ताज़ा खबर
 

नाइट शिफ्ट में काम करने से महिलाओं में कैंसर का खतरा

अगर आप महिला हैं और आपको कार्यस्थल पर लंबे समय से नाइट शिफ्ट में काम करना पड़ रहा है, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए चिंता का विषय हो सकता है।

Author बीजिंग | January 9, 2018 4:54 AM

अगर आप महिला हैं और आपको कार्यस्थल पर लंबे समय से नाइट शिफ्ट में काम करना पड़ रहा है, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए चिंता का विषय हो सकता है। एक नए शोध के मुताबिक, अनियमित घंटों की लगातार शिफ्ट से महिलाओं में सामान्य कैंसर होने का जोखिम बढ़ जाता है। शोधकर्ताओं ने पाया कि कुल मिलकार लंबे समय तक नाइट शिफ्ट करने से महिलाओं में कैंसर होने की संभावना 19 फीसदी तक बढ़ जाती है।

सभी पेशों के विश्लेषण करने के बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि लंबे समय तक नाइट शिफ्ट करने से नर्सो में स्तन कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। चीन के चेंगदु स्थित सिचुआन विश्वविद्यालय के वेस्ट चाइना मेडिकल सेंटर में शोध के सह-लेखक शुईलेई मा ने बताया, “हमारे शोध से पता चलता है कि कार्यस्थल पर नाइट शिफ्ट में काम करने से महिलाओं में कैंसर का जोखिम बढ़ जाता है।”

यह अध्ययन कैंसर एपिडेमियोलॉजी, बॉयोमार्कर एंड प्रीवेंसन पत्रिका में प्रकाशित किया गया है। शोध में पाया गया कि जो महिलाएं नाइट शिफ्ट में काम करती हैं, उनमें नाइट शिफ्ट में काम नहीं करनेवाली महिलाओं की तुलना में त्वचा कैंसर का खतरा 41 फीसदी, स्तन कैंसर का खतरा 32 फीसदी और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर का खतरा 18 फीसदी बढ़ जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App