ताज़ा खबर
 

प्रेग्नेंसी के दौरान अधिक थकावट महसूस हो तो जरूर कराएं थायराइड टेस्ट, जानिये कैसे करें बचाव

यदि आपको बहुत अधिक थकावट महसूस होती है तो थायराइड टेस्ट जरूर करवा लें। कोई भी लापरवाही स्वास्थ्य और गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए हानिकारक साबित हो सकती है।

thyroid pregnancy, thyroid pregnancy guidelines, thyroid pregnancy testप्रेग्नेंसी के दौरान इन बातों का रखें खास ध्यान

थायराइड मेटाबॉलिज्म से जुड़ी बीमारी है, जिसमें थायराइड हार्मोन का स्राव असंतुलित हो जाता है और शरीर के अंदर की कई क्रियाओं में भी गड़बड़ी हो जाती है। ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान अगर यह समस्या होती है तो यह मां और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है। इस बीमारी में वजन अचानक से बढ़ने लगता है और व्यक्ति रोज के कामकाजों में रुचि नहीं लेता है। इसके अलावा यदि आपको बहुत अधिक थकावट महसूस होती है तो थायराइड टेस्ट जरूर करवा लें। कोई भी लापरवाही स्वास्थ्य और गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए हानिकारक साबित हो सकती है। आइए जानते हैं प्रेग्नेंसी के दौरान थायराइड की समस्या हो रही है तो क्या करें-

प्रेग्नेंसी के दौरान थायराइड कितना होना चाहिए?
– पहली तिमाही: 0.1 कम होता है और 2.5 अधिक होता है
– दूसरी तिमाही: 0.2 कम होता है और 3.0 अधिक होता है
– तीसरी तिमाही: 0.3 कम होता है और 3.0 अधिक होता है

प्रेग्नेंसी के दौरान क्यों होता है हाइपरथायराइडिज्म: हाइपरथायरायडिज्म आमतौर पर ग्रेव्स डिजीज के कारण होता है जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली अपनी कोशिकाओं और अंगों की रक्षा करने के बजाय उसपर हमला करती है। इस वजह से शरीर का रासायनिक संतुलन बिगड़ जाता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान थायराइड के लक्षण:
– थकावट महसूस होना
– मिचली
– उल्टी
– हार्ट बीट तेज हो जाना
– भूख में कमी आती है
– अधिक ठंड लगना

थायराइड बढ़ने पर क्या खाएं:
– रोजाना हल्दी वाला दूध पीना थायराइड को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसके अलावा यदि आप हल्दी वाला दूध नहीं पीना चाहती हैं तो हल्दी को भूनकर खाएं।
– दो चम्मच तुलसी के रस में आधा चम्मच एलोवेरा जूस मिलाकर पिएं। इससे भी थायराइड की समस्या कंट्रोल हो सकती है।
– नियमित रूप से योग और एक्सरसाइज जरूर करें।

– रोजाना सुबह खली पेट लौकी का जूस पिने से भी थाइराइड खत्म करने में मदद मिलती है। जूस पीने के आधे घंटे तक कुछ खाएं पिए नहीं।
– बादाम और अखरोट में सेलीनीयम तत्व मौजूद होता है जो थायराइड के इलाज में फायदा करता है। इस के सेवन से गले की सूजन से भी आराम मिलता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 White Hair: विटामिन डी-3 की कमी के कारण होती है सफेद बालों की समस्या, जानिये कैसे करें इस कमी को दूर
2 White Hair: इन गलतियों की वजह से कम उम्र में सफेद हो जाते हैं बाल, जानिए कारण और इसे रोकने के उपाय
3 The Kapil Sharma Show: 2 साल की थीं तभी हो गई थी पिता की मौत हो, अब Audi Q5 जैसी गाड़ियों की मालकिन हैं भारती सिंह; ऐसी है ज़िंदगी
ये पढ़ा क्या?
X