पीरियड के अलावा भी इन दिनों महिलाओं के पेट में होता है तेज दर्द, जानिए क्यों

पीरियड्स की तरह ही ओवुलेशन पेन भी महिलाओं की एक सामान्य समस्या है। आइए इस समस्या के कारण और लक्षण को समझते हैं।

Apart from the period causes-of-ovulation-pain-and-its-symptoms you should know
ओवुलेशन के दौरान होने वाला दर्द में काफी समानताएं होती हैं (Photo – Freepik)

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को पेट में दर्द होना तो सामान्य बात है। लेकिन महीने में माहवारी के अलावा एक समय ऐसा भी होता है, जब महिलाओं को पेट में तेज दर्द महसूस होता है, यह समय होता है ओवुलेशन का। हर पांच में से एक महिला को ओवुलेशन के दौरान पेट में तेज दर्द महसूस होता है। महिलाओं को ओवुलेशन के दौरान कई तरह की तकलीफें महसूस होती हैं। इस दौरान उन्हें पेट के निचले हिस्से में दर्द महूसस होता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक यह दर्द ओवरी के उस हिस्से में होता है, जहां से अंडे बनते हैं।

विशेषज्ञ बताते हैं कि ओवुलेशन का दर्द महिलाओं को अचानक महसूस होता है। अक्सर इस स्थिति में होने वाला दर्द कुछ ही देर में ठीक हो जाता है, लेकिन कई बार इसे ठीक होने में 2 दिन से भी ज्यादा का समय लगता है। ओवुलेशन के दर्द में महिलाओं को वेजाइनल ब्लीडिंग समेत उल्टी आना और पेट में ऐंठन जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

बता दें कि पीरियड्स और ओवुलेशन के दौरान होने वाला दर्द में काफी समानताएं होती हैं, इसलिए अक्सर महिलाएं इन्हें एक ही समझने की भूल कर बैठती हैं। लेकिन यह दोनों स्थितियां बिल्कुल ही अलग होती हैं। ओवुलेशन का दर्द महिलाएं माहवारी से लगभग 2 हफ्ते पहले महसूस करती हैं।

क्या होता है ओवुलेशन: ओवुलेशन वह समय है, जब महिलाओं के अंडाशय से अंडा निकलता है। ओवुलेशन आमतौर पर मासिक चक्र के 11 से 21 दिनों के बीच होता है। एक्सपर्ट्स बताते हैं कि यह मासिक धर्म का वह समय है, जब महिलाओं में प्रजनन की शक्ति काफी अधिक होती है और इस दौरान महिलाएं आसानी से गर्भ धारण कर सकती हैं।

ओवुलेशन के दर्द से छुटकारा पाने के उपाय: ओवुलेशन के दौरान होने वाले दर्द को अक्सर महिलाएं गंभीरता से नहीं लेती। हालांकि अगर यह दर्द अधिक बढ़ जाए तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। लेकन अगर आपको अधिक दर्द महसूस नहीं हो रहा तो आप इससे छुटकारा पाने के लिए गर्म पानी से सिंकाई कर सकती हैं या फिर कुछ घरेलू नुस्खों की मदद ले सकती हैं। तेज गर्म दूध पीने से भी आपको दर्द से छुटकारा मिल सकता है।

पढें प्रेग्‍नेंसी समाचार (Pregnancyinhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
नवरात्र में कैसे करे रंगों का चुनाव?
अपडेट