ताज़ा खबर
 

सर्वे में दावा-बिना भावना शारीरिक संबंध बनाना भी बढ़ाता है नजदीकी

एक नए शोध में कहा गया है कि कैजुअल सेक्स भी दो लोगों के बीच इंटिमेसी का जरिया हो सकता है।

Author नई दिल्ली | December 5, 2018 6:15 PM
प्रतीकात्मक चित्र।

हमेशा से यह अवधारणा रही है कि कैजुअल तौर पर शारीरिक संबंध बनाते वक्त लोगों के मन में कोई भावना नहीं होती हालांकि एक नए शोध ने इस धारणा को गलत ठहराया है। एक नए शोध में कहा गया है कि कैजुअल सेक्स के दौरान भी दो लोगों के बीच इंटिमेसी  हो सकता है। यह शोध ऑनलाइन प्रश्नावली के जरिए किया गया है। इस शोध में कालेज के विद्यार्थियों पर अध्ययन किया गया था।

शोध के दौरान कालेज स्टूडेंट्स् को रिसर्चर्स ने ऑनलाइन प्रश्नावली भेजी। इस प्रश्नावली के जरिए उनसे कुछ सवाल पूछे गए। स्टूडेंट्स से रोमांटिक रिलेशनशिप में यौन संबंधों और कैजुअल सेक्स के समय उनकी इंटिमेसी के बारे में पूछा गया।

शोध के परिणामों में पाया गया कि पार्टनर्स ने रोमांटिक रिलेशनशिप के दौरान बने संबंधों में कैजुअल सेक्स के मुकाबले अधिक इंटिमेसी और लगाव महसूस किया। लेकिन परिणामों में यह भी देखा गया कि कैजुअल सेक्स के दौरान इंटिमेंसी का स्तर उन कल्पनाओं और धारणाओं से अधिक था जो अक्सर लोगों के मन में होती हैं।

डेवलमेंटल साइकोलॉजिस्ट एन मेरीवेथर का कहना है कि आज के समय में कैजुअल सेक्स को लेकर लोगों में गलत धारणाएं हैं। उन्होंने कहा कि हमारे दिमाग में यह नजरिया है कि कैजुअल सेक्स या हुक-अप्स केवल शारीरिक इच्छाओं के लिए होते हैं हालांकि रिसर्च में यह साबित हुआ है कि यह बात पूरी तरह सच नहीं है।

अध्ययन के दौरान विद्यार्थियों से पूछा गया था कि कैजुअल सेक्स के दौरान क्या वो इंटिमेट एक्टिविटीज जैसे कडल करना, आई कॉन्टैक्ट बनाना, फॉरप्ले, रात साथ में बिताना आदि में शामिल थे या नहीं? विद्यार्थियों ने बताया कि रोमांटिक रिलेशनशिप के दौरान शारीरिक संबंध बनाते वक्त और कैजुअल सेक्स के दौरान वो इनमें से कौन सी एक्टिविटीज में शामिल थे।

रिसर्च में पाया गया कि युवा-वयस्क लोग अपनी इंटिमेसी जरुरतों को पूरा करने के लिए कैजुअल एनकाउंट्स की तरफ रुख करते हैं जो साबित करता है कि कैजुअल सेक्स के दौरान भी दोनो लोगों इंटिमेसी होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App