ताज़ा खबर
 

वजन को मेंटेन रखने के लिए ये एक्सरसाइज करती हैं कंगना रनौत, आप भी कर सकते हैं ट्राय

कंगना रनौत अपने वजन को मेटेंन रखने के लिए और फिट रहने के लिए कुछ एक्सरसाइज का अभ्यास करती हैं। इन एक्सरसाइज की मदद से उनकी हड्डियों और मांसपेशियों को भी मजबूती और ताकत मिलती है।

Author December 20, 2018 12:30 PM
कंगना अपनी ट्रेनर के साथ एक्सरसाइज कर रही हैं (Source: Instagram)

फिट रहना हर किसी को पसंद होता है। हर सेलिब्रिटी अपने वजन को लेकर काफी चिंतित रहता है। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि उन्हें फिल्म करने के लिए फिट रहने की जरूरत होती है। उसी तरह कंगना रनौत भी अपने वजन को लेकर काफी सतर्क रहती हैं और अपने वजन को नियंत्रित रखने का हर प्रयास करती हैं। कंगना कई ऐसे एक्सरसाइज करती हैं जो ना सिर्फ उनके वजन को नियंत्रित रखता है बल्कि शरीर को भी टोन्ड रखता है। इन एक्सरसाइज का नियमित अभ्यास करने से कंगना को ऊर्जा मिलती है और उनकी मांसपेशियों में भी ताकत और मजबूती आती है। आइए जानते हैं कंगना रनौत वजन को मेंटेन रखने के लिए क्या करती हैं।

पिलेट्स और रेसिस्टेंस वर्कआउट 
कंगना से लेकर बॉलीवुड की लगभग हर सेलिब्रिटी पिलेट्स का अभ्यास करती है। कंगना रनौत अपने ट्रेनर नम्रता पुरोहित की मदद से पिलेट्स का अभ्यास करती है दिख रही हैं। यह एक एक्सपर्ट हैं और इन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर इस वीडियो को शेयर किया है।

कंगना और उनकी ट्रेनर रेसिस्टेंस वर्कआउट करते भी दिख रही हैं जिसमें उन दोनों ने अपने कमर को स्लिंग से बांध रखा है। यह स्लिंग आपको पीछे की तरफ खिंचता है, इस वजह से पहनने वाले को अधिक जोर लगाने की जरूरत पड़ती है ताकि शरीर की हर एक मांसपेशियां शामिल हो सके। यह एक्सरसाइज बेहद प्रभावी होता है।

रेसिस्टेंस ट्रेनिंग के लाभ

ऊर्जा के लिए
रेसिस्टेंस ट्रेनिंग वर्कआउट करने के बाद और पहले ऊर्जा को बर्न करने में मदद करता है ताकि मांसपेशियों को ऊर्जा मिल सके क्योंकि वर्कआउट के दौरान मांसपेशियों को अधिक ऊर्जा की जरूरत होती है।

मिनरल कॉन्टेंट को बढ़ाता है
हड्डियों की ताकत और द्रव्यमान को बढ़ाने के लिए, हड्डियों को मॉडलिंग और पुन: मॉडलिंग की आवश्यकता होती है और इसके लिए एक मेकैनिकल फोर्स आवश्यक है। रेसिस्टेंस ट्रेनिंग मांसपेशियों और हड्डियों को पर्याप्त बोन मिनरल कॉन्टेंट प्रदान करता है।

मेटाबॉलिक रेट बढ़ाता है
जब अधिक ऊर्जा बर्न हो जाती है, तो मेटाबॉलिक रेट में वृद्धि होती है। एक उच्च चयापचय दर का मतलब है कि आप अधिक खाना खा सकते हैं और फिर भी वजन बनाए रख सकते हैं। रेसिस्टेंस ट्रेनिंग अधिक से अधिक ऊर्जा बर्न करने में मदद करता है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App