ताज़ा खबर
 

Janmashtami 2019 Speech, Essay: जन्माष्टमी पर तैयार करें निबंध/स्पीच और नाटक स्क्रिप्ट

Janmashtami 2019 Date, Speech, Essay, Nibandh for School Teachers, Students: कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 23, 24 अगस्त को देशभर में मनाया जाएगा। जितना जरूरी ये जानना है कि आखिर जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त कब है उतना ही ये जानना भी जरूरी है कि इस त्योहार का पौराणिक और वास्तविक महत्व क्या है।

Author Updated: Aug 22, 2019 7:58 pm
Janmashtami 2019: जन्माष्टमी के यहां से ले निबंध (Designed by Nidhi Mishra/The Indian Express)

Janmashtami 2019 Speech, Essay: 23 अगस्त और 24 अगस्त को देशभर में कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाएगा। स्कूलों में भी कार्यक्रम हो रहे हैं। कई अन्य जगहों पर भी कृष्ण लीला के मंचन की तैयारी चल रही है। बाल गोपाल का मंचन, कृष्ण के माखन चोर की अदाकारी ये स्टेज परफार्मेंस के फेवरेट माने जाते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि अगर आपको स्पीच देनी है, निबंध लिखना है या स्टेज परफार्मेंस के लिए स्क्रिप्ट चाहिए तो आप हमारे लाइव ब्लॉग से इसकी तैयारी कर सकते हैं।

कृष्ण जन्माष्टमी पर निबंध/स्पीच

भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिन को पूरे देश में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन को लोग भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिन के रूप में मनाते हैं। इस पर्व को रक्षाबंधन के बाद भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। भगवान श्रीकृष्ण वासुदेव और देवकी के 8वें पुत्र थे। मथुरा में एक राजा हुआ करता था जिसका नाम कंस था। राजा कंस एक बहुत अत्याचारी इंसान था। उसके अत्याचार से हर कोई परेशान रहता था और वह दिन-प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे था।

Live Blog

Highlights

    19:58 (IST)22 Aug 2019
    क्यों मनाते हैं जन्माष्टमी, निबंध में ऐसे लिखें...

    शास्त्रों की मानें तो भगवान कृष्ण रोहिणी नक्षत्र में अष्टमी तिथि को पैदा हुए थे। इस दिन चंद्रमा वृष राशि और सूर्य सिंह राशि में प्रवेश किए हुए था। ऐसे में इस काल पर श्री कृष्ण के जन्म की खुशी मनाई जाती है। ऐसे में कृष्ण भक्त भगवान के लिए मंगल गान गाते हैं। उन्हें भोग लगाने से पहले माखन मिश्री खिलाते हैं। फिर यही प्रसाद भक्तों को बांटा जाता है।

    14:43 (IST)22 Aug 2019
    निबंध: जानिए कैसे हुआ मथुरा में कृष्ण का जन्म और कैसे पहुंचे यशोदा की गोद में

    द्वापर युग में जब राक्षसों का आतंक बढ़ गया था तो भगवान विष्णु ने श्री कृष्ण के रूप में धरती पर जन्म लिया। उनका जन्म भी बेहद रोचक किस्से जैसा है। देवकी और वासुदेव को मथुरा के अहंकारी राजा कंस ने सिर्फ इसलिए जेल में डाल दिया था क्योंकि उसके लिए ये भविष्यवाणी की गई थी कि उसकी बहन देवकी के कोख से जन्म लेने वाली संतान ही कंस का नाश करेगी।

    बस इसी डर के कारण कंस ने देवकी और वासुदेव को जेल में ही बंद कर दिया था और उनसे जन्म ​लेने वाली हर संतान को वह मार देता था। लेकिन जब कृष्ण का जन्म होने वाला था तो जेल के सभी प्रहरी घोर निद्रा में चले गए और आसमान में भारी बारिश होने लगी। भाद्रपद कृष्ण पक्ष की अष्टमी को जब कान्हा का जन्म हुआ तो वासुदेव उन्हें कंस से बचाने के लिए एक सूप में लेकर गोकुल में मित्र नंद और यशोदा को सौंप आए। बस यही थी कृष्ण के पैदा होने की कहानी। उसी दिन से कृष्ण के जन्म को जन्माष्टमी के तौर पर पूरी दुनिया मनाती है।

