मोटापे के कारण पड़ सकता है दिल का दौरा, एक्सपर्ट से जानिये किस तरह का होना चाहिए खानपान

मोटापे से ग्रस्त लोगों को नियमित तौर पर 8-10 लिटर पानी का सेवन करना चाहिए। क्योंकि अधिक पानी पीने से पेट भरा रहता है, जिससे जंक फूड खाने की क्रेविंग नहीं होती।

Obesity, Symptoms Of Obesity, Diet For Obesity
अधिक मोटापे के कारण दिला का दौरा और किडनी फेलियर की संभावना बढ़ जाती है

Diet To Reduce Obesity: आज के समय में मोटापा एक गंभीर समस्या बन गई है। यह सिर्फ आपके व्यक्तित्व को ही प्रभावित नहीं करता बल्कि कई तरह की गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण भी बन जाता है। वर्तमान समय में मोटापे के कई दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं। मोटापे के कारण न सिर्फ दिल के दौरा पड़ने की संभावना बढ़ जाती है बल्कि साथ ही ब्लड प्रेशर की शिकायत, सांस फूलना, कम उम्र में डायबिटीज और किडनी खराब होने जैसी गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं।

मोटापे को कम करने बिल्कुल भी आसान नहीं है। लेकिन खानपान के जरिए इसे नियंत्रित किया जा सकता है। जाने मानें कंसल्टेंट फिजिशियन डॉक्टर अमरेंद्र झा के मुताबिक पत्तागोभी, गाजर और मूली जैसी सब्जियों में बेहद ही कम मात्रा में कैलोरीज पाई जाती हैं, मोटापे से ग्रस्त लोग अपने खाने में इन सब्जियों को शामिल कर सकते हैं।

मोटापे से जूझ रहे लोग अपने खाने में कच्ची सब्जियों के साथ ही दाल, सोयाबीन आदि को भी शामिल कर सकते हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक वजन करने के लिए सरसों का तेल सबसे ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके अलावा आप चाहें तो अपने खाने में ऑलिव ऑयल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। सरसों के तेल और ऑलिव ऑयल में ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड की अच्छी खासी मात्रा होती है, जो वेट लॉस करने में मदद करते हैं।

वजन कम करने के दो तरीके: डॉक्टर अमरेंद्र झा मोटापे से ग्रस्ति लोगों के लिए वजन कम करने के दो तरीके बताते हैं। पहला है इंटरमिटेंट फास्टिंग और दूसरा है छोटे-छोटे मील लेना।

इंटरमिटेंट फास्टिंग में आप 16 या फिर 18 घंटे भूखा रहने के बाद खाना खाते हैं। हालांकि ज्यादातर एक्सपर्ट इस उपाय को अधिक फायदेमंद नहीं मानते। विशेषज्ञों के मुताबिक अगर आप 24 घंटे में 7 से 8 बार छोटे-छोटे मील लेते हैं तो यह तरीका वजन कम करने में मदद कर सकता है। हालांकि इस दौरान आपको कैलोरी इंटेक का अधिक ध्यान रखने की आवश्यकता होती है।

अधिक पानी पिएं: एक्सपर्ट्स बताते हैं कि मोटापे से ग्रस्त लोगों को नियमित तौर पर 8-10 लिटर पानी का सेवन करना चाहिए। क्योंकि अधिक पानी पीने से पेट भरा रहता है, जिससे जंक फूड खाने की क्रेविंग नहीं होती।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट