5 causes of pelvic pain during pregnancy you should know - प्रेग्नेंसी के दौरान पेट के निचले हिस्से में इन पांच कारणों से उठता है दर्द - Jansatta
ताज़ा खबर
 

प्रेग्नेंसी के दौरान पेट के निचले हिस्से में इन पांच कारणों से उठता है दर्द

आज हम आपको गर्भावस्था के दौरान पैल्विक पेन के पांच कारणों के बारे में बताने वाले हैं।

प्रतीकात्मक चित्र

गर्भावस्था में महिला कई तरह के शारीरिक और हार्मोनल बदलावों के दौर से गुजरती है। इस दौरान महिला की शारीरिक संरचना में काफी बदलाव होता है। शरीर आंतरिक अंगों को समायोजित कर बच्चे के लिए जगह बनाता है। ऐसे में दर्द होना सामान्य घटना है। लेकिन इन सबके बावजूद कुछ दर्द सामान्य नहीं होते। यह किसी गंभीर समस्या के संकेत हो सकते हैं। इस तरह के दर्द को पहचानना जरूरी होता है। आज हम आपको गर्भावस्था के दौरान पैल्विक पेन के पांच कारणों के बारे में बताने वाले हैं। इन्हें पहचानकर डॉक्टर से उचित परामर्श जरूर लें ताकि स्वस्थ प्रेग्नेंसी को सफल बनाया जा सके।

बच्चे का वजन बढ़ जाने से – गर्भ में बच्चे का वजन बढ़ जाने की वजह से पैल्विस पर प्रेशर बढ़ जाता है। ऐसे में नसों पर दबाव बढ़ने से चलने-फिरने में परेशानी हो सकती है। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा आराम करने की जरूरत होती है।

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन की वजह से – ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भाशय में होने वाला एक तरह का ऐंठन है जो सामान्य है। इससे किसी तरह का नुकसान नहीं होता है। लेकिन अगर इस वजह से होने वाला दर्द ज्यादा समय तक रहे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इस दौरान अधिक पानी का सेवन करने से इस दर्द से आराम मिल सकता है।

कब्ज की वजह से – प्रेग्नेंसी के दौरान कब्ज होना आम है। इसकी वजह से पैल्विस में काफी दर्द हो सकता है। इसके लिए आपको खूब सारा पानी पीना चाहिए। तब भी दर्द बंद ना हो तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

यूरीन संक्रमण की वजह से – यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की समस्या भी प्रेग्नेंसी के दौरान सामान्य है। बार-बार पेशाब जाना, पेशाब के दौरान सूजन या फिर पेशाब में खून आना आदि यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के लक्षण होते हैं। यूरीनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के कारण गर्भवती महिला को समय से पहले प्रसव पीड़ा हो सकती है। इसलिए इसे अनदेखा ना करें और डॉक्टर से संपर्क करें।

अंडाशय में गांठ होने की वजह से – प्रेग्नेंसी के दौरान अंडाशय में गांठ हो सकती है। इस वजह से आपके यूटेरस पर दबाव पड़ता है और आपको लगातार पैल्विक पेन होता है। इसके अलावा अगर गांठ फूट जाता है तो यह दर्द और बढ़ जाता है। ऐसे में ज्यादा दर्द होने पर डॉक्टर से जरुर मिलें।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App