ताज़ा खबर
 

ब्रेस्ट फीडिंग का सही तरीका जानती हैं आप? पढ़ें- एक्सपर्ट्स ने क्या बताया

सुचेता पाल ने बताया कि एक बच्चे को लगभग 6 महीने तक ब्रेस्ट फीडिंग करानी चाहिए। आमतौर पर इस बात की जानकारी हर प्रेग्नेंट महिला को होती है। लेकिन फिर भी लोग अपना सुझाव देने से पीछे नहीं हटते हैं।

सुचेता पाल (Source: Instagram)

मां बनना हर महिला के लिए सबसे खूबसूरत अनुभव होता है। खासतौर पर तब जब वह पहली बार मां बनने वाली होती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान या बाद में महिलाओं को अपना खास ध्यान रखने की जरूरत होती है क्योंकि उनसे उनके बच्चे का स्वास्थ्य जुड़ा हुआ होता है। जु़म्बा डांस एक्सपर्ट सुचेता पाल अपने इंस्टाग्राम अकाउंट के जरिए प्रेग्नेंसी और ब्रेस्ट फीडिंग को लेकर कुछ बातें शेयर की हैं। उन्होंने कहा है कि प्रेग्नेंसी के दौरान लोग महिलाओं को कई अलग-अलग तरीके के सुझाव देते हैं। उन्होंने ब्रेस्ट फीडिंग को लेकर कई बातें शेयर भी की हैं। आइए जानते हैं-

सुचेता पाल ने बताया कि एक बच्चे को लगभग 6 महीने तक ब्रेस्ट फीडिंग करानी चाहिए। आमतौर पर इस बात की जानकारी हर प्रेग्नेंट महिला को होती है। लेकिन फिर भी लोग अपना सुझाव देने से पीछे नहीं हटते हैं। इतना ही नहीं कई लोग तो यह भी बोलते हैं कि ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान साफ-सफाई का खास ध्यान रखना चाहिए। इन बातों पर कोट करते हुए सुचेता ने बोला, ‘क्या लोग इन बातों को बोलने से पहले ये नहीं सोचते हैं कि हमने भी इंटरनेट के जरिए इन चीजों की जानकारी ले रखी होती है।’

ब्रेस्ट फीडिंग के बारे में सुचेता पाल ने और भी कई बातें बताईं-

– कई महिलाओं के लिए ब्रेस्ट फीडिंग कराना काफी मुश्किल होता है। इस दौरान महिलाएं मानसिक और शारीरिक रुप से काफी ज्यादा अस्थिर रहती हैं। सुचेता ने कहा कि ब्रेस्ट फीडिंग पार्क में टहलने जितना आसान नहीं होता है, इसलिए इससे हमें ब्रेक देनी चाहिए।

 

View this post on Instagram

 

How many of you have been given FREE ADVISE on the “RIGHT WAY” to feed YOUR CHILD by RANDOM PEOPLE ? Everyone seems to have an opinion and may I say judgement! Yeh sab log kahan se prakat ho jaate hai achanak . Please…. STOP telling new mothers that they should exclusively breastfeed for 6 months. You think we haven’t read that on the internet yet? . Firstly, unlike popular belief breastfeeding is painful for most women, extremely tough physically and mentally an emotional rollercoaster. So no, breasteeding is not some walk in the park which comes naturally to us women. Give us a break! Secondly, yes breastfeeding/milk is the most beneficial no doubt but there is confusing research about this particular 6 month timeline ( and I am talking about solid research not articles on Google)…infact a decade earlier some research said 3-4 months is enough and some say it should be 1 year . Thirdly, what have you done to make women feel comfortable to chose this 6 month timeline. Does your office have a lactation room to pump? Has paid maternity leave been extended in all countrie to 6 months? Have you made breastfeeding in public normal for women in your country ? Things to ponder upon . STOP questioning the #motherhood quotient of women who choose formual feeding

Next Stories
1 Pregnancy: दाल प्रेग्नेंट महिलाएं में ब्लड प्रेशर को करता है कंट्रोल, मिलते हैं और भी कई फायदे
2 Solar Eclipse Dec 2019 Pregnancy Precautions: क्या सूर्य ग्रहण प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए होता है नुकसानदायक, जानिए कैसे करें बचाव
3 Hot Water Health Benefits: प्रेग्नेंसी के दौरान गर्म पानी पीने के फायदे हैं या नुकसान, जानिए एक्सपर्ट राय
Coronavirus LIVE:
X