ताज़ा खबर
 

जानिए प्रेग्नेंसी में कौन से फल का जूस पीना होता है सबसे ज्यादा फायदेमंद

प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर को ज्यादा मात्रा में पोषक तत्वों की जरूरत होती है। मां और बच्चे दोनों की अच्छी सेहत के लिए डॉक्टर्स फायदेमंद फूड्स के सेवन की सलाह देते हैं।

सेब का जूस

प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर को ज्यादा मात्रा में पोषक तत्वों की जरूरत होती है। मां और बच्चे दोनों की अच्छी सेहत के लिए डॉक्टर्स फायदेमंद फूड्स के सेवन की सलाह देते हैं। ताजे मौसमी फल, पौष्टिक फूड्स के अलावा फलों के जूस का सेवन भी प्रेग्नेंसी में मां-बच्चे की सेहत के लिए बेहतर विकल्प होता है। आज हम आपको चार ऐसे पौष्टिक फलों के जूस के बारे में बताने वाले हैं जो हैरतअंगेज फायदों से भरपूर होते हैं। प्रेग्नेंसी में हर महिला को ये जूस जरूर पीना चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि वे जूस कौन-कौन से हैं और उन्हें बनाने की विधि क्या है।

अमरूद का जूस – अमरुद एक ऐसा फल है जो प्रेग्नेंसी के दौरान कब्ज की समस्या होने से रोकता है। इसे बनाने के लिए दो अमरुद, एक चम्मच चीनी, नींबू का रस और थोड़ा सा अदरक का जूस लें। अमरुद को पानी में उबालकर इसे ठंडा कर लें। अब इसमें अदरक और नींबू का रस मिलाकर पीस लें। पीसने के बाद इसमें बर्फ मिलाकर ठंडा-ठंडा पिएं।

चुंकदर का जूस – चुकंदर आयरन से भरपूर होता है। यह प्रेग्नेंसी के दौरान मां और बच्चे दोनों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। चुकंदर में फाइबर, फोलेट और विटामिन सी होता है। यह रक्त प्रवाह दुरुस्त रखने में मदद करता है। चुकंदर का जूस बनाने के लिए दो चुकंदर, चार गाजर और एक सेब लेकर इन्हें अच्छी तरह से काटकर ब्लैंड कर लें। इससे एक गिलास जूस बन जाएगा। अब इसमें थोड़ी सी बर्फ मिलाकर ठंडा-ठंडा पिएं। इस जूस का सेवन हफ्ते में 3 बार करें।

केले का जूस – प्रेग्नेंसी के दौरान केले, दही और शहद का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। इसका स्वाद तो अच्छा होता ही है, साथ ही यह बच्चे और मां दोनों के लिए बेहद फायदेमंद भी होता है। इसे बनाने के लिए आधा कप दूध, एक केला और एक चम्मच शहद लें। अब इन तीनों को मिलाकर ब्लैंड कर लें और ठंडा करके पिएं।

सेब का जूस – तरोताजा महसूस करने के लिए प्रेग्नेंसी में सेब का जूस पीना चाहिए। इसे बनाने के लिए दो-तीन सेब को छीलकर उबाल लें उसके बाद इसे ठंडा होने दें। अब इसे ब्लैंडर की मदद से पीस लें। अब एक गिलास में ये डाले और उसमें नींबू का रस डालें। उसके बाद इसे एक घंटे तक ठंडा होने के लिए रख दें। उसके बाद इसे पिएं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App