ताज़ा खबर
 

Karwa Chauth 2019 Updates: पूरे देश में दिखा चांद, धूमधाम से मनाया जा रहा करवाचौथ का त्योहार

Karwa Chauth 2019 (Karva Chauth 2019) Updates: देश के कई राज्यों में चांद का दीदार हो चुका है। महिलाओं ने अब अपना निर्जला व्रत खोलना शुरू कर दिया है।

Author नई दिल्ली | Updated: Oct 18, 2019 9:09:54 am
Karwa Chauth 2019: दिल्ली, यूपी, बिहार और राजस्थान में कैसे मनाते हैं करवाचौथ। फोटो सोर्स: सोशल मीडिया

Karwa Chauth 2019 Updates: देशभर में करवाचौथ मनाया जा रहा है। देश के कई राज्यों में चांद का दीदार हो चुका है। जगह-जगह महिलाएं मेहंदी लगवा रही हैं तो नए कपड़े भी खरीदे जा रहे हैं। इसके अलावा व्रत खोलने के लिए तरह-तरह के पकवान भी बन रहे हैं। बता दें कि राजस्थान में करवाचौथ की पूजा काफी अलग तरह से होती है। यहां के माधोपुर में एक पहाड़ी पर चौथ माता का मंदिर बना है, जहां पहुंचने के लिए 700 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं। करवाचौथ के दिन इस मंदिर में सुहागिनों का रेला लगा रहता है। बता दें कि देश के कई हिस्सों में करवाचौथ का व्रत राजमा चावल से भी खोला जाता है।

यह है करवाचौथ का मतलब: जानकारों के मुताबिक, करवाचौथ दो शब्दों से बना है। इसमें पहला शब्द करवा है, जिसका मतलब मिट्टी का बरतन होता है। वहीं, चौथ चतुर्थी तिथि के लिए इस्तेमाल किया गया है। ज्योतिषियों के मुताबिक, चंद्रमा की 27 पत्नियों में से उन्हें रोहिणी सबसे ज्यादा प्रिय है। यही वजह है कि यह संयोग करवाचौथ को खास बनाता है।

Live Blog

Highlights

    00:16 (IST)18 Oct 2019
    सुरक्षा बलों में शामिल महिलाओं ने यूं मनाया करवा चौथ का त्योहार
    20:40 (IST)17 Oct 2019
    मध्‍य प्रदेश/ छत्तीसगढ़ के शहरों में चांद इस वक्त निकलेगा

    भोपाल में चांद निकलने का समय- 8:25PMइंदौर में चांद निकलने का समय- 8:32 PM रायपुर में चांद निकलने का समय: 8: 11 PM

    19:34 (IST)17 Oct 2019
    जाने क्या है करवा चौथ का मंत्र

    करवा चौथ मंत्र 'ॐ शिवायै नमः' बता दें कि यह मंत्र माता पार्वती का माना गया है। माना जाता है कि इस मंत्र का जप करवा चौथ के दिन करने से मां पार्वती प्रसन्न होती हैं। चांद के दिखने के बाद यह मंत्र पढ़ना शुभ माना जाता है।  

    17:42 (IST)17 Oct 2019
    चंद्रमा को अर्घ्य देते हुए इन बातों का ध्यान रखें

    चांद को अर्घ्य उस चुन्नी को ओढ़कर दें जिसे आपने कथा सुनते समय पहना था। चंद्रमा को छलनी में दीया रखकर उसमें से देखें, फिर उसी छलनी से तुरंत अपने पति को देखें। छलनी में दीया रखने का रिवाज़ इसलिए बना, क्योंकि पहले के समय में जब स्ट्रीट लाइट्स नहीं हुआ करती थीं, तो महिलाएं दीये के प्रकाश से अपने पति को देखती थीं।

    16:38 (IST)17 Oct 2019
    करवा चौथ का चांद सबसे पहले कोलकाता में दिखेगा

    करवा चौथ का चांद सबसे पहले  कोलकाता में दिखेगा। यहां पर चांद शाम को 7 बजकर 42 मिनट पर दिखेगा। जबकि देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में व्रतियों को चांद सबसे अधिक इंतजार करवाएंगे।

