ताज़ा खबर
 

Pregnancy Symptoms: प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में आते हैं ये बदलाव, जानिये शुरुआती लक्षण

Pregnancy 1st Week Symptoms: गर्भ धारण करने के करीब 5-6 दिन बाद ही महिलाओं को ब्लीडिंग हो सकती है, हालांकि इसे महिलाएं पीरियड्स समझने की भूल कर देती हैं

pregnancy initial symptoms, pregnancy 1st week symptoms, pregnancy ke lakshanअगर पीरियड्स मिस करने के अलावा, आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स की अधिकता हो गई है, तो प्रेग्नेंसी टेस्ट जरूर कराएं

Pregnancy Initial Symptoms: प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को शारीरिक, भावनात्मक और मानसिक बदलावों से गुजरना पड़ता है। ऐसे में जानकारी की कमी और झिझक के कारण प्रेग्नेंट महिलाओं इन सब चीजों को किसी से साझा नहीं कर पाती हैं। महिलाओं के जीवन में गर्भावस्था का समय बेहद अनमोल होता है। पहली बार मां बनने वाली महिलाएं इस अनुभव को लेकर उत्सुक भी रहती हैं, साथ ही इस दौरान शरीर में आने वाले बदलावों को लेकर चिंता भी करती हैं। ऐसे में पीरियड मिस होने के बाद जो सबसे पहला ख्याल महिलाओं को आता है, वो प्रेग्नेंसी का ही होता है। वैसे तो मार्केट में कई प्रेग्नेंसी किट मौजूद हैं। पर इन शुरुआती लक्षणों से भी गर्भावस्था का संकेत मिलता है।

ज्यादातर मामलों में प्रेग्नेंसी के पहले सप्ताह में आने वाले बदलावों को महिलाएं जल्दी महसूस नहीं कर पाती हैं, या फिर उन्हें नजरअंदाज कर देती हैं। यही कारण है कि शुरुआती लक्षणों से गर्भावस्था का पता नहीं लग पाता है। कई शोध इस ओर भी इशारा करते हैं कि हर महिला गर्भावस्था के दौरान अलग-अलग दिक्कतें और चेंजेज महसूस कर सकती हैं। लेकिन अगर महिलाएं अपने शरीर के प्रति अधिक ध्यान दें तो उन्हें पहले सप्ताह से ही कुछ बदलाव दिखने शुरू हो जाएंगे।

स्तनों में आता है ये बदलाव: गर्भधारण करने के बाद शरीर में हार्मोनल चेंजेज होते हैं। इस कारण स्तन में खिंचाव या सूजन हो सकता है। इनका भारी होना, आकार में परिवर्तन या फिर ब्रेस्ट पेन भी प्रेग्नेंसी के शुरुआती लक्षणों में शामिल हैं।

त्वचा भी होती है प्रभावित: अगर पीरियड्स मिस करने के अलावा, आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स की अधिकता हो गई है, तो प्रेग्नेंसी टेस्ट जरूर कराएं। इसके अलावा, इस दौरान स्किन में कुछ धब्बे जैसे भी नजर आ सकते हैं। वहीं, मूड में अचानक बदलाव जिसे आम भाषा में मूड स्विंग्स कहते हैं, भी प्रेग्नेंसी का सिम्प्टम हो सकता है।

खाने की क्रेविंग: गर्भावस्था के दौरान फूड क्रेविंग बढ़ जाती है। कभी कुछ खास पकवान को खाने का मन हो सकता है। वहीं, मुंह में कड़वापन भी इसका एक लक्षण है। नियमित आहार में इजाफा तो किसी चीज को खाने से बोरियत भी हो सकती है।

इसके अलावा, सिर दर्द, थकान, बार-बार पेशाब लगना, पेट संबंधी परेशानियां भी गर्भावस्था के कारण हो सकती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bhabiji Ghar Par Hain: जबरदस्त कॉमिक टाइमिंग से दिल जीत लेते हैं सक्सेना जी, 50 लाख की नौकरी छोड़ एक्टिंग में आने का किया था फैसला
2 सफेद बालों को कम करने में कारगर है कलौंजी, जानिये कैसे करें इस्तेमाल
3 मास्क पहनने से चेहरे पर होने लगती है खुजली? तो मास्क उतारते वक्त इन स्किन केयर टिप्स को करें फॉलो
ये पढ़ा क्या?
X