ताज़ा खबर
 

Kajol से जानिए प्रेग्नेंसी के बाद बादाम का सेवन कैसे करता है वजन कम

Kajol Post-Pregnancy weight loss tips: प्रेग्नेंसी के बाद काजोल ने बादाम का सेवन कर अपने वजन को कम किया था। आप भी बादाम का सेवन कर सकती हैं। वजन कम करने के साथ स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है।

काजोल (Source: Kajol Devgan/@kajol)

Kajol Post-Pregnancy weight loss tips: प्रेग्नेंसी के दौरान खुद का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है क्योंकि इस दौरान मां के साथ-साथ बच्चे का ध्यान भी रखना पड़ता है। कई महिलाओं का प्रेग्रेंसी के बाद वजन जरूरत से ज्यादा बढ़ जाता है और इस वजह से कई समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है। हर मां की तरह काजोल ने भी प्रेग्नेंसी के बाद वेट गेन कर लिया था, लेकिन अपने डाइट का ध्यान रखते हुए उन्होंने बेहतरीन तरीके से प्रेग्नेंसी के बाद अपनी वजन कम किया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रेग्नेंसी के बाद काजोल ने बादाम का सेवन कर के अपने वजन को कम किया था। आइए जानते हैं किस प्रकार बादाम का सेवन प्रेग्नेंसी के बाद वजन कम करने में मदद करता है।

बादाम डाइट:
प्रेग्नेंसी के बाद वजन कम करने के लिए काजोल बादाम का सेवन करती थीं। बादाम में वो सारे पौष्टिक तत्व होते हैं जो ना सिर्फ प्रेग्नेंसी के बाद वजन कम करता है बल्कि कई स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है। बादाम में विटामिन, फाइबर, मिनरल्स, एंटीऑक्सीडेंट और प्रोटीन होता है। यही कारण है कि प्रेग्नेंसी के बाद काजोल में अपने डाइट में बादाम को शामिल किया था।

प्रेग्नेंसी के बाद बादाम का सेवन कैसे वजन कम करता है:

1. मेटाबॉलिज्म बढ़ाता है
2. फाइबर उच्च मात्रा में होता है जो अनहेल्दी खाने की क्रेविंग को कम करता है
3. बादाम में हेल्दी फैट्स होता है
4. कैलोरी की मात्रा कम होती है जिससे फैट एकत्रित नहीं होता है


बादाम खाने के तरीके:
बादाम को भिगोकर या कच्चा भी खाया जा सकता है। भिगोया हुआ बादाम कमजोर पाचन वाली महिलाओं के लिए बेहतर है। बादाम दूध का भी सेवन कर सकती हैं। बादाम को आप सलाद या दही में मिलाकर भी खा सकते हैं।

बादाम के स्वास्थ्य लाभ:
बादाम विटामिन ई, ओमेगा 3 फैटी एसिड, प्रोटीन और फाइबर का अच्छा है। 4-5 बादाम का सेवन खाली पेट गर्म पानी के साथ करने से वजन बनाए रखने में मदद मिलती है और यह हृदय रोग के जोखिम को भी कम करता है। वे आयरन में भी समृद्ध है जो कोलेस्ट्रॉल कम करता है, पेट के कैंसर की संभावना को कम करता है और मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है।

(और Lifestyle News पढ़ें)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जेनिटल टीबी से महिलाओं को मां बनने में परेशानी, जानिए इसके लक्षण
2 प्रेग्नेंसी में कब्ज सहित दूसरी समस्याओं को दूर कर सकते हैं ये आसान उपाय
3 ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाएं कर सकती हैं इन फूड्स का सेवन
ये पढ़ा क्या?
X