरी सही जगह दिखा दी।

‘न्यूज़24’ के कार्यक्रम ‘मंथन’ में राजदीप सरदेसाई से संदीप चौधरी ने सवाल पूछा था, ‘अब ऐसा भी कहा जाता है कि प्रधानमंत्री मोदी आपको इंटरव्यू नहीं देते। अन्य लोगों को तो इंटरव्यू दे देते हैं। पुराने निज़ाम में आपको सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह के इंटरव्यू मिल जाया करते थे। मतलब अब आपको खामियाज़ा भुगतना पड़ रहा है।’ इसके जवाब में राजदीप कहते हैं, ‘ऐसा नहीं है 2004-14 के बीच सोनिया गांधी ने मुझे इंटरव्यू दिए। मोदी जी ने भी दिए और मनमोहन सिंह ने भी दिए।’

राजदीप सरदेसाई आगे कहते हैं, ‘सरकार बदलने के साथ लोगों का मन बदल जाता है। मुझे कोई दिक्कत नहीं है। मुझे एक बात अच्छी लगी। कुछ दिनों पहले मैंने एक विमोचन किया था, इस कार्यक्रम में मनमोहन सिंह सबसे आगे बैठे थे। उस कार्यक्रम में हमने मनमोहन सरकार की खूब आलोचना की। लेकिन उन्होंने एक बार नहीं कहा कि आप गलत कह रहे हैं। बाद में वो मेरे पास आए और कहा कि इसी तरह हमारी सरकार की आलोचना करते रहिए। आज की तारीख में ऐसे नेता बहुत कम हैं जो ऐसा कह पाएंगे।’

कैसे थे रिश्ते: राजदीप ने बताया था, ‘मैं नरेंद्र मोदी को 1990 से जानता हूं। जब रथ यात्रा शुरू हुई थी तो मैंने उसे कवर भी किया था। लेकिन 2002 के गुजरात दंगों की कवरेज के बाद चीजें खराब होती गईं। एक बार नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने तो इतनी ऊंचाई तक पहुंच गए, जहां से मैं एक छोटा सा पत्रकार दिखता हूं। अब जब कोई इतना बड़ा हो गया तो वो मेरे जैसे छोटे से पत्रकार को क्यों देखेगा। क्योंकि कोई भी नेता मंत्री बनता है तो वो खुद को अलग पायदान पर देखने लगता है। ऐसा मेरे साथ ही नहीं हुआ पहले भी होता आया है।’

सोनिया गांधी के विदेशी होने का मुद्दा उठाकर गलत किया? राजदीप ने एक इंटरव्यू में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी से पूछा था, ‘आपके मना करने के बाद भी पार्टी के नेता सोनिया गांधी के विदेशी होने को मुद्दा बना रहे हैं। क्या नरेंद्र मोदी ने भी ये मुद्दा उठाकर गलत किया?’ इसके जवाब में अटल जी ने कहा था, ‘यह खेदजनक है कि मना करने के बाद भी ऐसी बातें उठाई जा रही हैं। सोनिया गांधी के विदेशी होने का मुद्दा तो बन गया है। अब इसे विवाद का विषय बनाकर हल करना तो ठीक नहीं है।’

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट