ताज़ा खबर
 

प्रेग्नेंट महिलाओं को होती है हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत, इन आसान तरीकों से कर सकती हैं कंट्रोल

How to control high BP in pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान हाई ब्लड प्रेशर के कारण मां के साथ-साथ बच्चे को भी कई बीमारी या समय से पहले जन्म होने का खतरा रहता है। इन परेशानियों से बचने के लिए ब्लड प्रेशर का कंट्रोल होना बेहद जरुरी होता है।

Author Published on: March 14, 2019 1:16 PM
प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए हाई ब्लड प्रेशर के लिए क्या करें (Source: Dreamstime)

How to control high BP in pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत सी महिलाएं हाई ब्लड प्रेशर से ग्रसित होती हैं। इस दौरान ब्लड प्रेशर ज्यादा होने से किडनी और हृदय पर तनाव पड़ता है जिसकी वजह से हृदय, किडनी जैसे कई रोग होने का खतरा रहता है। इसके साथ ही इसकी वजह से बच्चे का विकास बाधित हो सकता है। समय से पहले बच्चे का जन्म या सिजेरियन डिलिवरी होने की संभावनाओं को भी बढ़ता है। बच्चे और मां दोनों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए मां का ब्लड प्रेशर सामान्य होना चाहिए। तो आइए आपको बताते हैं किस तरह से उच्च रक्तचाप को कम किया जा सकता है।

अपने नमक के सेवन पर ध्यान दें:
हमेशा ध्यान रखें हमारे शरीर को काम करने के लिए थोड़ी मात्रा में सोडियम की आवश्यकता होती है। लेकिन नमक का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से ब्लड प्रेशर बढ़ने का खतरा हो जाता है। प्रेग्नेंसी के दौरान ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने के लिए नमक का कम सेवन करें। इसके साथ ही अपने भोजन में स्वाद के लिए मसाले और हर्ब का इस्तेमाल करें।

टहलना शुरु करें:
प्रेग्नेंसी के दौरान जो महिलाएं सक्रिय नहीं रहती हैं उन्हें उच्च रक्तचाप होने का खतरा ज्यादा होता है। टहलना प्रेग्नेंट महिला के लिए सबसे अच्छी कार्डियोवॉस्कुलर एक्सरसाइज है। ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए प्रेग्नेंसी के 30-45 मिनट टहलना अच्छा होता है।

गहरी सांस लेने की एक्सरसाइज करें:
गहरी सांस लेने की तकनीक आपके स्ट्रेस को कम करके ब्लड प्रेशर को सामान्य रखने में मदद करती है। हमेशा सांस लेते समय गहरी सांस लेने से आपके शरीर की हर कोशिका में रक्त पहुंचता है और ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।

योग करें:
प्रेग्नेंसी के दौरान योग करना बहुत ही फायदेमंद होता है। इससे आपका स्ट्रेस कंट्रोल रहता है। तनाव के कारण भी आपका ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान तनाव होने से बच्चे का समय से पहले जन्म होने का खतरा रहता है।

(और Lifestyle News पढ़ें)

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सानिया मिर्जा ने प्रेग्नेंसी के बाद सिर्फ 4 महीने में घटा लिया 22किलो वजन, जानिए कैसे
2 चीनी की मदद से घर पर भी कर सकते हैं प्रेग्नेंसी टेस्ट, जानें कैसे
3 प्रेग्नेंट महिलाएं डाइट में शामिल कर लें ये कैल्शियन रिच फूड्स, होगा फायदा