scorecardresearch

Weight Loss: मोटापा कंट्रोल करने में बेहद असरदार है इसबगोल की भूसी, जानिए फायदे

रात को सोने से पहले एक चम्मच इसबगोल की भूसी का सेवन गर्म पानी या फिर गर्म दूध के साथ करने से कब्ज से निजात मिलती है।

weight loss,weight loss ayurvedic treatment, Isabgol Benefits for Mouth Ulcers Treatment
इसबगोल का प्रयोग करने से चर्बी घटती है। यह अपने वजन से 14 गुणा अधिक पानी सोखता है और पाचन को ठीक रखता है। photo-freepik

बढ़ता मोटापा बेहद परेशान करता है। मोटापा को कंट्रोल करने के लिए जितना जरूरी डाइट पर कंट्रोल और वर्कआउट है उतना ही जरूरी देसी नुस्खों का इस्तेमाल भी है। कुछ देसी नुस्खें इतने असरदार होते हैं जिनका सेवन करके बरसों पुरानी बीमारियों का उपचार किया जा सकता है। मोटापा एक ऐसी परेशानी है जिसे कंट्रोल नहीं किया जाए तो कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो सकती है। आयुर्वेद के मुताबिक इसबगोल का सेवन सदियों से मोटापा को कम करने में किया जा रहा है।

कैसे मोटापा कम करता है इसबगोल: आयुर्वेद के मुताबिक इसबगोल भूसी का इस्तेमाल कई स्वास्थ्य समस्याएं दूर करने में किया जा सकता है। इसबगोल का उल्लेख प्राचीन आयुर्वेद ग्रंथों में मिलता है। 10वीं शताब्दी के पहले से अरबी हकीमों द्वारा दवा के रूप में इसबगोल का प्रयोग किया जाता था। ठंडी तासीर का इसबगोल तेजी से वजन को कंट्रोल करता है। अघुलनशील और घुलनशील फाइबर से भरपूर पाचन को ठीक रखता है और स्टूल पास करने में आसानी करता है। ये पानी को अवशोषित करके, हमारे पेट में एक परत को व्यवस्थित करता है जिससे हमें लम्बे समय तक भूख नहीं लगती।

चर्बी को घटाता है: इसबगोल का प्रयोग करने से चर्बी घटती है। यह अपने वजन से 14 गुणा अधिक पानी सोखता है और पाचन को ठीक रखता है। फाइबर का बेस्ट स्रोत इसबगोल में कम कैलोरी होती है जो मोटापा तेजी से कम करती है।

भूख को कंट्रोल करती है: भूसी का जब पानी के साथ सेवन किया जाता है, तो उसका आकार दस गुना तक बढ़ जाता है। जिससे लंबे समय तक पेट भरा हुआ महसूस होता है। इसे खाने से भूख जल्दी नहीं लगती।

कब्ज का उपचार करता है: इसबगोल का इस्तेमाल करने से कब्ज से राहत मिलती है। रात को सोने से पहले एक चम्मच इसबगोल की भूसी का सेवन गर्म पानी या फिर गर्म दूध के साथ करने से कब्ज से निजात मिलती है।

मुंह के छालों का करती है उपचार: मुंह के छालों से परेशान हैं तो इसबगोल का इस्तेमाल कीजिए। ईसबगोल के घोल से कुल्ला करने से मुंह के छाले की बीमारी में फायदा होता है।

यूरिन इंफेक्शन का उपचार करती है: चार चम्मच इसबगोल भूसी को 1 गिलास पानी में भिगो दें और थोड़ी देर बाद उसमें मिश्री डालकर पीने से यूरिन इंफेक्शन से निजात मिलती है। इसका सेवन करने से पेशाब की जलन दूर होती है और पेशाब ठीक आता है।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.