ताज़ा खबर
 

मुलायम सिंह के पास नहीं थी चवन्नी, चुंगी पर रोक ली बैलगाड़ी, जानिये फिर क्या हुआ था

मुलायम सिंह यादव धान से भरी बैलगाड़ी लेकर शहर जा रहे थे। उस वक्त चुंगी पर चवन्नी लगती थी। नेताजी के पास चवन्नी नहीं थी तो उन्होंने कहा कि आढ़ती से लेकर बाद में दे देंगे...

मुलायम ने अखिलेश से कहा था कि यदि शिवपाल ने इस्तीफा दे दिया था तो पार्टी को डूबने से फिर कोई नहीं बचा पाएगा।( मुलायम की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता ने वोटिंग से एक दिन पहले दिए इंटरव्यू में कहा था-अब चुप नहीं बैठूंगी )

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने इंदिरा गांधी सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद कर सक्रिय सियासी पारी की शुरुआत की थी। राममनोहर लोहिया के आंदोलन से जुड़कर उन्होंने जमीनी स्तर पर काम करना शुरू किया था। बगावती तेवर के कारण सिर्फ 15 साल की उम्र में सरकार के आदेश पर मुलायम को जेल में डाल दिया गया और जब बाहर आए तो एक बड़े नेता बनकर उभरे।

मुलायम सिंह यादव के करीबी लोग बताते हैं कि वो शुरू से ही अपने इरादे के पक्के थे। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता सत्यभान सिंह ने ‘द लल्लनटॉप’ से बात करते हुए मुलायम सिंह यादव से जुड़ा एक किस्सा सुनाया था। ये किस्सा मुलायम सिंह यादव के विधायक और मंत्री बनने से पहले का है। सत्यभान बताते हैं, ‘एक बार नेताजी धान से भरी बैलगाड़ी लेकर शहर जा रहे थे तो चुंगी पर चवन्नी लगती थी। नेताजी के पास चवन्नी नहीं थी तो उन्होंने कहा कि आढ़ती से लेकर बाद में दे देंगे।’

सत्यभान आगे बताते हैं, ‘वह बिना पैसे दिए चलने लगे तो मुंशी ने गाड़ी रुकवा दी और कहा कि बिना पैसे दिए गाड़ी कैसे पास हो जाएगी? सेठ जी की आढ़त थी तो नेताजी सेठ जी के पास गए। चवन्नी लेकर आए और वहां रसीद कटवाई। जब आढ़त पर पहुंचे तो बोले- सेठ जी जब मैं मुख्यमंत्री बनूंगा तो पूरे प्रदेश की चुंगी माफ कर दूंगा। इस पर वहां मौजूद तमाम लोग हंसने लगे और बोले- मुलायम, तुम फूंककर पहाड़ उड़ा देते हो। नेताजी ने इसके जवाब में कहा- जो हम कहते हैं वो सत्य कहते हैं। हम जो कहते हैं वही करते हैं।’

पशुपालन मंत्री बनने पर साथी मारने लगे ताना: ऐसा ही वाकया मुलायम सिंह यादव के साथ तब भी हुआ था जब वो उत्तर प्रदेश सरकार में पशुपालन मंत्री बने थे। मुलायम सिंह यादव जब पहली बार मंत्री बने तो उनके साथी जाति पर ताना मारते हुए कहने लगे, जो काम बचपन से करते आए हैं, मंत्रालय भी वैसा ही दे दिया गया है। हालांकि इन सब बातों का मुलायम सिंह पर कोई असर नहीं हुआ और वह अपने काम में लगे रहे। मंत्री रहते हुए उन्होंने कई बड़े बदलाव किए।

Next Stories
1 Skin Care: चेहरे पर दिखने लगी हैं झुर्रियां तो आजमाएं ये घरेलू उपाय, मिल सकता है छुटकारा
2 बरसात के मौसम में आम है स्किन एलर्जी की परेशानी, इन 5 आयुर्वेदिक उपायों से मिल सकता है आराम
3 मुलायम सिंह बने पशुपालन मंत्री तो साथी ही मारने लगे थे ताना, जानिए क्या था मामला
ये पढ़ा क्या?
X