    15:24 (IST)17 Oct 2019
    राजस्‍थान के शहरों में इतने बजे निकलेगा चांद

    जयपुर में चांद निकलने का समय- 8:29 PMजोधपुर में चांद निकलने का समय- 8:38 PMअजमेर में चांद निकलने का समय- 8: 31 PMकोटा में चांद निकलने का समय- 8: 28 PMअलवर में चांद निकलने का समय- 8: 21 PMबीकानेर में चांद निकलने का समय- 8: 33 PM

    14:41 (IST)17 Oct 2019
    बिहार में यह है चांद निकलने का समय

    पटना में चांद निकलने का समय- 7:49 PMगया में चांद निकलने का समय- 7: 21 PMमुजफ्फरपुर में चांद निकलने का समय- 7: 47 PM

    14:00 (IST)17 Oct 2019
    उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों में यह है चांद दिखने की टाइमिंग

    नोएडा/ग्रेटर नोएडा में चांद निकलने का समय- 8: 15 PMलखनऊ में चांद निकलने का समय- 8:08 PMवाराणसी में चांद निकलने का समय- 7:58 PMकानपुर में चांद निकलने का समय- 8: 09 PMगोरखपुर में चांद निकलने का समय- 8: 09 PMप्रयागरारज में चांद निकलने का समय- 8: 03 PMबरेली में चांद निकलने का समय- 8:08 PMमेरठ में चांद निकलने का समय- 8:14 PMआगरा में चांद निकलने का समय - 8: 16 PMबहराइच में चांद निकलने का समय- 8: 00 PMफैजाबाद में चांद निकलने का समय- 7: 59 PMझांसी में चांद निकलने का समय- 8: 18 PMदेहरादून में चांद निकलने का समय- 8:10 PM

    13:40 (IST)17 Oct 2019
    ऐसा है चौथ माता का मंदिर

    माधोपुर स्थित यह मंदिर राजपूताना शैली का उत्कृष्ट उदाहरण है। यह सफेद संगमरमर का बना है। इस मंदिर में चौथ माता के साथ भगवान गणेश और भैरवनाथ की भी मूर्ति है। यह मंदिर करीब 1100 फीट की ऊंचाई पर स्थित है।

    12:30 (IST)17 Oct 2019
    बिहार के कई इलाकों में नहीं मनाया जाता करवाचौथ

    देशभर में करवाचौथ की धूम मची हुई है, लेकिन बिहार के कई इलाकों में यह त्योहार नहीं मनाया जाता है। दरअसल, यहां की महिलाएं वट सावित्री व्रत रखती हैं, जो पति की लंबी उम्र की कामना के लिए रखा जाता है। इसमें वट वृक्ष की पूजा की जाती है।

    11:59 (IST)17 Oct 2019
    विदेशी भी पहुंचते हैं चौथ माता के मंदिर

    जानकार बताते हैं कि माधोपुर स्थित चौथ माता के मंदिर की मान्यता काफी ज्यादा है। यहां करवाचौथ के दिन देश-विदेश से काफी विवाहित जोड़े पहुंचते हैं और पूजा-अर्चना करके व्रत रखते हैं।

    10:51 (IST)17 Oct 2019
    700 सीढ़ी चढ़कर महिलाएं करती हैं चौथ माता की पूजा

    राजस्थान के माधोपुर में पहाड़ की चोटी पर चौथ माता का मंदिर है। इस मंदिर की स्थापना 1451 में हुई थी, जिसे राजा भीम ने बनवाया था। बता दें कि इस मंदिर तक पहुंचने के लिए 700 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं। करवाचौथ के दिन मंदिर में सुहागिनों का रेला लगा रहता है।

    10:49 (IST)17 Oct 2019
    राजस्थान में ऐसे मनाया जाता है करवाचौथ

    राजस्थान में करवाचौथ पर चौथ माता की पूजा की जाती है। चौथ माता को भगवान शिव की पत्नी पार्वती का ही रूप माना जाता है।

    10:30 (IST)17 Oct 2019
    यहां करवाचौथ पर लगता है मट्ठी का भोग

    बता दें कि देश के कई इलाकों में करवाचौथ के पूजन में मट्ठी का भोग लगाने का रिवाज है। इस दौरान ध्यान रखने वाली बात यह है कि मट्ठी नमकीन या मीठी बनाने की जगह फीकी बनाएं, क्योंकि उसकी मान्यता काफी ज्यादा होता है।

