ताज़ा खबर
 

हार्ट सर्जरी के बाद भी 80 की उम्र में फिट हैं शीला दीक्षित, इन 5 बातों का हमेशा रखती हैं ध्यान

Sheila Dixit Fitness: शीला दीक्षित दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी के खिलाफ उत्तर पूर्वी दिल्ली से 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ने जा रही हैं। वह चुनाव लड़ने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रही हैं। 80 साल के इस उम्र में भी लगातार पार्टी के लिए काम करने के पीछे का उनका राज उनका लाइफस्टाइल है।

दिल्ली कांग्रेस अक्ष्यक्ष शिला दीक्षित।

Sheila Dixit: दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित कांग्रेस की कद्दावर नेता मानीं जाती हैं। उन्होंने राजधानी पर लगातार तीन बार शासन किया। हाल ही में उन्हें दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान सौंपी गई है। 80 साल के इस उम्र में भी लगातार पार्टी के लिए काम करने के पीछे का उनका राज उनकी सेहत है। हालांकि शीला हार्ट सर्जरी भी करा चुंकि हैं लेकिन हेल्दी लाइफस्टाइल अपना कर उन्होंने इस बीमारी से काफी हद तक रिकवर कर लिया है। इसके साथ ही एक बार उन्हें बाईपास सर्जरी भी करानी पड़ी थी। बता दें कि शीला दीक्षित उम्र के इस पड़ाव पर भी रोज एक्सरसाइज करने के साथ-साथ अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देतीं हैं। वह अपने शरीर के हिसाब से ही खाद्य पदार्थ का चुनाव करतीं हैं। दीक्षित इन पांच बातों का हमेशा ध्यान रखती हैं। जिससे उनका स्वास्थ हमेशा अच्छा बना रहता है-

इन 5 बातों का हमेशा रखती हैं ध्यान

– शीला  दीक्षित अपने खान-पान पर हमेशा ध्यान देतीं हैं। इस उम्र में वह अपने शरीर के मांग के अनुसार खाद्य पदार्थों ग्रहण करतीं हैं। लिहाज वह हमेशा फिट रहतीं हैं।

-मौजूदा दौर में जहां लोग काफी तनाव भरी जिंदगी जी रहे हैं वहीं शीला दीक्षित इस उम्र भी तनाव को काफी दूर रखती हैं। वह कहती हैं कि ‘यदि कोई व्यक्ति हमेशा चिंता करता है या तनाव का शिकार होता है वह कभी भी स्वस्थ नहीं रह सकता है।’

– शीला सीमित खाना खाने के आलावा रोजाना एक्सरसाइज करतीं हैं। यही कारण है कि वह अपने शरीर को ज्यादा एक्टिव रख पातीं हैं। रोजाना के इस हल्के फुल्के एक्सरसाइज से वह मानसिक रूप से अपने को स्वस्थ रख पाने में सफल हैं।

– शीला दीक्षित हमेशा साकारात्मक विचार रखती हैं। वह नाकारात्मक विचार को किसी भी प्रगति में बाधा मानतीं हैं। वह मानतीं हैं कि नाकारात्मक विचार रखने वाले लोग खुद को बीमारी के मुंह में धकेल देते हैं।

– शीला अपने आप को हमेशा खुशमिजाज रखती हैं। स्वस्थ रखने के लिए अचूक दवा हंसी मानी जाती है। यही कारण है कि आप शीला दीक्षित को गुस्से में कम बार ही देखा होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App