X

प्रेग्नेंसी में संभाल कर करें मेकअप, इन बातों का रखें खास ध्यान

प्रेग्नेंट महिलाओं को सौंदर्य प्रसाधनों का इस्तेमाल करते वक्त खास सावधानी बरतनी चाहिए। हम आपको बताते हैं कि वो कौन-कौन से सौंदर्य प्रसाधन हैं जिनके ज्यादा इस्तेमाल से गर्भवती महिलाओं और उनके आने वाले शिशु को नुकसान पहुंच सकता है।

महिलाओं के लिए गर्भावस्था एक बेहद ही अहम समय होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अपने खानपान के अलावा शारीरीक और मानसिक स्वास्थ्य पर खास ध्यान देने की जरूरत पड़ती है। किसी महिला के गर्भावस्था के दौरान ज्यादा मेकअप भी उन्हें और उनके होने वाले बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है। दरअसल मेकअप में इस्तेमाल किये जाने वाले कॉस्मेटिक्स में कई तरह के रसायन होते हैं। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओं को सौंदर्य प्रसाधनों का इस्तेमाल करते वक्त खास सावधानी बरतनी चाहिए। हम आपको बताते हैं कि वो कौन-कौन से सौंदर्य प्रसाधन हैं जिनके ज्यादा इस्तेमाल से गर्भवती महिलाओं और उनके आने वाले शिशु को नुकसान पहुंच सकता है।

शैम्पू :
चिकित्सकों का मानना है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को शैम्पू का कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए। शैम्पू में कृत्रिम सुगंध के सौंदर्य प्रसाधनों का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा इसमें सोडियम लॉरियल सल्फेट भी होता है जिसके साइड इफेक्ट भी होते हैं। शैंपू के ज्यादा इस्तेमाल से त्वचा का रंग काला होना, त्वचा में खुजली होना और सिरदर्द की शिकायत हो सकती है।

लिपस्टिक :
आम तौर पर लिपस्टिक महिलाओं का प्रिय सौंदर्य प्रसाधन है। लेकिन कई चिकित्सक प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को लिपस्टिक के ज्यादा इस्तेमाल से बचने की सलाह देते हैं। लिपस्टिक में लेड पाया जाता है। पेय पदार्थ लेते वक्त यह लेड शरीर के अंदर चला जाता है। यह मां के अलावा गर्भ में पल रहे बच्चे को भी नुकसान पहुंचा सकता है।

बाल रंगने से बचें :
यह सभी जानते हैं कि हेअर डाई करने वाले उत्पादों में काफी मात्रा में कृत्रिम रंगों का प्रयोग किया जाता है। चिकित्सकों के मुताबिक इन रसायनों से एलर्जिक रिएक्शन होने का काफी खतरा होता है। इसलिए महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान हेअर डाई करने से बचना चाहिए।

परफ्यूम और डियो :
आम तौर पर लोग परफ्यूम और डियो का इस्तेमाल अपने नियमित जीनवशैली के दौरान जरूर करते हैं। लेकिन परफ्यूम और डियो में ऐसे 100 प्रकार के रसायन होते हैं जो आपकी सेहत पर बुरा असर डाल सकते हैं। खासकर प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए इसका ज्यादा इस्तेमाल घातक साबित हो सकता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि सौंदर्य प्रसाधनों के इस्तेमाल से पहले प्रेग्नेंट महिलाएं एलर्जी टेस्ट जरूर कराएं।