scorecardresearch

कोरोना काल में खांसी से परेशान हैं तो काम आएंगे ये आयुर्वेदिक टिप्स

सूखी खांसी से परेशान हैं और आयुर्वेदिक उपचार करना चाहते हैं तो तुलसी का सेवन करें।

cough
आप भी खांसी का आयुर्वेदिक तरीके से इलाज करना चाहते हैं तो इन खास हर्ब्स का सेवन करें। फोटो-गेटी इंडियन एक्सप्रेस

सर्दी के मौसम में अक्सर खांसी परेशान करती है। कोरोनाकाल में खांसी बैक्टीरियल इन्फेक्शन, एलर्जी, साइनस या सर्दी के कारण हो सकती है। खांसी को अक्सर हम लोग नज़रअंदाज कर देते हैं जिसका नतीजा बीमारी बढ़ने लगती है। खांसी दो तरह की होती है सूखी खांसी और गीली खांसी। सूखी खांसी वो होती है जिसमें कफ या बलगम नहीं होता। यह खांसी सामान्य सर्दी जुकाम या फिर अस्थमा की वजह से भी हो सकती है। सूखी खांसी होने का सबसे बड़ा कारण हवा में प्रदूषण और एलर्जी हो सकता है। जबकि गीली खांसी में मुंह से खांसी के साथ बलगम भी आता है।

दोनों तरह की खांसी के उपचार का तरीका एक दूसरे से बिल्कुल अलग है, लेकिन अक्सर लोग दोनों तरह की खांसी से निजात पाने के लिए एक ही तरह के नुस्खें आजमाते हैं, जो बिल्कुल गलत है। दोनों तरह की खांसी का एक तरह से इलाज करने पर आपको खांसी से निजात नहीं मिलती और खांसी क्रोनिक खांसी बन जाती है।

आप भी कोरोनाकाल में खांसी से परेशान हैं तो उसका तुरंत उपचार कीजिए वरना परेशानी बढ़ सकती है। आयुर्वेद में सूखी और गीली खांसी का सफल इलाज मौजूद है। आप भी खांसी का आयुर्वेदिक तरीके से इलाज करना चाहते हैं तो इन खास हर्ब्स का सेवन करें।


सूखी खांसी का इलाज: सूखी खांसी से परेशान हैं और आयुर्वेदिक उपचार करना चाहते हैं तो तुलसी का सेवन करें। औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी को जड़ी-बूटियों की रानी कहा जाता है। सूखी खांसी से निजात पाने के लिए आप तुलसी का इस्तेमाल उसकी चाय या काढ़ा बनाकर कर सकते हैं।
तुलसी कफ से निजात दिलाती है। इसका सेवन करने से एलर्जी, अस्थमा या फेफड़ों की बीमारी के कारण होने वाली खांसी से भी निजात मिलती है।

तुलसी का सेवन करने से ब्लड में शुगर का स्तर, ब्लड प्रेशर और ब्लड लिपिड के स्तर में सुधार होता है। आप तुलकी का सेवन उसकी चाय बनाकर करना चाहते हैं तो तुलसी के 6-7 पत्तों को एक गिलास पानी में भिगोकर 15 मिनट तक उबालें और उसका गुनगुना ही सेवन करें। तुलसी की चाय आपको सूखी खांसी से निजात दिलाएगी।

गीली खांसी का उपचार: खांसी के साथ बलगम आता है तो वो गीली खांसी है। गीली खांसी का आयुर्वेदिक उपचार करना चाहते हैं तो अदरक का सेवन करें। औषधीय गुणों से भरपूर अदरक में कई सक्रिय यौगिक होते हैं जिनमें एंटीऑक्सिडेंट गुण मौजूद होते हैं जो खांसी का उपचार करने में असरदार है।

अदरक में मौजूद सक्रिय तत्व गले की मांसपेशियों को आराम देते हैं। अदरक का सेवन करने से सामान्य सर्दी या फ्लू के कारण होने वाली खांसी में सुधार होता है। आप करीब 30 ग्राम अदरक को स्लाइस में काटकर गर्म पानी में मिलाकर कम से कम 5 मिनट तक पकाएं। इस अदरक की चाय का सेवन आप गुनगुना ही करें आपको गीली खांसी से निजात मिलेगी।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट