मानो या ना मानो: बस एक छींक तोड़ सकती है हड्डियां!

यह सुनने में बहुत अजीब लगता है ना कि कैसे छींकने से हड्डियां टूट सकती हैं… यह खबर सौ प्रतिशत सही है। रिपोर्ट के मुताबिक झारखंड में रहने वाली एक बच्ची जो सिर्फ चार साल की है अभी वह 31 बार इस दर्द को झेल चुकी है। अब आप सोच रहे होंगे कैसे… दरअसल, बच्ची की हड्डियां 31 बार टूट चुकी हैं।

झारखंड, ऑस्टियोजेनेसिस इम्परफेक्टा, अजब गजब ख़बर, Jharkhand, odd news, weird news, osteogenesis
छींकने से टूट जाती हैं हड्डियां!

यह सुनने में बहुत अजीब लगता है ना कि कैसे छींकने से हड्डियां टूट सकती हैं… यह खबर सौ प्रतिशत सही है। रिपोर्ट के मुताबिक झारखंड में रहने वाली एक बच्ची जो सिर्फ चार साल की है अभी वह 31 बार इस दर्द को झेल चुकी है। अब आप सोच रहे होंगे कैसे… दरअसल, बच्ची की हड्डियां 31 बार टूट चुकी हैं।

झारखंड में रहने वाली इस बच्ची को खांसने, छींकने, चलने या धक्का लगने पर उसकी हड्डियां टूट जाती हैं। यहां तक कि अगर कोई उसे अचानक गोद में उठा ले तो उसे इस बात से भी तकलीफ हो जाती है।
ख़बर है कि बच्ची के पिता को भी यही समस्या है। यह एक बीमारी है जिसे ऑस्टियोजेनेसिस इम्परफेक्टा के नाम से जाना जाता है।

रिपोर्ट को मुताबिक यह बीमारी एक करोड़ लोगों में से .1 प्रतिशत लोगों को होती है। खास बात यह है कि बीमारी से पीड़ित व्यक्ति आम लोगों की तरह जिंदगी बिताते हैं जो काफी दर्दनाक होता है।

इस बीमारी को लेकर डॉक्टरों का कहना है कि यह समस्या ज्यादातर जेनेटिक होती है। यदि खानदान में या पिता को ऐसी कोई बीमारी हो तो 85 प्रतिशत इस बात की आशंका होती है कि बच्चों को भी यह बीमारी हो जाए। 15 प्रतिशत मामलों में यह समस्या अपनेआप भी हो जाती है। शरीर में बोन मैरो का विकास कुदरती देन है ऐसा नहीं होने पर यह समस्या हो जाती है।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट