ताज़ा खबर
 

35 साल से अधिक की उम्र की प्रेग्नेंट महिलाओं को इन बातों का जरूर रखना चाहिए ध्यान

35 की उम्र के बाद स्‍वस्‍थ भोजन ग्रहण करें। कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन आदि से भरपूर भोजन का सेवन करें। डॉक्‍टर से सलाह लें और प्रीनेटल विटामिन का सेवन करें।

प्रतीकात्मक चित्र

मां बनना हर महिला के जीवन का सबसे अहम पल होता है। लेकिन मां बनने से पहले कई तरह की सावधानियां बरतनी होती है और अपनी डाइट का ख्याल रखना होता है, क्योंकि इसका सीधा असर बच्चे के विकास से पर होता है। इसके अलावा जो महिलाएं 35 वर्ष से ज्यादा की उम्र में मां बनती हैं उन्हें भी कई बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। दरअसल, गर्भधारण करने के लिए 22 से 28 साल की उम्र सही मानी जाती है। क्योंकि इस उम्र में महिलाएं मां बनने के लिए शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से तैयार होती है। हालांकि अगर आप 35 साल की उम्र में मां बनती हैं तो आप अकेली नहीं हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में हर साल करीब 11 फीसदी महिलाएं 35 से ज्यादा उम्र की होताी हैं।

वहीं डॉक्टर के मुताबिक, जो महिलाएं 35 साल के बाद मां बनकी हैं उन्हें डिलीवरी के समय कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके अवावा महिलाओं के बच्चों का विकास भी ठीक तरह से नहीं हो पाता है। इतना ही नहीं, जो महिलाएं 35 वर्ष के बाद गर्भधारण करती है, उनमें गर्भपात का खतरा भी बढ़ जाता है। अधिक उम्र में मां बनने से ब्रेस्ट के टिश्यु खराब होने लगते हैं और आपके ब्रेस्ट में वसा का प्रतिशत बढ़ जाता है और इसके साथ ही प्रेग्नेंसी से संबंधित खतरे भी बढ़ जाते हैं।

इन बातों का ध्यान रखें प्रेग्नेंट महिलाएं

– मां बनने से पहले डॉक्‍टर से परामर्श लें, आवश्‍कता पड़ने पर अपनी काउंसलिंग करवाएं। ऐसे में सेशन में अपने पार्टनर को साथ ले जाना कतई न भूलें। हर प्रकार की सजेस्‍टेड जांच करवाएं।

– अगर आप दिन में कई बार कॉफी या चाय का सेवन करती हैं तो रोक लगा दें। इनमें कैफीन होती है जो शरीर के लिए एक मात्रा से अधिक पहुंचने पर हानि पहुंचाती है। गर्भपात का खतरा, कैफीन की मात्रा ज्‍यादा होने से होता है।

– 35 की उम्र के बाद स्‍वस्‍थ भोजन ग्रहण करें। कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन आदि से भरपूर भोजन का सेवन करें। इससे आपकी हड्डियां मजबूत होगी और शरीर में ताकत आएगी।

– डॉक्‍टर से सलाह लें और प्रीनेटल विटामिन का सेवन करें। इसकी शुरूआत शुरूआत चरण से ही कर दें, ताकि आपके शरीर में जिन पोषक तत्‍वों की कमी है, वो कमी आपके बच्‍चे के शरीर में न पहुंच पाएं।

– अगर आप मां बनने के बारे में पूरी तरह से दृढ़ हैं तो अपने डॉक्‍टर से स्‍पेशल स्‍क्रीनिंग टेस्‍ट करवाने को कहें, इससे वो आपके शरीर में और आपके पार्टनर के शरीर में स्‍पर्म काउंट को देख सकता है। अगर कमी होगी तो विट्रो फर्टिलाइजेशन करवाया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App