scorecardresearch

खान सर का सफर: आर्मी में नहीं जा सके तो छह बच्चों से शुरू की कोचिंग, आज अकेले दस हजार से ज्यादा बच्चों की लेते हैं क्लास

Khan Sir का असली नाम क्या है इस पर आज भी रहस्य बना हुआ है। कुछ लोग उनका नाम अमित सिंह तो कुछ फैजल खान या फैसल खान बताते हैं। आइए जानते हैं उनके सफर के बारे में-

khan sir
खान सर (फोटो- @news24tvchannel)

पटना वाले फैसल खान उर्फ ​​खान सर एक बार फिर सुर्खियों में हैं। हाल के आरआरबी परीक्षा परिणामों को लेकर मुख्य रूप से बिहार और उत्तर प्रदेश में हुए विरोध प्रदर्शनों में हुए हिंसक प्रदर्शन को लेकर उनपर आवेदकों को उकसाने का आरोप लगा है। आरआरबी एनटीपीसी और ग्रुप डी भर्ती परीक्षा के छात्रों को भड़काने के आरोप में उन पर केस दर्ज किया गया है। हालांकि उन्होंने सभी आरोपों को सिरे से खारिज किया है।

पटना के खान सर ऑनलाइन कोचिंग की दुनिया में बेहद चर्चित नाम है। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल ‘Khan GS Research Centre’ पर करेंट अफेयर्स या जीएस विषय से संबंधित वीडियो बनाकर डालते रहते हैं। वर्तमान समय में यानी खबर लिखने तक उनके चैनल पर करीब 14.5 मिलियन (1 करोड़ 45 लाख) से ज्यादा सब्सक्राइबर्स हो चुके हैं। करेंट अफेयर्स को आसान भाषा में समझाने के कारण ही वह बिहार- उत्तर प्रदेश में समेत पूरे देश में मशहूर हैं। आइए आज इस खबर में हम उनके सफर के बारे में जानते हैं-

2019 में शुरू किया यूट्यूब चैनल: खान सर ने पांच साल पहले पटना कोचिंग हब चक मुसल्लाहपुर में अपना जीएस रिसर्च सेंटर खोला था। जिसमें एक टिन शेड वाला एक बड़ा हॉल था और इस हॉल में एक बार में लगभग 1,000 छात्र बैठ सकते थे। हालांकि, खान ने 2019 में अपना एक YouTube चैनल शुरू किया और जिसमें बहुत सारी स्थानीय भाषा और कहावतों के जरिए उन्होंने बहुत जल्दी अपने दर्शक बना लिए। साल 2021 में उन्होंने ‘खान सर ऑफिसियल’ नामक एक एप्लीकेशन की शुरुआत की। फिलहाल जिसके एक मिलियन से अधिक डाउनलोड हैं।

बेहद कम फीस लेते हैं: खान सर के द्वारा यूट्यूब पर अपलोड किए गए जीएस व करेंट अफेयर्स से जुड़े वीडियोज को आप फ्री में देख सकते हैं। वर्तमान में वह खान सर ऑफिशियल ऐप के जरिए बच्चों को ऑनलाइन कोचिंग दे रहे हैं। समय-समय पर निकलने वाली सरकारी भर्तियों के लिए वह बेहद कम फीस में ऑनलाइन कोचिंग देते हैं। खान पहले भी बता चुके हैं कि वह एक छात्र की भुगतान क्षमता के अनुसार फीस लेते हैं। कोचिंग सेंटर में कोई अन्य शिक्षक नहीं है, हालांकि एक शोध टीम वहां पर कार्य करती है।

आर्मी में जाना चाहते थे खान सर: वैसे तो खान सर के बारे में बहुत कम जानकारी है, और वह ज्यादा कुछ अपने बारे में नहीं बताते हैं। उन्होंने अपने बारे में सिर्फ इतना बताया है कि वह पूर्वी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से ताल्लुक रखते हैं और अपने बड़े भाई की तरह सेना में शामिल होना चाहते थे। लेकिन मेडिकल टेस्ट में पास न होने के कारण वह आर्मी में नहीं जा सके। खान बताते हैं कि वह लंबे समय से सोच रहे थे कि उन्हें क्या करना चाहिए।

सफर की शुरुआत: अपने चैनल पर एक वीडियो में, खान सर ने बताया कि वह विज्ञान में स्नातक और भूगोल में परास्नातक हैं, उन्होंने शिक्षण करने का फैसला लिया और बताया कि मैंने पटना में सिर्फ छह छात्रों के साथ शुरुआत की कोचिंग की शुरुआत की थी। छात्रों ने मुझे बताया कि मैं चीजों को समझाने में अच्छा हूं। यह सारी चीजें तब हुई जब मैंने इसी क्षेत्र में आगे बढ़ने का मन बना लिया था।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट