ताज़ा खबर
 

प्रेग्नेंसी में पिस्ता खाना सेफ है या नहीं, जानिए क्या है सच्चाई

Pistachio during early pregnancy: गर्भावस्था के दौरान पर्याप्त आराम, एक्सरसाइज और स्वस्थ आहार महत्वपूर्ण है। अगर आप आहार की बात कर रहे हैं तो पिस्ता का सेवन आपके लिए अच्छा हो सकता है लेकिन पिस्ता का सेवन कितना सुरक्षित है जान लें।

सोहा अली खान (Source: Soha Ali Khan/@sakpataudi)

Pistachios while pregnant: आपके और आपके गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर स्वास्थ्य के लिए गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ आहार लेना महत्वपूर्ण होता है। इस समय आपको जंक फूड और बाहर के खाने से दूरी बनानी चाहिए और घर का पोषक तत्वों से भरपूर भोजन ही खाना चाहिए। पोषक तत्वों की बात करें तो पिस्ता में इनकी प्रचुर मात्रा होती है और इनके सेवन से गर्भवती महिलाओं को जरुरी तत्वों की पूर्ति भी होती है। हालांकि ऐसे कई सवाल हैं कि क्या गर्भावस्था के दौरान पिस्ता का सेवन करना उचित है। आइए जानते हैं कि गर्भावस्था के दौरान पिस्ता का सेवन क्यों करें और क्यों नहीं।

पिस्ता में पाएं जाने वाले पोषक तत्व:
पिस्ता में बाकी नट्स के मुकाबले कैलोरी कम और पोटेशियम की मात्रा ज्यादा होती है। एक ऑन्स यानि 28 ग्राम पिस्ता में निम्न पोषक तत्व मौजूद होते हैं;

160 कैलोरी
6 ग्राम प्रोटीन
2.8 ग्राम फाइबर
12.71 ग्राम फैट
2 ग्राम सेचुरेटेड फैट

पिस्ता के सेवन के फायदे:
पिस्ता में प्रोटीन पाया जाता है जो कि शिशु की कोशिकाओं और टिशू के विकास में लाभदायक होता है।

1. पिस्ता में मौजूद मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड गर्भावस्था के दौरान रक्त मे गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाते है।
2. पिस्ता में पाएं जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे पॉलीफेनॉलिक कम्पाउंड्स, विटामिन ई और कैरोटीन गर्भवती महिला की इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करते हैं।
3. पिस्ता में कॉपर होने के कारण यह आपको गर्भावस्था के दौरान लाल रक्त कोशिकाओं के संश्लेषण में मदद करता है।
4. पिस्ता में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जो आपको जोड़ों के दर्द और सूजन की समस्या से राहत दिलाने में मदद करते हैं।
6. पिस्ता में फाइबर की प्रचुर मात्रा होता है जो आपको कब्ज की समस्या नहीं होने देता और यह समस्या अधिकतर गर्भवती महिलाओं को परेशान करता है।

गर्भवस्था के दौरान पिस्ता खाने से होने वाले दुष्प्रभाव:
पिस्ता के सेवन से आपको कई तरह के दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं इसलिए इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर से बात कर लें।

1. रोस्टेड पिस्ता में सोडियम की मात्रा ज्यादा होती है और इसके सेवन से आपका ब्लड प्रेशर बढ़ने की संभावनाएं होती है।
2. अगर आपको नट्स से एलर्जी है तो गर्भावस्था के दौरान पिस्ता खाने से बचें।
3. नट्स में एनाकार्डिक एसिड नाम का एक केमिकल होता है जिसके कारण एलर्जिक रिएक्शन होते हैं। इसके कारण आपको त्वचा में खुजली, उल्टी, डायरिया आदि की समस्या हो सकती है।
4. पिस्ता में फ्रक्टेन्स होते हैं जो आपकी पाचन क्रिया को प्रभाावित करते हैं। इनके कारण आपको डायरिया, कब्ज, ब्लोटिंग, पेट दर्द आदि जैसी समस्या हो सकती है।

(और Lifestyle News पढ़ें)

 

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रेग्नेंट महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी साबित हो सकता है चॉकलेट
2 शिशु के जन्म के बाद मां को लेना चाहिए कौन सा डायट, जानें
3 प्रेग्नेंट महिलाएं किन शाकाहारी फूड्स को करें अपनी डाइट में शामिल
ये पढ़ा क्या?
X