ताज़ा खबर
 

पशुपति पारस: 6 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति के मालिक, पत्नी के पास भी दिल्ली में प्रॉपर्टी; ज्वेलरी भी कम नहीं

पशुपति कुमार ने प्रेसवार्ता में अपने बड़े भाई और दिवंगत नेता राम विलास पासवान को भी याद किया। वह अभी बिहार के हाजीपुर से सांसद हैं।

LJP सांसद पशुपति पारस के पास है करोड़ो रुपए की संपत्ति (Photo-ANI)

बिहार की सियासत में नया मोड़ आ गया है। लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के सांसद पशुपति कुमार पारस के नए तेवर देखने को मिल रहे हैं। पशुपति ने अपने भतीजे चिराग पासवान के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंक दिया है। पारस ने दावा किया था कि पार्टी के छह में से पांच सांसद उनके समर्थन में हैं। उधर, लोकसभा में भी उन्हें पार्टी के नेता के तौर पर मान्यता मिल गई है।

पशुपति पारस ने प्रेसवार्ता में अपने बड़े भाई और दिवंगत नेता राम विलास पासवान को भी याद किया। पशुपति कुमार भले ही पहली बार इस प्रकार के बगावती तेवर के साथ सामने आए हों, लेकिन उन्होंने ये बता दिया कि पार्टी के ज्यादातर नेता उनके समर्थन में हैं। पशुपति मंझे हुए नेता होने के साथ काफी धनवान भी हैं और उनके पास करोड़ों रुपए की संपत्ति है। Myneta के मुताबिक, पशुपति ने 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान दिए अपने हलफनामे में बताया था कि उनके पास कुल 6 करोड़ 28 लाख 34 हजार 200 रुपए की प्रॉपर्टी है।

पत्नी के पास हैं 40 लाख के गहने: उनके परिवार के पास बैंक में कुल 2 करोड़ 69 लाख रुपए की राशि है। इसमें से करीब 75 लाख रुपए पशुपति के अपने बैंक खाते में हैं। ज्वेलरी की बात करें तो पशुपति कुमार के पास करीब 2 लाख रुपए की ज्वेलरी है जबकि उनकी पत्नी के 40 लाख रुपए के गहने हैं। पूरे परिवार के पास करीब 45 लाख 30 हजार रुपए की ज्वेलरी है। पशुपति की पत्नी के नाम पर दिल्ली-एनसीआर के नोएडा में एक प्रोपर्टी है और दिल्ली के पटेल नगर में एक रिहायशी मकान है।

लोन भी ले रखा है: पशुपति पारस ने अपनी सभी प्रॉपर्टीज का ब्योरा देते हुए हलफनामे में बताया था कि उनके ऊपर बैंक लोन भी है। उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक से 67 लाख हजार 375 रुपए का लोन लिया था। 2019 चुनाव से पहले उन्होंने बताया था कि उनके पूरे परिवार के पास कुल 2 लाख 30 हजार रुपए ही नकद हैं।

बता दें पशुपति कुमार पारस ने बिहार के हाजीपुर से लोक जनशक्ति पार्टी के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में उनकी जीत हुई थी। पशुपति ने बताया था कि उन्होंने चुनाव में करीब 37 लाख 38 हजार 370 रुपए खर्च किए थे। इसमें चुनाव प्रचार और पब्लिक मीटिंग सब शामिल हैं।

बता दें करीब 9 महीने पहले राम विलास पासवान का निधन हो गया था। उनके निधन के करीब 9 महीने में ही पार्टी में दो फाड़ हो गया। सबसे बड़ी बात है कि चिराग पासवान खुद उन्हें मनाने उनके आवास पर पहुंचे थे, लेकिन बात नहीं बन पाई।

प्रशांत किशोर ने ऐसा क्या लिखा कि आ गया था नरेंद्र मोदी के ऑफिस से फोन? जानिए

भाग्य से होते हैं 11-12 बच्चे- बाबा रामदेव के सवाल पर लालू यादव ने यूं दिया था जवाब

Next Stories
1 जब लालू को गिरफ्तार करने पहुंची CBI टीम को घेर लिया था समर्थकों ने, सेना की मदद मांगने के लिए मजबूर हो गई थी जांच एजेंसी
2 प्रशांत किशोर ने नरेंद्र मोदी को बार-बार दिखाया था करण थापर वाला इंटरव्यू? खुद बताई थी सच्चाई
3 एक्ट्रेस रकुल प्रीत फिटनेस के लिए फॉलो करती हैं ये वर्क आउट और डाइट रूटीन, जानें
ये पढ़ा क्या?
X