scorecardresearch

कमर दर्द, रीढ़ की हड्डी और साइटिका से हैं परेशान? आचार्य बालकृष्ण से जानें निजात पाने के आसान तरीके

कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बात करेंगे जिनके प्रयोग से साइटिका के दर्द को कुछ हद तक कम किया जा सकता है-

Siatica Pain | Siatica Treatment | Siatica Cause
साइटिका के लिए घरेलू नुस्खे (Image: Freepik)

साइटिका में कमर से संबंधित नसों में सूजन के कारण पूरे पैर में असहनीय दर्द होता है। स्नायुशूल एक प्रकार का तंत्रिका दर्द है जिसमें साइटिक तंत्रिका पर किसी कारण से दबाव पड़ता है। साइटिका में दर्द कूल्हे के पिछले हिस्से से शुरू होता है और धीरे-धीरे बढ़ते हुए साइटिका तंत्रिका के अंगूठे तक फैलता है।

साइटिका में दर्द घुटने और टखने के पीछे अधिक होता है और सुन्नता के साथ हो सकता है। इस रोग की गंभीर अवस्था में रोगी असहनीय दर्द के कारण बिस्तर पर लेट जाता है। जैसे-जैसे बीमारी बढ़ती है, पैर में कमजोरी और सिकुड़न होने लगती है। आइए आचार्य बालकृष्ण से जानते हैं इसके देसी इलाज के तरीके-

साइटिका के दर्द में ऐसा होना चाहिए डाइट प्लान

विटामिन बी से भरपूर भोजन जैसे पनीर और दूध से बने पदार्थ खाने से साइटिका के दर्द में आराम मिलता है। वहीं ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं, जैसे कि अलसी और मूंगफली, नट्स आदि का सेवन करें। साथ ही विटामिन-ए से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं जैसे कि फलों में गाजर, हरी पत्तेदार सब्जियां, आम और खुबानी।

पोटेशियम से भरपूर आहार लें, यह मांसपेशियों और नसों को मजबूत करता है और न्यूरोट्रांसमिशन में मदद करता है। पोटेशियम युक्त आहार में सफेद बीन्स, साग, आलू, खुबानी, एवोकाडो, मशरूम और केला खाएं।

साइटिका के दर्द से बचने के उपाय (Prevention Tips for Siatica Pain)

  • रोग के उचित निदान के बिना उपचार रोग के लक्षणों में अपेक्षित लाभ नहीं देता है। इसके अलावा अगर इलाज के साथ-साथ खान-पान और रहन-सहन का भी खास ख्याल न रखा जाए तो किए गए इलाज से कोई फायदा नहीं होता।
  • ज्यादा देर तक एक ही जगह पर बैठने से बचें, हर आधे घंटे में कुछ देर खड़े रहने की कोशिश करें, इससे कमर की हड्डियों को आराम मिलता है।
  • ज्यादा न झुकें या भारी वस्तुओं को न उठाएं। यह रीढ़ की हड्डियों के जोड़ों पर अधिक दबाव डालता है। साथ ही भारी वजन उठाकर लंबी दूरी तक न चलें।
  • अगर काम की वजह से आपको घंटों कुर्सी पर बैठकर कंप्यूटर पर काम करना पड़ता है तो कुर्सी के पिछले हिस्से पर एक छोटा सा तकिया लगाकर सीधे बैठने की कोशिश करें।
  • डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही रीढ़ की हड्डी से जुड़े व्यायाम करें। साइटिका से बचने के लिए जरूरी है कि बढ़ती उम्र में रीढ़ की हड्डी को लचीला बनाए रखने के लिए योग और व्यायाम का अभ्यास किया जाए।
  • साइटिका में तेज दर्द होने पर काम न करें। इसके अलावा हाई हील्स या चप्पल न पहनें और आगे झुकने वाले कार्यों को करने से बचें।
  • जंक फूड और पैकेज्ड फूड के साथ मैदा और चीनी से बनी चीजों का सेवन न करें क्योंकि ये नर्वस सिस्टम को नुकसान पहुंचाती हैं। शरीर में वात बढ़ाने वाले आहार जैसे मटर, राजमा, उड़द, अरबी, बैंगन, आलू, कटहल आदि का सेवन करने से परहेज करें।

साइटिका के दर्द से घरेलू उपाय दिलाये राहत (Home Remedies for Sciatica)

हल्दी: हल्दी में सूजनरोधी (Anti–imflammatory) गुण होते हैं और साइटिका के इलाज के लिए यह एक बेहतरीन दवा है। सोने से पहले दूध में एक चुटकी हल्दी मिलाकर पिएं।

सेंधा नमक: साइटिका के दर्द से छुटकारा पाने के लिए गर्म पानी के बाथटब में दो कप सेंधा नमक मिलाकर बैठ जाएं। अपने पैरों और पीठ के निचले हिस्से को लगभग 20 मिनट के लिए पानी में भिगोएं। इस प्रक्रिया को हफ्ते में तीन बार करें।

सरसों का तेल: सरसों के तेल में 2-3 तेज पत्ते और 2-3 लहसुन की कलियां डालकर तेल को पकाएं। अब इसे हल्का गुनगुना करके कमर और पैरों में हल्के हाथों से मसाज करें। यह दर्द और सूजन दोनों में फायदेमंद होता है।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X