ताज़ा खबर
 

हार्मोन्स में बदलाव की वजह से प्रेग्नेंसी में ज्यादा झड़ते हैं बाल, ये टिप्स आ सकते हैं काम

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं का शरीर कई तरह के शारीरिक और हार्मोनल बदलावों से होकर गुजरता है। इससे उनके शरीर का हर हिस्सा प्रभावित होता है।

गर्भावस्था के दौरान बालों के झड़ने की समस्या आम है।

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं का शरीर कई तरह के शारीरिक और हार्मोनल बदलावों से होकर गुजरता है। इससे उनके शरीर का हर हिस्सा प्रभावित होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान हर महिला अलग-अलग तरह के अनुभवों और दिक्कतों से गुजरती है। कुछ महिलाएं इस दौरान मुहांसों और त्वचा की रंगत बदलने संबंधी स्किन समस्याओं का शिकार होती हैं तो कुछ बालों के झड़ने की समस्या से परेशान होती हैं। गर्भावस्था के दौरान बालों के झड़ने की समस्या आम है। प्रेग्नेंसी के बाद बाल झड़ने की समस्‍या को प्रसवोत्तर बाल झड़ना कहते हैं। ऐसा माना जाता है कि डिलीवरी के बाद करीब 5 से 6 महीने बाद तक महिलाओं के बाल झड़ सकते हैं। क्‍योंकि इस दौरान शरीर में हार्मोन का लेवल बहुत तेजी के साथ गिर जाता है। प्रेग्नेंसी के दौरान बाल झड़ने की समस्या से निजात पाना है तो ये टिप्स आजमाए जा सकते हैं।

गीले बालों में कंघी न करें – बाल धोने के बाद उनके सूखने का इंतजार करें। गीले बालों में कभी भी कंघी न करें। इसके अलावा बालों को अधिक टाइट नहीं बांधना चाहिए, क्योंकि इससे भी बालों के झड़ने की समस्या होती है।

बालों में कंडीशनर – प्रेग्नेंसी के बाद बालों में शैम्पू के अलावा कंडीशनर का इस्तेमाल भी करना चाहिए। कंडीशनर बालों को झड़ने से रोकने में मददगार साबित होगा। हालांकि, कंडीशनर बालों के नेचर के हिसाब से होना जरूरी है। ऑयली, ड्राय या फिर नॉर्मल बालों के आधार पर अपना कंडीशनर चुनें। रूखे बालों में शाइनिंग के लिए ऐसा कंडीशनर लें, जिसमें सिलिकॉन मिला हो। कंडीशनर से बाल लंबे समय तक टिके रहते हैं और शाइनिंग आती है।

तनाव से भी बाल झड़ते हैं – प्रेग्नेंसी के दौरान स्‍ट्रेस से हेयर फॉल की समस्या अधिक होती है, क्योंकि तब शरीर में बहुत से हॉर्मोन असंतुलित हो जाते हैं। इसके साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान हो रहे बदलाव को लेकर आपको परेशान भी नहीं होना चाहिए। खुद को रिलैक्‍स करने के लिये लंबे समय तक के लिये नहाएं, कमरे में सुगन्‍धित मोमबत्‍तियां जलाएं, प्‍यारा-सा म्‍यूजिक बजाएं, योग या मेडिटेशन करें।

सिर की मालिश करें – मालिश करने से आपको न केवल मानसिक रूप से राहत और आराम महसूस होगा, बल्कि इससे आपके बालों को भी पोषण मिलेगा। मालिश करने के बाद अच्छे से अपने बालों में कंघी कर लें। हफ्ते में दो से तीन बार ऐसा जरूर करें। इससे प्रेग्नेंसी में हेयर फॉल की समस्या से बचने में मदद मिलेगी।

डॉक्टर की सलाह – अगर प्रेग्नेंसी के बाद बाल अधिक झड़ रहे हैं और घरेलू उपाय भी नाकाम साबित हो रहे हैं तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें। बिना डॉक्टरी परामर्श के कुछ भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि हो सकता है कि इसका शिशु पर कोई गलत प्रभाव पड़े।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App