scorecardresearch

गुस्से में प्रियंका को क्या कहकर बुलाती हैं मां सोनिया गांधी? कांग्रेस महासचिव ने खुद बताया

फेसबुक लाइव के जरिए समर्थकों से बातचीत करते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा ने निजी जिंदगी की बातों को भी शेयर किया है।

Priyanka Gandhi, Congress, UP election
प्रियंका गांधी(फोटो सोर्स: PTI/फाइल)।

उत्तर प्रदेश चुनाव में पार्टी की अगुवाई करती दिख रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाल ही में फेसबुक लाइव के जरिए अपने सर्मथकों से संवाद किया। इस दौरान प्रियंका गांधी ने अपनी निजी जिंदगी से जुड़ी तमाम बातें भी शेयर कीं। प्रियंका ने बताया कि कैसे पिता की हत्या के बाद वह घर में अकेली रहती थीं? बचपन में राहुल गांधी के साथ उनके कैसे रिश्ते थे? गुस्से में मां सोनिया गांधी उन्हें क्या कहकर बुलाती हैं?

बच्चों के साथ ही उनके दोस्तों का भी करवाया होमवर्क: पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में प्रियंका गांधी के ऊपर उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की वापसी की जिम्मेदारी है। अपने समर्थकों से संवाद करने के लिए प्रियंका ने फेसबुक लाइव का सहारा लिया। इस दौरान उन्होंने व्यक्तिगत जिंदगी से लेकर राजनीतिक विषयों पर अपनी बात रखी।

प्रियंका से पूछा गया कि क्या आपने कभी अपने बच्चों को होमवर्क करवाया है? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आज सुबह भी मेरी बेटी ने होम वर्क पूरा में मदद मांगी। सिर्फ अपने बच्चों का ही नहीं बल्कि उनके दोस्तों का भी होमवर्क करवाना पड़ता है। कई बार चुनाव में पूरा दिन व्यस्त रहने के बाद, जब घर पहुंचती हूं तो बच्चों और उनके दोस्तों का होमवर्क करवाती हूं।

गुस्से में किस नाम से बुलाती हैं मां?: एक यूजर ने जब सवाल पूछा कि गुस्से में आपको मां सोनिया गांधी जी क्या कहकर बुलाती हैं? जवाब में प्रियंका ने मुस्कुराते हुए कहा कि प्यार में वे ‘प्री’ कहती हैं और गुस्से में ‘प्रियंका’। प्रियंका से जब एक और यूजर ने सवाल पूछा कि क्या बचपन में वह राहुल गांधी के साथ लड़ाई करती थीं? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हमारी खूब लड़ाईयां होती थीं लेकिन हर बार राहुल गांधी ही जीतते थे।

बचपन में भाई राहुल से होती थी खूब लड़ाई: प्रियंका ने कहा कि “जब मैं 12 साल का थी, तब मेरी दादी (इंदिरा गांधी) की हत्या कर दी गई थी। हम उस समय साथ रहा करते थे। दादी की हत्या के बाद हम स्कूल नहीं जा सकते थे। 12 साल से 18 साल की उम्र तक हमने घर से ही पढ़ाई की और परीक्षा दी। इस दौरान हमारी अन्य बच्चों के साथ बातचीत बंद कर दी गई थी। इसलिए, राहुल और मैं अकेले ही रहते थे। मेरे पिता बहुत यात्राएं करते थे और मां भी उनके साथ जाती थीं। इस दौरान मेरी और राहुल गांधी की गहरी दोस्ती हो गई, लेकिन बहुत लड़ाई भी हुई।”  

प्रियंका ने सवाल का जवाब देते हुए कहा कि “जब भी कोई बाहरी व्यक्ति हमारे साथ लड़ने के लिए आता था, तो हम उनके खिलाफ अपनी टीम बना लेते थे। कभी-कभी तो हमें लड़ने से रोकने के लिए हमारे पिता (राजीव गांधी) को हस्तक्षेप भी करना पड़ता था”।

बता दें कि प्रियंका गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी और राहुल गांधी की बहन हैं। दादी इंदिरा गांधी और पिता राजीव गांधी की हत्या के बाद पूरे गांधी परिवार की सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी। इसी वक्त का जिक्र प्रियंका गांधी वाड्रा अपने फेसबुक लाइव में किया है।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट