scorecardresearch

Myths and Facts: जामुन खाने के बाद नहीं पीना चाहिए पानी? चाहिए क्या है सच्चाई

जामुन खाने के बाद पानी पीने से बिगड़ सकती है सेहत? आइए जानते हैं क्या है सच्चाई-

Jamun Fact | Jamun for health |Jamun for blood sugar control
जामुन में जंबोलिन नामक एक यौगिक होता है जो रक्त शर्करा को कम करने और इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाने में मदद करता है। Photo-freepik

अक्सर हमने दादी या नानी को कहते सुना होगा कि कुछ फल ऐसे होते हैं जिन्हें खाने के बाद पानी नहीं पीना चाहिए, नहीं तो आपकी सेहत बिगड़ सकती है। यही हाल जामुन का भी है। गर्मियों में आपको जामुन अच्छी मात्रा में देखने को मिल जाएंगे और ज्यादातर लोग इस फल को स्वाद में बहुत ज्यादा खाते हैं. इतना तो ठीक है, लेकिन जब आप जामुन खाने के तुरंत बाद पानी पीते हैं तो इससे आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। तो आइए जानते हैं इससे जुड़ी ये सच्चाई।

क्या जामुन खाने के बाद पानी पी सकते हैं?

बहुत से लोगों को लगता है कि जामुन खाकर पानी नहीं पीना चाहिए तो कुछ लोगों का मानना होता है कि पानी पीने में क्या बुराई है। कुछ लोग मानते हैं कि जामुन खाने के बाद पानी पीने से उनका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है जबकि कुछ लोगों का मानना ​​है कि ऐसा कुछ नहीं होता है, लेकिन आपको बता दें कि जानकारों का मानना ​​है कि अगर आप जामुन खाने के तुरंत बाद पानी पीते हैं तो आपको कई बीमारियां हो सकती हैं। यह दस्त, अपच और गैस से संबंधित समस्याएं पैदा कर सकता है।

जामुन खाने से शरीर को मिलते हैं कई फायदे

आपको बता दें कि काला जामुन लगभग 210 कैलोरी देता है। जिसमें से कार्बोहाइड्रेट में 135 कैलोरी होती है, प्रोटीन में 14 कैलोरी होती है और शेष कैलोरी वसा से आती है जो कि 59 कैलोरी होती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक जामुन खाने से आपका वजन भी कम हो सकता है। यानी जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उन्हें इस फल को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

जामुन रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी बहुत फायदेमंद होता है। यानी जिन लोगों का ब्लड प्रेशर कंट्रोल से बाहर रहता है, उन्हें इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। डायबिटीज के मरीजों के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं है। इसे खाने से ब्लड शुगर कंट्रोल में रह सकता है।

वहीं बाबा रामदेव के मुताबिक जामुन की गुठली में मधुमेह विरोधी गुण होते हैं। यह टाइप 2 मधुमेह के रोगियों में रक्त शर्करा को नियंत्रित करता है। ऐसे में जामुन की गुठली मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

जामुन की गुठली का इस तरह से करें इस्तेमाल

1 जामुन की गुठली मधुमेह रोगियों के लिए रामबाण है। इसका चूर्ण रोजाना सुबह एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ लें। बेशक आपको इससे फायदा होगा। महिलाओं में मासिक धर्म की समस्या और दर्द में जामुन की गुठली का चूर्ण लाभकारी होता है।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट