scorecardresearch

Happy Saraswati Puja 2020 Wishes Images, Status, Quotes: बसंत है माँ सरस्वती का त्योहार…. आज अपनों से शेयर करें ये शानदार शुभकामना संदेश

Happy Saraswati Puja 2020 Wishes Images, Quotes, Status, SMS, Messages, GIF Pics, Wallpapers: बसंत पंचमी या सरस्वती पूजा के मौके पर आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को यहां से भेज सकते हैं बेहतरीन मैसेज और कोट्स।

Happy Saraswati Puja 2020 Wishes Images, Status, Quotes: बसंत है माँ सरस्वती का त्योहार…. आज अपनों से शेयर करें ये शानदार शुभकामना संदेश
Happy Saraswati Puja 2020 Wishes Images: वसंत पंचमी पर अपनों से शेयर करें मैसेज

Happy Saraswati Puja 2020 Wishes Images, Quotes, Status, SMS, Messages, GIF Pics: वसंत पंचमी एक महत्वपूर्ण भारतीय त्योहार है जो हर साल माघ महीने में हिंदू कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है। यह माघ के पांचवें दिन मनाया जाता है। यह दिन ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार फरवरी या मार्च के महीनों में आता है। दिन का महत्व ज्ञान और प्रतीक वसंत ऋतु की शुरुआत देवी सरस्वती की पूजा में निहित है। वसंत पंचमी को ही सरस्वती पूजा के रुप में भी जाना जाता है। इस साल 29 जनवरी को वसंत पंचमी देशभर में मनाया जाएगा। आज के समय में, यह त्योहार किसानों द्वारा वसंत के मौसम के आने पर मनाया जाता है। यह दिन बड़े पैमाने पर भारत के उत्तरी भागों में मनाया जाता है। यहां, लोग ब्राह्मणों को भोजन कराते हैं और देवी सरस्वती के नाम पर अनुष्ठान आयोजित करते हैं।

Happy Basant Panchami 2020: Wishes Images, Quotes, Photos, Status, Wallpapers, Messages

इस दिन से जुड़ी एक और परंपरा युवा में पढ़ाई शुरू करने की है। इस दिन पीले रंग की मिठाई भी बांटी जाती है और लोगों को गरीबों को किताबें और अन्य साहित्यिक सामग्री दान करते हुए भी देखा जा सकता है। इस दिन लोग एक-दूसरे को सोशल मीडिया के जरिए ढेर सारी शुभकामनाएं देते हैं और बेहतरीन कोट्स और शायरी शेयर करते हैं।

1. मां सरस्वती का वरदान हो आपको,
हर दिन नई मिले ख़ुशी आपको,
दुआ हमारी है खुदा से ऐ दोस्त,
जिन्दगी में सफलता हमेशा मिले आपको,
सरस्वती पूजा की शुभकामनाएं

2. वीणा लेकर हाथ में,
सरस्वती हो आपके साथ में,
मिले मां का आशीर्वाद हर दिन,
मुबारक़ हो आपको सरस्वती पूजा का ये दिन,
सरस्वती पूजा की शुभकामनाएं

Live Blog

16:03 (IST)30 Jan 2020
बसंत पंचमी के त्योहार का क्या है महत्व

ऐसी धार्मिक मान्यता है कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती का धरती पर आगमन हुआ था। भगवान कृष्ण ने सरस्वती मां से प्रसन्न होकर उनके जन्मदिवस को एक उत्सव की तरह मनाने का उन्हें वरदान दिया। ऐसा भी माना जाता है कि इस दिन कामदेव औक उनकी पत्नी रति धरती पर आकर प्रेम रस का संचार करते हैं। इसलिए इस दिन मां सरस्वती के साथ कामदेव और रति की पूजा भी की जाती है।

15:15 (IST)30 Jan 2020
बसंत पंचमी पर आपने किया इन चीजों का दान?

बसंत पंचमी के मौके पर पीली वस्‍तुओं का दान करना चाहिए। किसी जरूरतमंद को आदर से भोजन करवाएं और साथ ही सामर्थ्‍य के अनुसार दक्षिणा देनी चाहिए। इस दिन गरीब बच्‍चों में पुस्‍तक और कलम बांटने चाहिए।

14:30 (IST)30 Jan 2020
जानिए, कैसे हुई मां सरस्वती की उत्पत्ति

पौराणिक कथाओं के अनुसार, सृष्टि के रचनाकार भगवान ब्रह्मा ने जब संसार को बनाया तो पेड़-पौधों और जीव जन्तुओं सबकुछ दिख रहा था, लेकिन उन्हें किसी चीज की कमी महसूस हो रही थी। इस कमी को पूरा करने के लिए उन्होंने अपने कमंडल से जल निकालकर छिड़का तो सुंदर स्त्री के रूप में एक देवी प्रकट हुईं। उनके एक हाथ में वीणा और दूसरे हाथ में पुस्तक थी। तीसरे में माला और चौथा हाथ वर मुद्रा में था। यह देवी थीं मां सरस्वती। मां सरस्वती ने जब वीणा बजाया तो संस्सार की हर चीज में स्वर आ गया। इसी से उनका नाम पड़ा देवी सरस्वती।

13:44 (IST)30 Jan 2020
जानिए, मूर्ति विसर्जन का क्या है समय

पंचमी के दिन मूर्ति स्थापना होती है और षष्ठी के दिन मूर्ति विसर्जन होता है। इस बार वसंत पंचमी का प्रारंभ 29 जनवरी को हो रहा है और माघ शुक्ल षष्ठी दोपहर 01:19 बजे के बाद प्रारंभ हो रही है। ऐसे में आप दोपहर के बाद संध्या काल में विधिपूर्वक मूर्ति का विसर्जन करें।

13:06 (IST)30 Jan 2020
आज इस समय खत्म हो जाएगा शुभ मुहूर्त

पंचमी तिथि बीते दिन यानी की 29 जनवरी को 10.45 से लग चुकी है। जोकि 30 जनवरी को दोपहर 1.19 तक रहेगी। इस दौरान ही शुभ मुहूर्त है। जिसे खत्म होने में कुछ ही समय शेष है।

12:08 (IST)30 Jan 2020
पूजा में दिखती हैं विभिन्न छटाएँ

इस दिन उत्तर भारत के कई भागों में पीले रंग के पकवान बनाए जाते हैं और लोग पीले रंग के वस्त्र पहनते हैं। पंजाब में ग्रामीणों को सरसों के पीले खेतों में झूमते तथा पीले रंग की पतंगों को उड़ाते देखा जा सकता है। पश्चिम बंगाल में ढाक की थापों के बीच सरस्वती माता की पूजा की जाती है तो छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में प्रसिद्ध सिख धार्मिक स्थल गुरु−का−लाहौर में भव्य मेले का आयोजन किया जाता है। माना जाता है कि वसंत पंचमी के दिन ही सिख गुरु गोविंद सिंह का जन्म हुआ था।

11:36 (IST)30 Jan 2020
मां सरस्वती की उपासना से दूर होती है समस्याएं

– जिन लोगों को एकाग्रता की समस्या हो ,आज से नित्य प्रातः सरस्वती वंदना का पाठ करें.
– मां सरस्वती के चित्र की स्थापना करें ,इसकी स्थापना पढ़ने के स्थान पर करना श्रेष्ठ होगा.
– मां सरस्वती का बीज मंत्र भी लिखकर टांग सकते हैं.
– जिन लोगों को सुनने या बोलने की समस्या है वो लोग सोने या पीतल के चौकोर टुकड़े पर माँ सरस्वती के बीज मंत्र “ऐं” को लिखकर धारण कर सकते हैं.

11:05 (IST)30 Jan 2020
ऐसे प्रकट हुईं मां सरस्‍वती

भ्रमण करते हुए ब्रह्माजी एक जगह ठहरे और अपने कमंडल से थोड़ा सा जल लेकर छिड़का तो एक महान ज्‍योतिपुंज उपस्थित हुए जिससे एक देवी प्रकट हुईं। वीणा लिए यह देवी थीं मां सरस्‍वती। चेहरे पर अद्भुत तेज लिए मां सरस्‍वती ने ब्रह्माजी को प्रणाम किया। इस प्रकार वह ब्रह्माजी की पुत्री कहलाईं। उनके प्राकट्य के उत्‍सव के तौर पर बसंत पंचमी का उत्‍सव मनाया जाता है।

10:38 (IST)30 Jan 2020
सरस्वती पूजा पर इन वस्‍तुओं का करें दान-

इस दिन मंदिर में जाकर पीली वस्‍तुओं का दान करना चाहिए और किसी जरूरतमंद को घर पर आदर से बुलाकर उन्‍हें स्‍वच्‍छ भोजन करवाएं और साथ ही सामर्थ्‍य के अनुसार दक्षिणा दें। मान्‍यता है कि इसी दिन संसार को शब्‍दों की ताकत मिली थी, इसलिए मां सरस्‍वती को विद्या की देवी कहा जाता है। इस दिन गरीब बच्‍चों में पुस्‍तक और कलम बांटें।

09:52 (IST)30 Jan 2020
बसंत पंचमी पर क्यों की जाती है सरस्वती पूजा?

बसंत पंचमी को श्री पंचमी, सरस्वती पंचमी, ऋषि पंचमी नामों से भी जाना जाता है. मान्यता है कि इसी दिन मां सरस्वती का जन्म हुआ था. ऋग्वेद के अनुसार ब्रह्मा जी अपनी सृष्टी के सृजन से संतुष्ट नहीं थे. चारों तरफ मौन छाया हुआ था. तब उन्होंने अपने कमण्डल से जल का छिड़काव किया, जिससे हाथ में वीणा लिए एक चतुर्भुजी स्त्री प्रकट हुईं. ब्रह्माजी के आदेश पर देवी ने वीणा पर मधुर सुर छेड़ा जिससे संसार को ध्वनि और वाणी मिली. इसके बाद ब्रह्मा जी ने इस देवी का नाम सरस्वती रखा, जिन्हें शारदा और वीणावादनी के नाम से भी जानते हैं. बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती का पूजन करते हैं.

08:35 (IST)30 Jan 2020
बहारों में बहाए बसंत… बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएँ

08:05 (IST)30 Jan 2020
बसंत के आगमन से…

बसंत के आगमन से सराबोर मन,
करता है सहर्ष खुशियों का अभिनंदन।।
बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं

07:44 (IST)30 Jan 2020
इस साल का यह बसंत, आपको खुशियां दें अनंत…

07:20 (IST)30 Jan 2020
इन कोट्स से अपनों को दें सरस्वती पूजा की शुभकामना

इस साल का यह बसंत, आपको खुशियां दें अनंत,
प्रेम और उत्साह से भर दे जीवन के रंग

बसंत पंचमी की हार्दिक बधाई

00:04 (IST)30 Jan 2020
जानिए किस लिए होती है रती और कामदेव की पूजा

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार बसंत पंचमी पर कामदेव और उनकी पत्‍नी रति की पूजा की जाती है। कामदेव और रति को पुराणों में प्रेम के देवी-देवता के तौर पर बताया गया है। कहते हैं कि बसंत पचंमी के दिन कामदेव और रति ऋतुराज बसंत के साथ पृथ्वी पर आते हैं।

23:09 (IST)29 Jan 2020
वसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा से होते हैं ये लाभ

इस दिन पूजा के समय सरस्वती वंदना, सरस्वती मंत्र और सरस्वती माता की आरती करनी जरूरी है। इस दिन पीले वस्त्र धारण करके माता की आराधना की जाती है। पूजा के समय सरस्वती वंदना, मंत्र और आरती करने से उसका विशेष फल प्राप्त होता है। माता सरस्वती के आशीर्वाद से व्यक्ति को कला और शिक्षा के क्षेत्र में अपार सफलताएं प्राप्त होती हैं।

22:18 (IST)29 Jan 2020
मूर्ति स्थापना की विधि

माघ शुक्ल पंचमी के दिन स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद आप पीले वस्त्र धारण करें। पूजा स्थल को साफकर गंगा जल से पवित्र करें। अब मां सरस्वती को गंगाजल से स्नान कराएं। इसके बाद देवी सरस्वती को सफेद वस्त्र पहनाएं, साथ ही सिन्दूर तथा श्रृंगार की वस्तुओं से उनको सुशोभित करें। अब उनकी प्रतिमा को पूजा स्थल पर स्थापित करें।

21:38 (IST)29 Jan 2020
मूर्ति विसर्जन की विधि

पंचमी के दिन मूर्ति स्थापना होती है और षष्ठी के दिन मूर्ति विसर्जन होता है। इस बार वसंत पंचमी का प्रारंभ 29 जनवरी को हो रहा है और माघ शुक्ल षष्ठी दोपहर 01:19 बजे के बाद प्रारंभ हो रही है। ऐसे में आप दोपहर के बाद संध्या काल में विधिपूर्वक मूर्ति का विसर्जन करें।

20:08 (IST)29 Jan 2020
बसंत पंचमी पर ग्रह मजबूत करने के उपाय

1. बसंत पंचमी के दिन पीले वस्त्र धारण करें

2. सफेद फूलों से मां की उपासना करना लाभदायक होता है

3. पीले पुष्प और पीले फलों से मां की उपासना करें

4. बृहस्पति के कमजोर होने पर विद्या प्राप्त करने में बाधा आती है

5. कुंडली में अगर बुध कमजोर हो तो बुद्धि कमजोर हो जाती है

6. करियर का चुनाव भी नहीं हो पाता है

7. अगर शुक्र कमजोर हो तो मन की चंचलता भी होती है

8. मां को हरे फल अर्पित करें तो लाभदायक होगा

19:00 (IST)29 Jan 2020
खास है सरस्वती पूजा का इतिहास

सृष्टि के प्रारंभिक काल में भगवान विष्णु की आज्ञा से ब्रह्माजी ने मनुष्य योनि की रचना की, परंतु वह अपनी सर्जना से संतुष्ट नहीं थे, तब उन्होंने विष्णु जी से आज्ञा लेकर अपने कमंडल से जल को पृथ्वी पर छिड़क दिया, जिससे पृथ्वी पर कंपन होने लगा और एक अद्भुत शक्ति के रूप में चतुर्भुजी सुंदर स्त्री प्रकट हुई। जिनके एक हाथ में वीणा एवं दूसरा हाथ वर मुद्रा में था। वहीं अन्य दोनों हाथों में पुस्तक एवं माला थी। जब इस देवी ने वीणा का मधुर नाद किया तो संसार के समस्त जीव-जंतुओं को वाणी प्राप्त हो गई, तब ब्रह्माजी ने उस देवी को वाणी की देवी सरस्वती कहा।

17:05 (IST)29 Jan 2020
Happy Saraswati Puja 2020: अपनों को भेजें ये मैसेज और करें विश

बहारों में बहार बसंत,
मीठा मौसम मीठी उमंग,
रंग बिरंगी उड़ती आकाश में पतंग,
तुम साथ हो तो है इस ज़िंदगी का और ही रंग,
सरस्वती पूजा की शुभकामनाएं

16:29 (IST)29 Jan 2020
सरस्वती पूजा की शुभकामनाएं

बसंत है माँ सरस्वती का त्योहार
आपके जीवन में आए सदा बहार
सरस्वती द्वार आपके विराजे हरपल
हर काम आपका हो जाये सफल
सरस्वती पूजा की शुभकामनाएं

15:34 (IST)29 Jan 2020
सरस्वती पूजा की तैयारी इस तरह से करें

सबसे पहले तो मां सरस्वती की प्रतिमा या मूर्ति को आसन पर बैठाएं। माता के आसन के नीचे पीला, सफेद या केसरिया रंग का वस्त्र बिछाना चाहिए। माता की पूजा में पीला और सफेद पुष्प का प्रयोग करना चाहिए। सरस्वती माता को प्रसाद के तौर पर अर्पित करने के लिए बूंदी, खीर, मालपुआ और ऋतु फल यानी इस मौसम में जो फल उपलब्ध हों वह पूजन स्थल पर रखें।

14:51 (IST)29 Jan 2020
Happy Saraswati Puja 202: अपनों से शेयर करें ये मैसेज

मां सरस्वती का वसंत है त्योहार
आपके जीवन में आये सदा बहार
सरस्वती हर पल विराजे आपके द्वार
हर काम आपका हो जाए सफल
बंसत पंचमी की शुभकामनाएं

14:26 (IST)29 Jan 2020
सरस्वती पूजा पर अपनों को भेजें ये मैसेज और कोट्स

हो जाओ तैयार, माँ सरस्वती आने वाली है।
सजा लो दरबार माँ सरस्वती आने वाली हैं।
तन,मन और जीवन हो जायेगा पावन,
माँ के कदमो की आहट से गूँज उठेगा आँगन।

13:25 (IST)29 Jan 2020
वसंत पंचमी के दौरान हम सरस्वती पूजा क्यों करते हैं?

सरस्वती रचनात्मक ऊर्जा का प्रतीक हैं और इसे ज्ञान, संगीत, कला, ज्ञान और सीखने की देवी माना जाता है। देश के कई हिस्सों में, बच्चों को अपनी उंगलियों / कलम / पेंसिल के साथ अपना पहला शब्द लिखने या कुछ रचनात्मक कला क्षेत्र का अध्ययन करने के लिए एक शुभ दिन माना जाता है। वसंत पंचमी के दिन, लोग पीले रंग के कपड़े पहनते हैं, पीले रंग की मिठाइयाँ बाँटते हैं, और देवी सरस्वती को पीले फूल चढ़ाते हैं जो उनका पसंदीदा रंग माना जाता है। कुछ स्कूल स्कूल परिसर में अपने छात्रों के लिए विशेष सरस्वती पूजा की व्यवस्था भी करते हैं।

13:00 (IST)29 Jan 2020
Happy Saraswati Puja 2020: दोस्तों को दें इस त्योहार की शुभकामनाएं

सरस्वती पूजा का ये प्यारा त्योहार, जीवन में लाएगा खुशियां अपार
सरस्वती विराजे आपके द्वार, शुभकामना हमारी करें स्वीकार…

12:06 (IST)29 Jan 2020
सरस्वती पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं

कमल पुष्प पर आसीत मां,
देती ज्ञान का सागर मां,
कहती कीचड़ में भी कमल बनों,
अपने कर्मों से महान बनों
सरस्वती पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं

10:57 (IST)29 Jan 2020
साथ ही संरस्वती मां के वंदना मंत्र का भी जाप करें-

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना। या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥ शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमामाद्यां जगद्व्यापिनीं वीणा-पुस्तक-धारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्‌। हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्‌ वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम्‌॥२॥

10:22 (IST)29 Jan 2020
सरस्वती पूजा का इतिहास:

सृष्टि के प्रारंभिक काल में भगवान विष्णु की आज्ञा से ब्रह्माजी ने मनुष्य योनि की रचना की, परंतु वह अपनी सर्जना से संतुष्ट नहीं थे, तब उन्होंने विष्णु जी से आज्ञा लेकर अपने कमंडल से जल को पृथ्वी पर छिड़क दिया, जिससे पृथ्वी पर कंपन होने लगा और एक अद्भुत शक्ति के रूप में चतुर्भुजी सुंदर स्त्री प्रकट हुई। जिनके एक हाथ में वीणा एवं दूसरा हाथ वर मुद्रा में था। वहीं अन्य दोनों हाथों में पुस्तक एवं माला थी। जब इस देवी ने वीणा का मधुर नाद किया तो संसार के समस्त जीव-जंतुओं को वाणी प्राप्त हो गई, तब ब्रह्माजी ने उस देवी को वाणी की देवी सरस्वती कहा।

09:50 (IST)29 Jan 2020
सरस्वती पूजा की इस मैसेज के जरिए अपनों को दें शुभकामनाएं

बल बुद्धि विद्या देहु मोहि
सुनहु सरस्वती मातु
राम सागर अधम को
आश्रय तू ही देदातु
आप सब को सरस्वती पूजा की बधाई

09:20 (IST)29 Jan 2020
मूर्ति स्थापना की विधि

माघ शुक्ल पंचमी के दिन स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद आप पीले वस्त्र धारण करें। पूजा स्थल को साफकर गंगा जल से पवित्र करें। अब मां सरस्वती को गंगाजल से स्नान कराएं। इसके बाद देवी सरस्वती को सफेद वस्त्र पहनाएं, साथ ही सिन्दूर तथा श्रृंगार की वस्तुओं से उनको सुशोभित करें। अब उनकी प्रतिमा को पूजा स्थल पर स्थापित करें।

08:45 (IST)29 Jan 2020
Happy Saraswati Puja 2020: सरस्वती पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं

जीवन का यह बसंत, आप सबको खुशियां दे अनंत,
प्रेम और उत्साह का, भर दे जीवन में रंग,
सरस्वती पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं

07:50 (IST)29 Jan 2020
मौसम की नजाकत है, हसरतों ने पुकारा है…

मौसम की नजाकत है, हसरतों ने पुकारा है।
कैसे कहे की कितना याद करते हैं,
यह संदेश उसी याद का एक इशारा है

हैप्पी बसंत पंचमी

07:39 (IST)29 Jan 2020
सरस्वती नमस्तुभ्यं…

सरस्वती नमस्तुभ्यं, वरदे कामरूपिणी, विद्यारम्भं करिष्यामि, सिद्धिर्भवतु मे सदा।

07:24 (IST)29 Jan 2020
वीणा लेकर हाथ में, सरस्वती हो आपके साथ में…

वीणा लेकर हाथ में, सरस्वती हो आपके साथ में
मिले मां का आशीर्वाद आपको हर दिन।
मुबारक हो आपको सरस्वती पूजा का ये दिन

Happy Basant Panchmi

22:00 (IST)28 Jan 2020
Happy Saraswati Puja: सरस्वती पूजा पर अपनों को भेजें ये मैसेज

सर्दी को तुम दे दो विदाई, बसंत की अब ऋतु है आई
फूलों से खुशबू लेकर महकती हवा है आई
बागों में बहार है आई, भंवरों की गुंजन है लाई
उड़ रही है पतंग हवा में जैसे तितली यौवन में आई
देखो अब बसंत है आई

21:09 (IST)28 Jan 2020
Happy Saraswati Puja 2020: अपनों को भेजें ये मैसेज और करें विश

बहारों में बहार बसंत,
मीठा मौसम मीठी उमंग,
रंग बिरंगी उड़ती आकाश में पतंग,
तुम साथ हो तो है इस ज़िंदगी का और ही रंग,
सरस्वती पूजा की शुभकामनाएं

20:17 (IST)28 Jan 2020
सरस्वती पूजा की शुभकामनाएं

बहारों में बहार बसंत,
मीठा मौसम मीठी उमंग,
रंग बिरंगी उड़ती आकाश में पतंग,
तुम साथ हो तो है इस ज़िंदगी का और ही रंग,
सरस्वती पूजा की शुभकामनाएं

19:55 (IST)28 Jan 2020
Happy Saraswati Puja: ये मैसेज दोस्तों से शेयर करें

बसंत है माँ सरस्वती का त्योहार
आपके जीवन में आए सदा बहार
सरस्वती द्वार आपके विराजे हरपल
हर काम आपका हो जाये सफल
सरस्वती पूजा और बसंत पंचमी की शुभकामनाएं

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 28-01-2020 at 18:11 IST