गर्मियों में स्किन केयर रूटीन में जरूर शामिल करें ये विटामिन, पिंपल्स से लेकर पिगमेंटेशन से मिलेगी निजात

Vitamin-E for Skincare: विटामिन-ई चेहरे पर एक एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है जो न केवल पिंपल्स के खतरे को कम करते हैं बल्कि इससे चेहरे पर प्राकृतिक निखार भी आता है

skin care, skincare tips, summer skincare tips, vitamin e for skinसूरज की किरणों के संपर्क में आने से सन डैमेज का खतरा रहता है

Skincare Tips for Summer: यूं तो धूल-मिट्टी, प्रदूषण और गंदगी साल भर स्किन को प्रभावित करती है, लेकिन गर्मियों में त्वचा पर सबसे ज्यादा बुरा असर पड़ता है। इस मौसम में तेज धूप के साथ ही सूर्य की अल्ट्रा-वायोलेट किरणें त्वचा पर सन बर्न, सन डैमेज, डार्क स्पॉट्स और टैन की समस्या हो जाती है। निखरी त्वचा पाना हर किसी की चाहत होती है। इसके लिए लोग घंटों ब्यूटी पार्लर में बिता देते हैं लेकिन इससे स्किन और ज्यादा खराब ही हो जाती है। ऐसे में गर्मियों के मौसम में स्किन केयर रूटीन में कुछ बदलाव करना भी जरूरी हो जाता है।

विटामिन ई है चेहरे के लिए जरूरी: एक नामी जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक विटामिन ई एक महत्वपूर्ण फैट में घुलनशील एंटीऑक्सीडेंट है जिसका इस्तेमाल स्किन के लिए पिछले कई सालों से हो रहा है। इसमें एंटी-ट्यूमोरजेनिक और फोटोप्रोटेक्टिव गुण होते हैं जो त्वचा को त्वचा को सोलर रेडिएशन के कारण होने वाले हानिकारक प्रभावों से दूर रखने में मददगार है।

गर्मियों में विटामिन-ई के फायदे: सूरज की किरणों के संपर्क में आने से सन डैमेज का खतरा रहता है। स्किन केयर रूटीन में विटामिन-ई को शामिल करने से ये परेशानी कम होती है। साथ ही, हाइपर पिगमेंटेशन, पिंपल्स और डार्क स्पॉट्स को हटाने में भी ये मददगार है। 40 के बाद कैसे रखें महिलाएं अपनी स्किन का ख्याल, जानिये

त्वचा के लिए विटामिन ई को लोग 3 तरीकों से अपनी स्किन केयर रूटीन में शामिल कर सकते हैं। आइए जानते हैं विस्तार से –

फेस मास्क के जैसे: हर सप्ताह अपने फेस मास्क में विटामिन ई के इस्तेमाल से चेहरे पर नया निखार आएगा। कुछ मात्रा में मुल्तानी मिट्टी और मलाई लें, अब इसमें 5 से 8 बूंद विटामिन ई ऑयल मिलाकर चेहरे पर लगाएं। इससे चेहरे ग्लो आने के साथ ही मॉइश्चर भी बना रहेगा। जानें पिंपल्स दूर करने के घरेलू उपाय

बतौर स्किन सीरम: विटामिन-ई चेहरे पर एक एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है जो न केवल पिंपल्स के खतरे को कम करते हैं बल्कि इससे चेहरे पर प्राकृतिक निखार भी आता है। साथ ही, फाइन लाइंस और हाइपरपिगमेंटेशन की परेशानी भी कम होती है। चेहरे पर टोनर लगाने के बाद विटामिन ई की 4-5 बूंदों को चेहरे पर डैब करें। फिर मॉइश्चराइजर लगाएं। रात को सोने से पहले इसका इस्तेमाल ज्यादा फायदेमंद होगा। इन 3 जूस को पीने से चेहरे पर बना रहेगा निखार

मॉइश्चराइजर के रूप में: स्किन एक्सपर्ट्स के अनुसार मॉइश्चराइजर में जब विटामिन-ई मिलाया जाता है तो वो और भी ज्यादा असरदार हो जाता है। इसमें हाइड्रेटिंग प्रॉपर्टीज होती हैं जो स्किन को स्मूद बनाए रखता है। अपने मॉइश्चाइजर में 3 से 4 बूंदें विटामिन ई की मिलाएं।

Next Stories
1 जानिये कौन हैं ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के पत्रकार पोपटलाल की पत्नी, लाइमलाइट से रहती हैं बिल्कुल दूर
2 Weight Loss के चक्कर में खा रहे हैं ज्यादा प्रोटीन तो हो जाएं सावधान, बढ़ता है हार्ट अटैक का खतरा
3 Fashion Tips: गर्मियों के मौसम में सनस्क्रीन लगाना क्यों है जरूरी? इस तरह करें त्वचा के हिसाब से क्रीम का चुनाव
यह पढ़ा क्या?
X