ताज़ा खबर
 

शोध का दावा: एक सेकंड से भी कम समय में हो सकता है प्यार

जर्मनी के बैमबर्ग विश्वविद्यालय के प्रोफेसर क्लॉस क्रिस्टियन कार्बन के नेतृत्व में मनोवैज्ञानिकों ने यह शोध किया है। मनोवैज्ञानिकों ने शोध के दौरान 25 युवाओं के दिमाग की गतिविधियों पर बारिकी से नजर रखा।

Author September 24, 2018 3:26 PM
सांकेतिक तस्वीर।

एक नए शोध से खुलासा हुआ है कि इंसान को किसी से प्यार होने में एक सेकंड से भी कम का समय लगता है। जर्नल ‘न्यूरोसाइंस लेटर्स’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक कोई व्यक्ति 244 मिलीसेकंड (0.2 सेकंड) में ही सामने वाले व्यक्ति की लिंग की पहचान कर लेता है और महज 59 मिलीसेकंड में वो उसकी ओर आकर्षित हो जाता है। जर्मनी के बैमबर्ग विश्वविद्यालय के प्रोफेसर क्लॉस क्रिस्टियन कार्बन के नेतृत्व में मनोवैज्ञानिकों ने यह शोध किया है। मनोवैज्ञानिकों ने शोध के दौरान 25 युवाओं के दिमाग की गतिविधियों पर बारिकी से नजर रखा। इन युवाओं को 100 तस्वीरें दिखाई गईं और यह समीक्षा की गई कि उनका दिमाग इन तस्वीरों को देखने के बाद कैसी प्रतिक्रिया देता है।

प्रोफेसर कार्बन के मुताबिक शोध के दौरान युवाओं ने बेहद तेज गति से पहले इन तस्वीरों में दिख रहे लोगों की लिंग की पहचान की। जिसके आधार पर उन्होंने सामने वालों को आकर्षक माना। शोध में यह भी सामने आया कि महज 0.2 सेकंड में इंसान जहां सामने वाले के लिंग की पहचान करता है तो वहीं 0.3 सेकंड में वो किसी के प्रति आकर्षित हो जाता है।

एक खास बात यह भी है कि यह शोध सोशल मीडिया से प्रभावित है। हालांकि इस शोध को करने वाले प्रोफेसर कार्बन का कहना है कि ‘हालांकि इसे अनुचित माना जाएगा, लेकिन रोजमर्रा की हमारी जिंदगी ममें चेहरे का आकर्षण एक तरह से दिल के दरवाजे के रूप में काम करता है। आकर्षक लोगों को ज्यादा समझदार माना जाता है और आकर्षक लोग जिंदगी में ज्यादा खुश रहते हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X