    09:23 (IST)17 Oct 2019
    पंजाब में यह है चांद निकलने की टाइमिंग

    जानकारी के मुताबिक, चंडीगढ़ में रात 8:14 बजे चांद निकलने का अनुमान है। वहीं, अमृतसर में 8:20 पर चांद का दीदार होगा।

    08:40 (IST)17 Oct 2019
    यहां राजमा चावल से खोला जाता है करवाचौथ का व्रत

    देश के कई हिस्सों में करवाचौथ का व्रत राजमा चावल या किसी भी तरह का साबुत अनाज खाकर खोला जाता है। अगर आपके यहां भी ऐसा ही रिवाज है तो इसके बारे में पता जरूर करें। इसके लिए पर‍िवार में इस र‍िवाज के बारे में बात करें और पूरी तैयारी रखें।

    08:32 (IST)17 Oct 2019
    करवाचौथ पर पतियों से मिल सकेंगी महिला कैदी

    उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में जेल में बंद 65 महिला बंदी भी अन्य महिलाओं के समान ही अपने पतियों की दीर्घायु की कामना करते हुए न केवल विधि-विधान से करवाचौथ का व्रत रख सकेंगी, बल्कि परम्परानुसार पति का चेहरा देख कर व्रत भी खोल सकेंगी। कारागार प्रशासन पतियों की मांग पर उनकी पत्नियों को यह सुविधा उपलब्ध कराने के प्रयास कर रहा है। मथुरा जिला कारागार के जेलर अरविंद पाण्डेय ने बुधवार को बताया, 'मथुरा जेल में कुल 103 सजायाफ्ता एवं विचाराधीन महिला बंदी निरुद्ध हैं। इनमें से 65 बंदियों ने अपने पतियों की याचना के अनुसार 17 अक्तूबर (गुरुवार) को करवाचौथ का व्रत रखने की सूचना कारावास प्रशासन को दी है। इसके लिए उन्होंने तैयारी भी शुरू कर दी है।'

    08:01 (IST)17 Oct 2019
    ऐसी होती है सरगी की थाली

    सरगी की थाली में नट्स, सेवईं की खीर और मठरी होती है। करवाचौथ का व्रत रखने वाली शादीशुदा महिलाएं सूर्य निकलने से पहले यह सब अच्छे से खाती हैं। इसके बाद खूब सारा पानी पीया जाता है, क्योंकि इस व्रत में चांद निकलने तक कुछ भी नहीं खाने का रिवाज है।

    07:58 (IST)17 Oct 2019
    पंजाबियों में सबसे ज्यादा मशहूर है सरगी

    करवाचौथ का व्रत शुरू करने से पहले सरगी खाने का भी रिवाज है। बता दें कि यह परंपरा पंजाबियों में सबसे ज्‍यादा मनाई जाती है। यह एक तरह की खाने की थाली होती है, जो सास अपनी बहू के लिए लेकर आती है। इसमें वह खाना होता है, जो सुबह जल्दी उठकर सूर्य निकलने से पहले खाया जाता है।

    07:55 (IST)17 Oct 2019
    पहली बार व्रत रखने वाली महिलाओं को मिलेगा लाभ

    ज्योतिषियों के मुताबिक, इस बार करवाचौथ का लाभ उन महिलाओं को सबसे ज्यादा मिलेगा, ​जो पहली बार यह व्रत रख रही हैं। बता दें कि करवाचौथ की पूजा के दौरान महिलाएं पूरे दिन निर्जल व्रत रखती हैं और रात को छलनी से चांद देखने के बाद पति का चेहरा देख उनके हाथों से जल ग्रहण करके अपना व्रत पूरा करती हैं।

    Next Stories
    1 Karwa Chauth 2019, Rashifal, Horoscope, Numerology Result: करवा चौथ पर अपने पति या पत्नी के नाम-नंबर से जानिए लव लाइफ और पर्सनैलिटी
    2 Numerology Number 33 Personality, Life Path, Career, Business: कैसे होते हैं नंबर 33 वाले और कैसी होती है उनकी लाइफ?
    3 Numerology Number 22 Personality, Life Path, Career, Business: कैसे होते हैं नंबर 22 वाले और कैसी होती है उनकी लाइफ?
    जस्‍ट नाउ
    X