ताज़ा खबर
 

प्रेग्नेंसी में स्मोकिंग बच्चे को दे सकता है मानसिक बीमारी, लीवर खराब होने का भी होता है खतरा

तकरीबन 700 केमिकल्स के कॉकटेल वाला सिगरेट बच्चे के शरीर में लीवर के विकास के लिए बेहद नुकसान है।
सिगरेट में मौजूद निकोटिन शिशु के दिमाग के लिए हानिकारक होता है।

वैसे तो स्मोकिंग करना हर किसी के लिए नुकसानदेह होता है लेकिन अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो आपके लिए सिगरेट पीना ज्यादा महंगा पड़ सकता है। हाल ही में एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि गर्भावस्था में सिगरेट पीना बच्चे के अंगों खासकर लीवर पर बुरा असर डालता है। यूनीवर्सिटी ऑफ एडिनबर्ग के शोधकर्ताओं ने बताया कि तकरीबन 700 केमिकल्स के कॉकटेल वाला सिगरेट बच्चे के शरीर में लीवर के विकास के लिए बेहद नुकसान है। लीवर मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त रखने में अहम रोल निभाता है, साथ ही साथ शरीर से विषैले पदार्थों के उत्सर्जन में भी काम आता है।

इसके अलावा एक अन्य शोध में प्रेग्नेंसी के दौरान सिगरेट पीने के और भी नुकसान गिनाए गए हैं। हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में हुए एक शोध में यह दावा किया गया है कि प्रेग्नेंसी में स्मोकिंग से बच्चे का आकार छोटा होने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। गर्भावस्था में स्मोकिंग करने से नसों में रक्त परिसंचरण में दिक्कत आने लगती है। जिसकी वजह से लंग्स और हर्ट में खून नहीं पहुंच पाता। ऐसे में बच्चे का शारीरिक विकास ठीक ढंग से नहीं हो पाता है। इस स्थिति में प्रीमैच्योर डिलीवरी की भी संभावना काफी बढ़ जाती है।

सिर्फ इतना ही नहीं, गर्भावस्था में सिगरेट पीने के और भी कई तरह के नुकसान होते हैं। स्मोकिंग की वजह से बच्चे को सांस लेने में काफी तकलीफ होती है। उसके मानसिक विकास पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है। ऐसे में बच्चे के मानसिक तौर पर बीमार होने का खतरा रहता है। ऐसा माना जाता है कि सिगरेट में मौजूद निकोटिन शिशु के दिमाग के लिए हानिकारक होता है। कहा यह भी जाता है कि सिगरेट की वजह से मां के शरीर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाता, जिसकी वजह से बच्चे का दिमाग पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.