    14:00 (IST)22 Aug 2019
    जन्माष्टमी पर निबंध

    श्रीकृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी का पूरे भारत वर्ष में विशेष महत्‍व है. यह हिन्‍दुओं के प्रमुख त्‍योहारों में से एक है। ऐसा माना जाता है कि सृष्टि के पालनहार श्री हरि विष्‍णु ने श्रीकृष्‍ण के रूप में आठवां अवतार लिया था। देश के सभी राज्‍य अलग-अलग तरीके से इस महापर्व को मनाते हैं।

    13:27 (IST)22 Aug 2019
    जन्माष्टमी से जुड़ी बातें

    जन्माष्टमी के मौके पर स्कूलों में बच्चे निबंध बोलते हैं। इसके लिए उनके माता-पिता से लेकर उनके अध्यापक तक निबंध की तैयारी करवाते हैं। कई तो अपने मन से निबंध लिखवाते हैं तो वहीं कई लोग ऐसे भी होते हैं जो सोशल मीडिया के जरिए अपने बच्चों को जन्माष्टमी के पर्व पर निबंध तैयार करवाते हैं।

    13:00 (IST)22 Aug 2019
    जन्माष्टमी पर निबंध

    लोग उलझन में हैं कि जन्‍माष्‍टमी 23 अगस्‍त या फिर 24 अगस्‍त को मनाई जाए। दरअसल, मान्‍यता है कि भगवान श्रीकृष्‍ण का जन्‍म भाद्रपद यानी कि भादो माह की कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। अगर अष्‍टमी तिथि के हिसाब से देखें तो 23 अगस्‍त को जन्‍माष्‍टमी होनी चाहिए, लेकिन अगर रोहिणी नक्षत्र को मानें तो फिर 24 अगस्‍त को कृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी होनी चाहिए।

    12:39 (IST)22 Aug 2019
    जन्माष्टमी के निबंध

    भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिन को पूरे देश में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन को लोग भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिन के रूप में मनाते हैं। इस पर्व को रक्षाबंधन के बाद भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। भगवान श्रीकृष्ण वासुदेव  और देवकी के 8वें पुत्र थे। मथुरा में एक राजा हुआ करता था जिसका नाम कंस था। राजा कंस एक बहुत अत्याचारी इंसान था। उसके अत्याचार से हर कोई परेशान रहता था और वह दिन-प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे था।

    12:24 (IST)22 Aug 2019
    जन्माष्टमी पर निबंध

    जन्माष्टमी का त्योहार भगवान कृष्ण के जन्मदिन के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है। लोग इस पर्व को पूरी आस्था और श्रद्धा के साथ मनाते हैं। जन्माष्टमी के पर्व को ना सिर्फ भारत में बल्कि विदेशों में रहने वाले भारतीय भी पूरे उल्लास से मनाते हैं। भगवान कृष्ण अपनी नटखट हरकतों से लोगों के दिल में बसते हैं।

    12:09 (IST)22 Aug 2019
    जन्माष्टमी पर यहां से लें निबंध

    जन्‍माष्‍टमी (Janmashtami) हिन्‍दुओं का प्रमुख त्‍योहार है. हिन्‍दू मान्‍यताओं के अनुसार सृष्टि के पालनहार श्री हरि विष्‍णु के आठवें अवतार नटखट नंदलाल यानी कि श्रीकृष्‍ण के जन्‍मदिन को श्रीकृष्‍ण जयंती (Shri Krishna Jayanti) या जन्‍माष्‍टमी के रूप में मनाया जाता है। हालांकि इस बार कृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी (Krishna Janmashtami) की तारीख को लेकर लोगों में काफी असमंजस में हैं।

    Next Stories
    1 Rajiv Gandhi Birthday Wishes,Quotes,Photos: पायलट, पॉलिटिशियन और प्रधानमंत्री: राजीव गांधी के ये 10 विचार आज भी प्रासंगिक हैं
    2 Motivational shayari, messages, quotes and SMS: अपनों को भेजें ये मोटिवेशनल शायरी, मैसेज, कोट्स और करें विश
    3 600 की साड़ी में भी कंगना रनौत लगी स्टनिंग, बहन ने किया ट्वीट