ताज़ा खबर
 

स्वस्थ्य शिशु को जन्म देने के लिए गर्भधारण से जुड़ी इन बातों का रखें ध्यान

Pregnancy Tips in Hindi: किसी महिला के लिए गर्भधारण के लिए सही समय पर संबंध बनाना बहुत जरूरी है। साथ ही कई दूसरी अहम बातों को भी ध्यान में रखना जरूरी है। जैसे ओव्यूलेशन की सही जानकारी।

Author नई दिल्ली | November 24, 2016 10:31 AM
Pregnancy Tips in Hindi: इस तस्वीर को इस्तेमाल खबर की प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है। (Source: Agency)

Pregnancy Tips in Hindi: किसी भी महिला के लिए मां बनना जीवन के सबसे खूबसूरत अनुभव में से एक होता है। भारतीय परिवारों में किसी महिला के गर्भवती होने की खबर से न केवल वह महिला बल्कि उससे जुड़े बाकी सभी लोग, जैसे पति, सास-ससुर और महिला के माता-पिता खुशी से रोमांवचत हो उठते हैं। एक बच्चे के इस संसार में आने की खुशी से पूरे घर का माहौल हमेशा के लिए बदल जाता है। हालांकि, गर्भवती होना और एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देना इतना आसान नहीं बल्कि बहुत ही मुश्किल बात है। इस दौरान गर्भवति महिला के देखरेख की बहुत अधिक आवश्यकता होती है। हम आपको बता रहे हैं गर्भवती होने और एक स्वस्थ्य शिशु को जन्म देने के लिए कुछ टिप्स…

किसी महिला के लिए गर्भधारण के लिए सही समय पर संबंध बनाना बहुत जरूरी है। साथ ही कई दूसरी अहम बातों को भी ध्यान में रखना जरूरी है। जैसे ओव्यूलेशन की सही जानकारी। यह पीरियड्स से जुड़ा होता है। इस दौरान संबंध बनाने से गर्भधारण करने की संभावना सबसे अधिक होती है। पीरियड्स के सात दिन बाद ओव्यूलेशन साइकिल शुरू होती है और पीरियड्स के सात दिन पहले तक रहती है। इस समय को फर्टाइल स्टेज भी कहा जाता है।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Note 64 GB Venom Black
    ₹ 10892 MRP ₹ 15999 -32%
    ₹1634 Cashback
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback

सही उम्र में कर लें फैमिली प्लानिंग: पहले लोगों की शादियां 20 से 25 साल की उम्र के अंदर हो जाया करती थीं लेकिन, अब समय बदल चुका है। अब शादियां अधिक उम्र में होती हैं और उसके बाद पति-पत्नी फैमिली प्लानिंग करने में भी कम से कम दो साल का वक्त लेते हैं। मेडिकल साइंस की माने तो गर्भधारण करने के लिए 22 से 28 की उम्र सबसे उपयुक्त होती है। इसका प्रमुख कारण यह है कि इस उम्र में महिला शारीरिक और मानसिक दोनों तौर पर तैयार होती है।

ऑर्गज्म का ख्याल रखना भी है जरूरी: गर्भवती होने के लिए ऑर्गज्म भी बहुत जरूरी कारक है। संबंध बनाने के दौरान अगर महिला ऑर्गज्म को प्राप्त कर लेती है तो गर्भधारण की संभावना बहुत बढ़ जाती है। इसके अलावा अगर आप गर्भवती होना चाह रही हैं तो सबसे पहले अपनी पूरी जांच कराएं। खासतौर पर पॉलिसिस्टिक ओवेरियन सिस्ट को लेकर चेकअप कराएं।

वीडियो: गर्भधारण के दौरान इन नौ बातों का रखें ध्यान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App