ताज़ा खबर
 

क्या आप जानते हैं प्रेग्नेंसी में कितना केसर खाना है फायदेमंद? जानिए इससे जुड़ी अन्य जानकारी

प्रेग्नेंसी के दौरान कई महिलाएं केसर खाती हैं। लेकिन क्या आपको पता है प्रेग्नेंसी के दौरान कितना केसर खाना चाहिए? अधिक केसर खाना बच्चे के स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

pregnancy, kesar during pregnancy, pregnancy in hindi, pregnancy stages, pregnancy test, pregnancy symptoms, pregnancy diet, pregnancy diet chart, pregnancy diet plan, pregnancy diet chart in hindi, pregnancy diet chart in hindi, pregnancy me diet chart in hindiप्रेग्नेंसी में कितना केसर खाना चाहिए

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अपनी सेहत का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। कोई भी लापरवाही उनके गर्भ में पल रहे बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ सकती है। प्रेग्नेंसी के दौरान सबसे जरूरी होता है अपनी खान-पान का ध्यान रखना। प्रेग्नेंसी के दौरान आपको हेल्दी चीजें ही खानी चाहिए ताकि बच्चे का मानसिक और शारीरिक विकास बेहतर हो। प्रेग्नेंसी के दौरान कई महिलाएं केसर खाती हैं। लेकिन क्या आपको पता है प्रेग्नेंसी के दौरान कितना केसर खाना चाहिए? आइए जानते हैं-

प्रेग्नेंसी के दौरान कितना केसर खाएं: बाजार में मिलने वाले केसर में मिलावट होती है। ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान केसर लेते वक्त आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए। सही केसर की पहचान आनी चाहिए। इसके अलावा अधिक मात्रा में केसर लेने से गर्भ में पल रहे बच्चे का स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। इसलिए केसर के सिर्फ 2 से 3 तार का ही सेवन करें।

प्रेग्नेंसी के दौरान केसर के फायदे:

बीपी कंट्रोल करता है: केसर में पोटेशियम और क्रोसेटिन होता है जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसके अलावा ब्लड प्रेशर के कारण होने वाली समस्या को भी कम करता है।

मॉर्निंग सिकनेस की समस्या दूर करता है: प्रेग्नेंसी के दौरान कई महिलाओं को मॉर्निंग सिकनेस की समस्या होती है। ऐसे में केसर उनके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान केसर वाली चाय मिचली और उल्टी की समस्या को भी कम करता है।

पाचन बेहतर करता है: केसर शरीर में ब्लड फ्लो को बेहतर करता है, साथ ही पाचन तंत्र को भी मजबूत करता है। ऐसे में खाना पचाना आसान हो जाता है। इसके अलावा केसर एसिडिटी और अपच की समस्या को भी कम करने में मदद करता है।

दर्द और ऐंठन कम करता है: केसर एक नेचुरल पेनकिलर की तरह काम करता है। इस वजह से प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले दर्द और ऐंठन से राहत मिलती है। साथ ही केसर मांसपेशियों में होने वाले दर्द से भी आराम दिलाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Pregnancy के दौरान अजवाइन पेट की समस्याओं से दिला सकती है निजात, जानिए कैसे करें डाइट में शामिल
2 ब्रेस्ट फीडिंग वाली महिलाएं इन बातों का जरूर रखें ध्यान, नहीं होगी कोई समस्या
3 ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान महिलाएं रखें अपने खाने का खास ध्यान, इन फूड्स को करें डाइट में शामिल
यह पढ़ा क्या?
X