अपने वक्तव्य में जोड़ें ये तथ्य और स्वतंत्रता दिवस निबंध व भाषण को बनाएं इंप्रेसिव

15 अगस्त 1947 को भारत एक स्वतंत्र देश बनकर उभरा। इस दिन दिल्ली के लाल किले में पंडित जवाहर लाल नेहरू ने भारत के झंडे को फहराया था और अपना चर्चित भाषण “ट्रिस्ट विद डेस्टिनी” दिया था।

independence day essay, independence day speech for teachers, independence day 2020 india
Independence Day 2020: स्वतंत्रता दिवस के लिए यहां से लें स्पीच

लंबे संघर्ष के बाद 15 अगस्त, 1947 को भारत को ब्रिटिश शासन की गुलामी से मुक्ति मिली थी। दुनिया के फलक पर भारत का एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में जन्म हुआ। स्वतंत्रता की वर्षगांठ को पूरे देश में उत्साहपूर्वक मनाया जाता है। मुख्य कार्यक्रम राजधानी दिल्ली में होता है, जहां प्रधानमंत्री लाल किले में भारत के गौरव के प्रतीक तिरंगे को फहराते हैं और देश को संबोधित करते हैं।

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देशभर में उन योद्धाओं जैसे- महात्मा गांधी, सुभाष चंद्रबोस, मंगल पांडे, भगत सिंह, जवाहरलाल नेहरू, सरदार वल्लभ भाई पटेल आदि को भी याद किया जाता है, जिनके अथक प्रयासों और बलिदान के बूते हमें आजादी मिली थी। इस दिन स्कूल-कॉलेजों और दफ्तरों में विशेष कार्यक्रमों का आयोजन भी होता है। हालांकि इस बार कोरोना वायरस के चलते तमाम पाबंदियां लगाई गई हैं। आइये इस मौके पर देखें कुछ ऐसे स्पीच, जिनके जरिये आप स्वतंत्रता दिवस पर अमर शहीदों को याद कर सकते हैं और उन्हें श्रद्धांजलि दे सकते हैं…

Independence Day 2020: जानिये क्यों मनाते हैं स्वतंत्रता दिवस?

स्पीच: भारत 15 अगस्त को आजाद जरूर हो गया लेकिन उस समय हमारा अपना कोई राष्ट्रगान नहीं था। हालांकि रवींद्रनाथ टैगोर ‘जन-गण-मन’ 1911 में ही लिख चुके थे, लेकिन यह राष्ट्रगान 1950 में ही बन पाया। लार्ड माउंटबेटेन ही थे जिन्‍होंने निजी तौर पर भारत की स्‍वतंत्रता के लिए 15 अगस्‍त का दिन तय किया क्‍योंकि इस दिन को वह अपने कार्यकाल के लिए बेहद सौभाग्‍यशाली मानते थे। Happy Independence Day 2020 Wishes Images, Quotes, Status: ‘चलो फिर से खुद को जगाते हैं…’ इन मैसेज को शेयर कर दोस्तों को दें स्वतंत्रता दिवस की बधाई

15 अगस्त को हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी जाती और उनका सम्मान किया जाता है। इस दिन देशभक्ति के गीत और नारे लगाये जाते हैं। वहीं कुछ लोग पतंग उड़ा कर आजादी का पर्व मनाते है। कई वर्षों के विद्रोह के बाद ही हमने स्वतंत्रता प्राप्त की थी और 15 अगस्त 1947 को भारत एक स्वतंत्र देश बनकर उभरा। इस दिन दिल्ली के लाल किले में पंडित जवाहर लाल नेहरू ने भारत के झंडे को फहराया था और अपना चर्चित भाषण “ट्रिस्ट विद डेस्टिनी” दिया था।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
एक मंदिर ऐसा भी: जहां रोज होगी रावण की पूजा
अपडेट