ताज़ा खबर
 

Pregnancy Test: नमक की मदद से घर बैठे करें प्रेग्नेंसी टेस्ट, जानिए कैसे

Pregnancy Test: नमक के द्वारा की जाने वाली प्रेग्नेंसी टेस्ट हानिकारक नहीं होती है और ना ही इसके कोई दुष्प्रभाव होते हैं। लेकिन अगर इस टेस्ट को सही तरीके से नहीं की जाएगी तो ये परिणाम गलत हो सकता है। नमक की मदद से कैसे करें घर पर प्रेग्नेंसी टेस्ट की जा सकती है।

नमक की मदद से घर बैठे प्रेग्नेंसी टेस्ट करें

बाजार में आज बहुत सी प्रेग्नेंसी किट मौजूद हैं। लेकिन ऐसा जरूरी नहीं कि आप इन्हीं के इस्तेमाल से अपनी प्रेग्नेंसी का पता करें। आप घर में मौजूद नमक के इस्तेमाल से भी प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं। नमक के द्वारा की जाने वाली प्रेग्नेंसी टेस्ट हानिकारक नहीं होती है और ना ही इसके कोई दुष्प्रभाव होते हैं। लेकिन अगर इस टेस्ट को सही तरीके से नहीं की जाएगी तो ये परिणाम गलत हो सकता है। तो इसके इस्तेमाल करने से पहले कुछ सावधानियां बरतें। आइए जानते हैं नमक की मदद से कैसे करें घर पर प्रेग्नेंसी टेस्ट की जा सकती है।

घर पर कैसे करें नमक की मदद से प्रेग्नेंसी टेस्ट:

– सबसे पहले सुबह उठते ही पहली पेशाब को एक कंटेनर में रख लें।
– इसके बाद इसमें तीन चौथाई नमक मिलाएं।
– नमक मिलाने के बाद यूरिन के साथ उसके रिएक्शन को देखें।
– यदि आप प्रेग्नेंट होंगी तो यूरिन में मौजूद एचसीजी हार्मोन नमक के साथ रिएक्शन होने के बाद झाग बनाएगा।
– यदि आप प्रेग्नेंट नहीं होंगी तो नमक के साथ यूरिन के रिएक्शन होने पर कोई झाग नहीं बनेगा।

नमक से प्रेग्नेंसी टेस्ट करना कितना सटीक होता है: नमक से प्रेग्नेंसी टेस्ट करना ना सिर्फ किफायती है, बल्कि बेहतर परिणाम भी देता है। हालांकि आमतौर पर कपल्स बाजार में मिलने वाले प्रेग्नेंसी किट पर ही भरोसा करते हैं, लेकिन जानकारी के लिए आपको बता दें कि वह भी सटीक रिजल्ट नहीं देता है।

नमक के इस्तेमाल से घर पर प्रेग्नेंसी टेस्ट कब करना अच्छा होता है: नमक के इस्तेमाल से घर पर ही प्रेग्नेंसी टेस्ट करने का सबसे अच्छा समय सुबह ही होता है। उठने के बाद की जो सबसे पहली यूरिन होती है उससे प्रेग्नेंसी टेस्ट करना सबसे प्रभावी होता है क्योंकि सुबह के समय वाला यूरिन डाइल्यूटेड नहीं होता है तो इसलिए उसका परिणाम ज्यादातर सही होता है।

प्रेग्नेंसी टेस्ट के बारे में कुछ जरूरी बातें: प्रेग्नेंसी की घरेलू जांच महिला के यूरिन में गर्भावस्था के हार्मोन यानि एचसीजी की उपस्थिति की जांच करने के लिए किया जाता है। एक महिला के यूरिन में मौजूद एचसीजी की मात्रा निर्धारित करती है कि वह गर्भवती है या नहीं। जब कोई महिला प्रेग्नेंट होती हैं तो इस हार्मोन को सबसे ज्यादा रिलीज करती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 Chaitra Navratri 2020 Fasting Tips: प्रेग्नेंट महिलाएं व्रत के दौरान हर 2 घंटे पर कुछ खाएं, जानिए और किन बातों का रखें ध्यान
2 Pregnancy के दौरान अपनी डाइट में जरूर शामिल करें ये 6 फूड्स, मां और बच्चे के लिए है जरूरी
3 क्या आप जानते हैं प्रेग्नेंसी में कितना केसर खाना है फायदेमंद? जानिए इससे जुड़ी अन्य जानकारी