ताज़ा खबर
 

सानिया मिर्जा ने प्रेग्नेंसी के बाद सिर्फ 4 महीने में घटा लिया 22किलो वजन, जानिए कैसे

Sania Mirza Weight loss during Pregnancy: सानिया मिर्जा की तरह यदि आप भी प्रेग्नेंसी के बाद अपना वजन कम करना चाहती हैं तो उनके बताए टिप्स का नियमित रूप से पालन करें। इन चीजों को फॉलो करने से फैट भी बर्न होता है।

Author Published on: March 14, 2019 12:14 PM
सानिया मिर्जा (Sania Mirza/@mirzasaniar)

Sania Mirza Weight loss during Pregnancy: हर महिला के लिए प्रेग्नेंसी बहुत खास पल होता है और वह इन पलों को खुलकर जीना भी चाहती हैं। लेकिन साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई प्रकार के हार्मोनल बदलाव आते हैं जिसके कारण कई समस्याएं होने लगती है जैसे- वजन बढ़ना, बालों का झड़ना, मिचली, पैरों में दर्द इत्यादि। सानिया मिर्जा ने भी प्रेग्नेंसी के दौरान काफी वजन गेन कर लिया था, लेकिन क्या आप लोगों कि इस बात की जानकारी है कि उन्होंने 4 महीने में 22 किलो वजन कम किया है। यदि आपने भी प्रेग्नेंसी के दौरान वजन गेन कर लिया है तो सानिया मिर्जा के बताए गए टिप्स का पालन करें और देखें अपने फैट को बर्न होते हुए। सानिया मिर्जा ने अपनी एक इंटरव्यू में बताया कि किस प्रकार उन्होंने अपने वजन को कम किया है।

किक-बॉक्सिंग:
सानिया मिर्जा ने बताया कि वह किक-बॉक्सिंग का अभ्यास करती हैं। कार्डियो किकबॉक्सिंग एक नॉनकांटेक्ट वर्कआउट है। इसमें किये जाने वाले सभी पंच और किक्स को हवा में या पैड्स पर किया जाता है। यह एक हाई एनर्जी वर्कआउट है। इसको करने के दौरान करीबन एक घंटे में 350 से 450 कैलोरी बर्न किया जा सकता है।

पिलेट्स:
सानिया मिर्जा ने बताया कि वह पिलेट्स का अभ्यास भी करती थीं। पिलेट्स की मदद से आप बहुत जल्दी अपने शरीर की अतिरिक्त चर्बी को घटाकर पतले हो सकते हैं। पिलेट्स मुख्यतः आपके कूल्हें, निचली कमर और पेट की मसल्स को मजबूती देने के लिए किया जाता है।

एब्स वर्कआउट:
वजन कम करने के लिए सानिया मिर्जा में कई एब्स वर्कआउट भी किए। एब्स वर्कआउट कोर मसल्स की मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करता है और फैट को भी आसानी से कम करने में मदद करता है। एब्स वर्कआउट करने से शरीर का वजन भी कम होता है।

हेल्दी डाइट:
सानिया मिर्जा ने बताया है कि उन्होंने वजन कम करने के लिए एक्सरसाइज के साथ-साथ स्ट्रिक्ट डाइट को भी फॉलो करती थीं। वो सिर्फ उन चीजों का सेवन करती थीं जिनमें कैलोरी और फैट की मात्रा कम हो। साथ ही उन फूड्स का भी सेवन करती थीं जिनमें उच्च मात्रा में प्रोटीन और फाइबर मौजूद हों।

(और Lifestyle News पढ़ें)

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 चीनी की मदद से घर पर भी कर सकते हैं प्रेग्नेंसी टेस्ट, जानें कैसे
2 प्रेग्नेंट महिलाएं डाइट में शामिल कर लें ये कैल्शियन रिच फूड्स, होगा फायदा
3 प्रेग्नेंसी में टमाटर खाएं या नहीं? जानिए क्या कहते हैं डॉक्टर्स