scorecardresearch

मोटापे की वजह से बढ़ सकती है इनफर्टिलिटी की समस्या, कहीं आप भी तो नहीं कर रहीं ये 2 गलतियां?

गर्भावस्था के समय मोटापे से ग्रस्त महिलाओं को गर्भपात, मृत शिशु का जन्म, डायबिटीज और बच्चे के जन्म के बाद ठीक से स्तनपान न करा पाना जैसी दिक्कतें झेलनी पड़ती हैं।

मोटापे की वजह से बढ़ सकती है इनफर्टिलिटी की समस्या, कहीं आप भी तो नहीं कर रहीं ये 2 गलतियां?
वजन को कम करना चाहते हैं तो डाइट में प्रोटीन और फाइबर से भरपूर फूड्स का सेवन करें। photo-freepik

मोटापे के कारण महिलाओं में कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं मोटापे के कारण महिलाओं में इनफर्टिलिटी की समस्या भी हो सकती है। जी हां, हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार जो महिलाएं मोटापे से ग्रस्त हैं उन्हें मां बनने में भी समस्या हो सकती है और कई बार यह समस्या इतनी गंभीर हो जाती है कि इस समस्या का नतीजा बाझंपन हो जाता है। बता दें कि नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे (एनएफएचएस) की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में मोटापे से ग्रस्त महिलाओं का अनुपात 2015 से 2016 में 21 % प्रतिशत से बढ़कर साल 2019 से 2022 में 24 % तक हो गया है ।

प्रेग्नेंसी को कैसे प्रभावित करता है मोटापा?

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार मोटापे की समस्या महिलाओं में प्रेग्नेंसी को भी प्रभावित करती है। अगर मोटापे के चलते महिलाएं गर्भ धारण कर भी लेती हैं तो उन्हें गर्भावस्था के दौरान कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल, गर्भावस्था के समय मोटापे से ग्रस्त महिलाओं में गर्भपात, मृत शिशु का जन्म, डायबिटीज और बच्चे के जन्म के बाद ठीक से स्तनपान न करा पाना जैसी दिक्कतें झेलनी पड़ती हैं।

क्या है मोटापे की वजह?

गलत खानपान: सही खानपान शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सबसे अहम माना जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं गलत खानपान के कारण या फिर ऐसे भोजन का सेवन करना जिसमें कैलोरी की मात्रा अधिक होती है, इस प्रकार का खाना महिलाओं में मोटापे का कारण बन सकता है।

नींद पूरी न लेना: सही मात्रा में नींद न लेना भी महिलाओं में मोटापे का कारण बन सकता है। क्योंकि कम नींद के कारण शरीर में कई तरह के हार्मोन में चेंज होता है। जिसकी वजह से जरूरत से ज्यादा भूख लगने लगती है, जो कि मोटापे का कारण बन सकती है।

ऐसे करें मोटापा कंट्रोल: महिलाओं में मोटापा कम करने में सबसे ज्यादा कारगर रोजाना एक्सरसाइज, जंक फूड का सेवन कम से कम करना और तनाव कम लेना है। बता दें कि जो महिलाएं गर्भधारण करना चाहती हैं लेकिन मोटापे की समस्या से ग्रस्त हैं वे रोजाना कम से कम आधे घंटे एक्सरसाइज जरूर करें। इसके अलावा स्वस्थ लाइफस्टाइल अपनाएं, इससे न केवल प्रजनन क्षमता बढ़ेगी बल्कि आपका स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट