ताज़ा खबर
 

Pregnancy के दौरान कितना वजन बढ़ना होता है उचित? जानें सभी जरूरी बातें

Obesity during Pregnancy: गर्भावस्था में कितना वजन बढ़ने को फायदेमंद माना जाता है, इस बात का पता बॉडी मास इंडेक्स यानी BMI के जरिये लगाया जाता है

pregnancy, pregnancy in hindi, weight gain during pregnancy, weight lossगर्भावस्था में वजन बढ़ना जच्चे-बच्चे की स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है (फोटो- जनसत्ता)

Weight Gain in Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान कोख में नन्हीं सी जान के आ जाने से गर्भवती महिलाओं के शरीर में कई बदलाव आते हैं। इस दौरान कई महिलाओं का वजन भी बढ़ जाता है। ये उनमें चिंता का विषय भी बनती हैं। इस कारण महिलाएं प्रेग्नेंसी में खाना कम कर देती हैं। लेकिन इस दौरान आपके शरीर को 2 लोगों के जितना खाना खाने की आवश्यकता पड़ती है, ऐसे में भरपूर भोजन जरूरी है। हालांकि, स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि गर्भावस्था में वजन बढ़ना जच्चे-बच्चे की स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। आइए जानते हैं प्रेग्नेंसी में क्यों बढ़ जाता है वजन –

किन कारणों से बढ़ सकता है वजन: आमतौर पर गर्भावस्था में वजन बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं। इनमें स्तनों का साइज बढ़ना, प्लैंसेंटा के आकार में वृद्धि, यूटेरस के साइज में इजाफा होना शामिल है। इसके अलावा, शरीर में अतिरिक्त ब्लड और अन्य फ्लूईड के बनने से भी वजन बढ़ सकता है। वहीं, बॉडी में पाया जाने वाला एम्नियॉटिक फ्लूईड भी वजन बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होता है। साथ ही, सुबह की थकान और गर्भ में जुड़वा बच्चे होने के कारण भी वजन बढ़ता है।

सामान्यतः कितना बढ़ता है वजन: गर्भावस्था में कितना वजन बढ़ने को फायदेमंद माना जाता है, इस बात का पता बॉडी मास इंडेक्स यानी BMI के जरिये लगाया जाता है। जिन महिलाओं का BMI गर्भावस्था से पहले 18.5 to 24.9 के करीब होता है, उन्हें प्रेग्नेंसी के दौरान कम से कम 11 से 16 किलो वजन बढ़ाना चाहिए। ऐसे में पहली तिमाही में जहां 1 से 1.5 किलो बढ़ेगा, उसके बाद अगले 6 महीने तक हर माह एक से डेढ़ किलो वजन बढ़ सकता है।

ज्यादा वजन बढ़ने से क्या हो सकता है खतरा: इस दौरान ज्यादा वजन बढ़ना भी खतरनाक हो सकता है और इससे होने वाली मां और बच्चों को कई स्वास्थ्य जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है। गर्भवती महिलाओं को सी-सेक्शन से गुजरना पड़ सकता है। इसके अलावा, गर्भावधि की डायबिटीज, स्टिलबर्थ, हाइपरटेंशन की परेशानी हो सकती है। वहीं, ज्यादा वजन की महिलाओं से जन्में शिशु में मोटापा और कई स्वास्थ्य परेशानियों से जूझने का खतरा अधिक होता है।

किन बातों का रखें ख्याल: अपने डॉक्टर द्वारा बताए दिशा-निर्देशों का पालन करें, वजन कितना बढ़ रहा है इस पर नजर रखें। शारीरिक गतिविधियों में एक्टिव रहें, हेल्दी खाना खाएं।

Next Stories
1 जब बोर्ड मीटिंग के दौरान मुकेश अंबानी फोन पर सॉल्व करने लगे बेटी ईशा के मैथ्स के सवाल; जानिए क्या है पूरी कहानी
2 Skin Care: ख़ूबसूरत और जवां चेहरे के लिए आजमाएं अंडे का फेस पैक, जानिए बनाने का तरीका
3 Skin Care: चेहरे की एक्स्ट्रा चर्बी से हैं परेशान? इन 4 योगासन के जरिए कम करें अपना Face Fat
ये पढ़ा क्या?
X