ताज़ा खबर
 

Life Style: कोविड के तनाव से बचने को योग और संगीत की शरण में स्वास्थ्यकर्मी

एलएनजेपी अस्पताल की सीनियर डाक्टर कुमुद भारती ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के संक्रमित होने का काफी खतरा है क्योंकि वह इस लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर हैं। उन्होंने कहा कि डॉक्टर बचाव के लिए पीपीई किट, दस्ताने और अन्य चीजों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: June 2, 2020 4:41 AM
कोविड के तनाव से खुद को बचाने के लिए डॉक्टर और अन्य चिकित्साकर्मी योग कर रहे हैं।

कोरोना संक्रमितों का इलाज करने के लिए रात-दिन लगे रहने वाले स्वास्थकर्मी भी समय के साथ तनाव का शिकार हो रहे हैं। निजी सुरक्षा उपकरणों के साथ लंबे समय तक काम करने वाले डॉक्टर और नर्स तनाव से बचने के लिए अलग-अलग उपाय कर रहे हैं। कोई योगभ्यास कर रहा है, तो कोई संगीत सुन रहा है। कुछ धार्मिक किताबों का सहारा भी ले रहे हैं।

दिल्ली के सरकारी बाबू जगजीवन राम अस्पताल में सेवा देने वाले वरिष्ठ डॉक्टर वीके वर्मा अपने दिन की शुरुआत प्रणायाम से करते हैं और इसके साथ ही वह योग के कई दूसरे आसन भी करते हैं और फिर काम पर जाते हैं। वहीं मैक्स अस्पताल की नर्स डॉली मस्से इस संक्रमण से पैदा हुए तूफान में शांति तलाशने के लिए वह बाइबल का सहारा लेती हैं। उनका कहना है कि वह अपने थैले में हर समय इस धार्मिक किताब को रखती हैं, यहां तक कि उनके मोबाइल फोन में भी ई-बाइबल है। यह किताब उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बने रहने में मदद करता है।

उन्होंने कहा कि कोरोना विषाणु संक्रमण के शुरुआती दौर में वह बिल्कुल भी नहीं डरीं और जब बंद के दौरान मामले बढ़ने शुरू हुए तब भी उन्हें डर नहीं लगा लेकिन 27 वर्षीय नर्स का कहना है कि अब उन्हें थोड़ा-सा डर लगने लगा है कि वह भी संक्रमित हो सकती हैं।

एलएनजेपी अस्पताल की सीनियर डाक्टर कुमुद भारती ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के संक्रमित होने का काफी खतरा है क्योंकि वह इस लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर हैं। उन्होंने कहा कि डॉक्टर बचाव के लिए पीपीई किट, दस्ताने और अन्य चीजों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

भारती ने कहा कि डॉक्टरों को पता है कि मानवता की सेवा करना उनका कर्तव्य है लेकिन आखिर में डॉक्टर भी तो इनसान ही हैं। फॉर्टिस अस्पताल के डॉक्टर विकास मौर्य ने कहा कि ज्यादा संख्या में पीपीई किट होने से उनकी चिंता कम हुई है। उनका कहना है कि वह छह-छह घंटे तक लगातार पीपीई सूट पहने रहते हैं इसलिए उनकी स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। वह इस स्थिति में भी खुद को शांत रखने के लिए वह टीवी पर आनेवाले कार्यक्रमों को देखते हैं। किताब पढ़ते हैं और संगीत सुनते हैं।

डॉक्टरों की दिनचर्या
1- दिल्ली के सरकारी बाबू जगजीवन राम अस्पताल में सेवा देने वाले वरिष्ठ डॉक्टर वीके वर्मा अपने दिन की शुरुआत प्रणायाम से करते हैं।
2- मैक्स अस्पताल की नर्स डॉली मस्से इस संक्रमण से पैदा हुए तूफान में शांति तलाशने के लिए बाइबल का सहारा लेती हैं।
3- फॉर्टिस अस्पताल के डॉक्टर विकास मौर्य टीवी देखते हैं, किताबें पढ़ते हैं और संगीत सुनते हैं।
4- एलएनजेपी अस्पताल की सीनियर डाक्टर कुमुद भारती का कहना है कि डॉक्टर बचाव के लिए पीपीई किट, दस्तानों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 त्वचा के लिए रामबाण है चायपत्ती का इस्तेमाल, जानिये कैसे पहुंचाता है लाभ
2 Skin Care Routine: फेस वॉश से लेकर क्लींजिंग तक, चेहरे पर ग्लो के लिए सोने से पहले जरूर करें ये काम…
3 सोने से पहले गलती से भी न करें ये काम, नहीं तो हो सकते हैं स्किन रिलेटेड प्रॉब्लम्स के शिकार