know all things about Gashlighting - Gashlighting: रिश्तों में कहीं आप भी तो नहीं इस स्थिति से परेशान, ऐसे लगाएं पता - Jansatta
ताज़ा खबर
 

Gashlighting: रिश्तों में कहीं आप भी तो नहीं इस स्थिति से परेशान, ऐसे लगाएं पता

रिलेशनशिप में दुर्व्यवहार का एक भयानक रूप होता है गैसलाइट। इसमें लोग अपनी ही याद्दाश्त और सोच पर सवाल खड़े करने लगते हैं।

दूसरों का विश्वास जीतने के लिए भी लोग गैसलाइटिंग करते हैं।

रिलेशनशिप में दुर्व्यवहार का एक भयानक रूप होता है गैसलाइट। इसमें लोग अपनी ही याद्दाश्त और सोच पर सवाल खड़े करने लगते हैं। गैसलाइटिंग में किसी का इस तरह से ब्रेनवाश कर दिया जाता है कि विक्टिम होते हुए भी वह अपराधबोध से भर जाता है। उसे लगता है कि गलती उसी की है। उसे अपनी ही क्षमताओं और फैसलों पर शक होने लगता है। रिलेशनशिप में अक्सर ऐसा देखा जाता है। अगर आपका पार्टनर होशियार है तो वह झूठ बोलकर या बात को घुमा फिराकर आपको गलत साबित कर देता है। इतना ही नहीं, वह आपको यह विश्वास दिलाने में भी कामयाब हो जाता है कि गलती आप ही की थी जबकि आप विक्टिम थे। यही गैसलाइटिंग है। दूसरों का विश्वास जीतने के लिए भी लोग गैसलाइटिंग करते हैं। इसके लिए पहले तो वह गैसलाइटिंग से आपके आत्मविश्वास को गिराते चले जाते हैं फिर आपको दिलासा देकर आपका विश्वास जीतने की कोशिश करते हैं।

आपको गैसलाइट किया जा रहा है इस बात का अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल होता है क्योंकि ज्यादातर समय पीड़ित व्यक्ति समझ ही नहीं पाता कि उसके साथ बुरा बर्ताव हो रहा है। हालांकि, कुछ संकेत होते हैं जिन पर ध्यान देकर आपको गैसलाइट किया जा रहा है –

1. दुर्व्यवहार करनेवाला व्यक्ति पूरी कोशिश करेगा कि आप हर वक़्त खुद को ग़लत माने, खुद को दोष दें। उसके इस बर्ताव के कारण आप कुछ बोलने से पहले दो बार सोचना शुरू कर सकते हैं या खुद को बेकार मान सकते हैं।

2. जब कोई आपको गैसलाईट करने की कोशिश कर रहा हो, तो वह आपको धमकाने की भी कोशिश करेगा। वह उसकी ज़िंदगी में होने वाली बुरी चीज़ों के लिए भी आपको ही दोष दे सकता है। वह यह सब कुछ ऐसे करेगा कि आप सचमुच महसूस करने लगेंगे कि गलती आपकी ही है।

3. लगातार दोष देकर वह आपको इतना कमज़ोर महसूस करा सकता है कि आप ज़्यादातर समय परेशान, बेचैन और हर चीज के बारे में चिंतित रहेंगे। यहां तक कि बहुत छोटी-छोटी चीज़ों के लिए भी आपका दिमाग हमेशा भ्रमित रहेगा।

4. भ्रम से फैसले लेने में भी परेशानी होगी। आप गलत फैसले करना शुरू कर सकते हैं क्योंकि आपकी डिसिजन मेकिंग बुरी तरह से प्रभावित हो सकती है और आपके दिमाग में भरे गए बेतुकी और निरांधार बाते आपके विचारों को तबाह कर चुकी होगी।

5. क्या आप कुछ दिनों से हर छोटी-बड़ी बात पर लोगों से माफी मांगने लगे हैं? हर वक़्त अपराधबोध में रहना भी गैसलाइटिंग का एक परिणाम होता है।

6. अगर आप अक्सर नाखुश रहते हैं, तो हो सकता है कि एक वजह इसकी गैसलाइटिंग भी हो, लेकिन अगर आपको उदासी के साथ अन्य लक्षण भी दिखाई दे रहे हैं तो आपको सचमुच इसे गंभीरता से लेना चाहिए।

https://www.jansatta.com/lifestyle/weight-loss-gain-hindi/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App