scorecardresearch

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के जोड़ों में होता है दर्द, जानिए छुटकारा पाने के नेचुरल उपाय

Joint Pain During Pregnancy: आयुर्वेद में कई ऐसे नुस्खे हैं, जिन्हें अपनाकर आप प्रेग्नेंसी में होने वाले शारीरिक दर्द को दूर कर सकती हैं।

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के जोड़ों में होता है दर्द, जानिए छुटकारा पाने के नेचुरल उपाय
प्रतीकात्मक तस्वीर (Image: Freepik)

गर्भावस्था के दौरान जोड़ों का दर्द होना सामान्य बात है। गर्भावस्था के दौरान कमर और शरीर के अन्य हिस्सों में दर्द हो रहा है तो घबराने या चिंता करने की जरूरत नहीं है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक गर्भावस्था के दौरान शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं, जिससे शरीर के अलग-अलग हिस्सों में दर्द होने लगता है। वजन बढ़ने से शरीर पर भी असर पड़ता है, जिससे शरीर के विभिन्न जोड़ों में दर्द होने लगता है। आइए जानते हैं नेचुरल तरीके जिनके जरिए महिलायें दर्द को कम कर सकती हैं-

अमेरिकन कॉलेज ऑफ ओब्स्टेट्रिशियन एंड गायनेकोलॉजिस्ट के अनुसार, गर्भावस्था के दौरान जैसे-जैसे गर्भाशय का विस्तार होता है, गुरुत्वाकर्षण का केंद्र बदल जाता है और पेट की मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं। जब गुरुत्वाकर्षण का केंद्र बदलता है तो तनाव पैदा होता है और कमर के निचले हिस्से में दर्द महसूस होने लगता है।

प्रेग्नेंसी हार्मोन रिलैक्सिन और प्रोजेस्टेरोन के रिलीज होने से जोड़ों के लिगामेंट नरम हो जाते हैं और उनमें दर्द होने लगता है। गर्भावस्था के दौरान, हार्मोन रिलैक्सिन निकलता है जो लिगामेंट्स को ढीला करता है। जब ऐसा होता है, तो कुछ जोड़ अपनी सामान्य स्थिरता खो देते हैं, जिसके कारण दैनिक गतिविधियों को करने में जोड़ों में ढीलापन महसूस होता है।

वजन पर रखें नियंत्रण: गर्भावस्था के दौरान घुटने में दर्द होने का एक प्रमुख कारण वजन बढ़ना भी है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को ऐसी चीजों के सेवन से परहेज करना चाहिए जो सीधे तौर पर वजन बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं। जैसे कि मीठा पदार्थ, मिठाई या मीठे पदार्थ का सेवन सीमित मात्रा में ही करें।

खूब मालिश करें: मालिश दर्द से राहत पाने का एक शानदार तरीका है। हर दूसरे दिन गर्म तेल से अपने शरीर की मालिश करें। आप कोई भी तेल चुन सकते हैं। आप चाहें तो सरसों या नारियल के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

गुनगुने पानी से नहायें: यदि आपको तेज दर्द हो रहा है, तो इससे तुरंत राहत पाने के लिए आप गर्म पानी से स्नान कर सकती हैं। दरअसल गुनगुना पानी शरीर पर तुरंत काम करता है। नहाने के बाद शरीर पर हल्का मसाज लें। इसके बाद की गई मसाज से आपको पूरी तरह आराम मिलेगा।

त्रिफला का करें सेवन: यदि आप मधुमेह से पीड़ित हैं तो जोड़ों में दर्द होना लाजमी है। इसके लिए आप त्रिफला का सेवन कर सकती हैं। त्रिफला में एक बात का बहुत ध्यान रखना है कि इसे बहुत कम मात्रा में खाएं। इससे आपकी गर्भावस्था पर बहुत अच्छा प्रभाव पड़ता है और गर्भपात का खतरा हो सकता है। इसलिए इसके सेवन से पहले किसी जानकार से इसके बारे में राय लेना न भूलें।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.