क्या आपको सिर्फ बीजेपी से बदला लेना है? रजत शर्मा ने पूछा था मायावती से सवाल तो मिला था ऐसा जवाब

बीएसपी सुप्रीमो मायावती से वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने एक इंटरव्यू के दौरान बीजेपी को लेकर सवाल किया था तो उन्होंने कुछ इस अंदाज में जवाब दिया था।

बसपा सुप्रीमो मायावती (एक्सप्रेस फोटो)

उत्तर प्रदेश में चुनाव नजदीक आ रहे हैं और राजनीतिक पार्टियों एक-दूसरे पर निशाना साध रही हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने तीन कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला कर लिया है। केंद्र सरकार के इस फैसला के बाद यूपी की सियासत भी गरमा गई है। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा था, ‘यह फैसला बहुत पहले ले लेना चाहिए था। एमएसपी को लेकर भी सरकार फैसला करे। इस आंदोलन के दौरान किसान शहीद हुए हैं, उन्हें केंद्र सरकार आर्थिक मदद और नौकरी दे।’ इस बीच रजत शर्मा के साथ मायावती का एक पुराना इंटरव्यू भी वायरल हो रहा है।

इस इंटरव्यू में वरिष्ठ पत्रकार ने बीजेपी और राजनीति को लेकर कई सवाल पूछे थे। रजत शर्मा ने एक सवाल किया था, ‘आपकी राजनीति देखने के बाद लगता है कि आपको सिर्फ बीजेपी से बदला लेना है।’ इसके जवाब में उन्होंने कहा था, ‘बीजेपी से तो हमने उसी दिन बदला ले लिया था जब मैंने मुख्यमंत्री की कुर्सी से इस्तीफा दे दिया था। उसके बाद बीजेपी ने बदले की भावना से केंद्र में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करके मुझे ताज प्रकरण मामले में फर्जी फंसाया था। इसके बाद यूपी ही नहीं सभी बहुजन समाज के लोगों ने सत्ता से बाहर करने का फैसला कर लिया था’

मायावती ने आगे कहा था, ‘बीजेपी ने मुझे सीएम की कुर्सी से हटाया नहीं है। मैंने खुद इस्तीफा दिया है। बीजेपी ने परिस्थितियां ऐसा बनी दी थीं कि मैंने मुख्यमंत्री की कुर्सी से खुद इस्तीफा दिया। लेकिन जैसे उन्होंने गलत काम किया तो हमने उन्हें केंद्र में सत्ता से बाहर किया। अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में मैंने कहा था कि अगर आप मुझे अपनी बेटी मानती हैं तो आप मेरी इनकम टैक्स विभाग से जांच क्यों करवा रहे हैं। आपको दूसरी बेटी की भी जांच करवानी चाहिए। अगर उन्होंने अपना फर्जी निभाया होता तो मैं उनके साथ ऐसा नहीं करती।’

चंद्रशेखर ने क्या कहा? भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर ने इस बार यूपी में चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। इसके बाद मायावती का वोट खिसकने के कयास लगाए जा रहे हैं। एक इंटरव्यू में चंद्रशेखर से पूछा गया था कि क्या उनकी मुलाकात कभी मायावती जी से हुई है? तो उन्होंने कहा था कि मेरी कभी बहन जी से मुलाकात नहीं हुई है। अब पता नहीं मायावती ने मुझे किस आधार पर बीजेपी का एजेंट बताया था। दरअसल उनके साथ समस्या ये है कि उन्हें खुद नहीं पता कि वो मेरे ऊपर कौन-सा आरोप लगा रही हैं।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
एक मंदिर ऐसा भी: जहां रोज होगी रावण की पूजा