क्या राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए देंगे वोट? प्रशांत किशोर से पूछा सवाल तो मिला था ये जवाब

प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के लिए साल 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में काम किया था। इन चुनावों में कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था। राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने पर प्रशांत किशोर ने दिया था ये जवाब-

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (फोटो- फेसबुक- @Prashantkishorr)

प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के लिए साल 2017 के पंजाब चुनाव की रणनीति बनाई थी। इन चुनावों में कांग्रेस के ऐतिहासिक जीत हासिल हुई थी, लेकिन उत्तर प्रदेश चुनाव में प्रशांत किशोर के साथ होने के बाद भी कांग्रेस ने हार का सामना किया था। प्रशांत किशोर कई मंचों पर ये स्वीकार भी कर चुके हैं कि कांग्रेस में उनकी बात नहीं मानी गई थी। इसके अलावा उन्होंने बताया था कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी से उनके अच्छे संबंध हैं।

‘ISB लीडरशिप समिट’ में प्रशांत किशोर से पूछा गया था, ‘क्या राहुल गांधी प्रधानमंत्री बन सकते हैं?’ प्रशांत किशोर कहते हैं, ‘मैं ये बात कहने वाला कौन होता हूं? इस देश में प्रधानमंत्री जनता चुनती है। इसलिए मेरे उम्मीद लगाने से कुछ नहीं होगा। अगर वो प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं तो उन्हें जनता के सामने ये साबित करना होगा। जब लोगों का विश्वास उनके ऊपर होगा तभी वो प्रधानमंत्री बन पाएंगे।’

प्रियंका को होना चाहिए कांग्रेस अध्यक्ष? प्रशांत किशोर कहते हैं, ‘देश में मतदान हमेशा गोपनीयता से होता है। इसलिए मैं तो ये नहीं बता सकता कि प्रधानमंत्री के रूप में किसे चुनता हूं या नहीं।’ शो के होस्ट प्रशांत किशोर से पूछते हैं, ‘प्रियंका गांधी राष्ट्रीय अध्यक्ष बन सकती हैं कांग्रेस की?’ प्रशांत किशोर कहते हैं, ‘अब ये तो कांग्रेस के नेताओं को देखना है कि वो किसे अपना नेता चुनना चाहते हैं। फिलहाल तो वो सक्रिय राजनीति से दूर ही हैं। 65-65 साल शासन करने के बाद उनके नेता देखेंगे कि किसे अब पार्टी की कमान सौंपनी चाहिए।’

कांग्रेस से क्यों अलग हुए थे प्रशांत किशोर: साल 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद प्रशांत किशोर अचानक कांग्रेस से अलग हो गए थे। इस बारे में जब उनसे पूछा गया था तो उन्होंने कहा था, ‘यूपी चुनाव में जोर-शोर प्रचार शुरू किया गया था। कांग्रेस को इसका काफी फायदा भी हुआ था। कांग्रेस के नेताओं ने सोचा कि समाजवादी पार्टी से हाथ मिलाकर इसे भुना लिया जाए। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। मैं इसके बिल्कुल पक्ष में नहीं था, लेकिन मेरी गलती इतनी है कि मैंने इसमें सहभागी नहीं होने के बाद भी खुद को इससे अलग नहीं किया।’

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट