शादी से पहले राजकुमारी माधवी को देखना चाहते थे माधव राव सिंधिया, इस वजह से परिवार ने कर दिया था मना

उन दिनों माधव राव सिंधिया की ये मांग अजीब थी, क्योंकि राज परिवारों में शादी से पहले दूल्हन को देखने की इजाजत नहीं थी।

Madhav Rao Scindia,Vijayaraje Scindia, Rajlaxmi
मां विजयाराजे सिंधिया के साथ माधव राव सिंधिया।( File Photo- Express Archive)

कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया को हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी कैबिनेट शामिल किया और नागरिक उड्डयन जैसे भारी-भरकम मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी है। सिंधिया परिवार पर नजर डालें जितना दिलचस्प उनका सियासी सफर रहा है, निजी जिंदगी भी उतनी ही दिलचस्प रही है।

शादी से पहले पत्नी को देखना चाहते थे माधवराव: ज्योतिरादित्य के पिता माधव राव की सियासी और निजी जिंदगी बेहद दिलचस्प थी। जनसंघ से सियासत की सीढ़ियां चढ़ने वाले माधव राव बाद में कांग्रेस में आ गए। जब उनकी शादी की बात चली और मां विजयाराजे सिंधिया ने राज्यलक्ष्मी (माधवी राजे) को पसंद किया तो माधव राव ने कहा था कि वो अपने होने वाली पत्नी से शादी से पहले मिलना और देखना चाहते हैं।

उन दिनों माधव राव सिंधिया की ये मांग अजीब थी, क्योंकि राज परिवारों में शादी से पहले दूल्हन को देखने की इजाजत नहीं थी। वरिष्ठ पत्रकार वीर सांघवी और नमिता भंडारे अपनी किताब ‘माधव राव सिंधिया: ए लाइफ’ में इस किस्से का जिक्र करते हुए लिखते हैं कि माधव राव के लिए नेपाल के राजघराने से भी रिश्ता आया था, लेकिन माधव राव की इच्छा सुनकर रिश्ता मना हो गया। इसके बाद उन्हें कई और राजकुमारियों की तस्वीरें दिखाई गईं, लेकिन उन्हें कोई लड़की पसंद ही नहीं आ रही थी।

दिल्ली में धूमधाम से हुई थी शादी: इसी बीच जब माधव राव के सामने किरण राज्यलक्ष्मी (माधवी राजे) की फोटो आई तो उन्होंने बिना कुछ सोचे-समझे हामी भर दी। माधव राव, राज्यलक्ष्मी को भी शादी से पहले देखना चाहते थे, लेकिन उनका परिवार इस पर बिल्कुल भी सहमत नहीं था। बाद में उन्हें राज्यलक्ष्मी को बिना देखे ही शादी करनी पड़ी। माधव राव और राज्यलक्ष्मी की शादी दिल्ली में बेहद शानो-शौकत से हुई थी। इसमें देश-विदेश के तमाम मेहमान शामिल हुए थे।

बेटे ज्योतिरादित्य ने भी चौंकाया था: माधव राव सिंधिया के बेटे ज्योतिरादित्य ने जब राजकुमारी प्रियदर्शनी से शादी की थी तो सब हैरान रह गए थे। प्रियदर्शनी और ज्योतिरादित्य शादी से करीब तीन साल पहले से एक-दूसरे को जानते थे। दोनों पहली बार साल 1991 में दिल्ली में एक कार्यक्रम में मिले थे। ज्योतिरादित्य ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वह उस दौरान अमेरिका में नौकरी करते थे जबकि प्रियदर्शनी मुंबई में रहती थीं।

ज्योतिरादित्य ने प्रियदर्शनी को पहली मुलाकात में ही पसंद कर लिया था। दोनों की मुलाकात परिवार की इजाजत से हो रही थी, लेकिन उन्होंने परिवार को ये बिल्कुल भी नहीं बताया था कि दोनों एक-दूसरे को पसंद करने लगे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया था कि उन्होंने शादी से सिर्फ आठ महीने पहले ही परिवार को इस बारे में जानकारी दी थी। फिर साल 1994 में दोनों की शादी हुई।

आपको बता दें कि प्रियदर्शनी और ज्योतिरादित्य के दो बच्चे, महाआर्यमन सिंधिया और अनन्या राजे सिंधिया हैं। उनकी पत्नी प्रियदर्शनी फिलहाल राजनीति से दूर ही रहना पसंद करती हैं। साल 2012 में फेमिना ने उन्हें देश की 50 सबसे खूबसूरत महिलाओं की लिस्ट में शामिल किया था।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट