Independence Day 2020: जानिये क्यों मनाते हैं स्वतंत्रता दिवस? क्या है इस दिन का महत्व

Independence Day 2020 India: 15 अगस्त को हम अपने स्वतंत्रता की वर्षगांठ तो मनाते ही हैं, साथ ही उन तमाम सेनानियों को भी याद करते हैं, जिनकी बदौलत हमें यह दिन नसीब हुआ।

independence day India, independence day history, why we celebrate independence day
Independence Day 2020: स्वतंत्रता दिवस का महत्व

Independence Day 2020: 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजों की दासता से मुक्ति मिली थी। इस दिन दुनिया के फलक पर भारत एक स्वतंत्र देश के रूप में उभरा। इसके बाद से हर साल 15 अगस्त को भारत की स्वतंत्रता की वर्षगांठ के रूप में मनाया जाता है। इस दिन हम अपने राष्ट्र गौरव तिरंगे को सम्मान तो देते ही हैं, साथ ही उन वीर स्वतंत्रता सेनानियों को भी याद करते हैं, जिनकी बदौलत हमें गुलामी से मुक्ति मिली।

15 अगस्त को स्वतंत्रता मिलने के बाद पंडित जवाहरलाल नेहरू को भारत का पहला प्रधानमंत्री चुना गया था। उन्होंने राजधानी दिल्ली के लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराकर देश का मान ऊंचा कर दिया।

स्वतंत्रता दिवस का महत्व: दशकों से गुलामी की जंजीर में जकड़े भारत के लिए अंग्रेजों से स्वतंत्रता प्राप्त करना इतना आसान नहीं था। संघर्ष चलता रहा। बहादुर सेनानी अपने प्राणों की बाजी लगाते रहे, शहीद भी हुए लेकिन हार नहीं मानी।अपने दृढ़ हौसले के बूते उन्होंने अंग्रेजों की नाक में दाम कर दिया और भारत छोड़ने पर मजबूर किया। स्वतंत्रता की लड़ाई में शामिल सेनानियों ने अपने परिवार की चिंता नहीं की, उन्हें पूरे भारत की चिंता थी। अंतत: उनका संघर्ष रंग लाया और 15 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि को पंडित जवाहरलाल नेहरू ने भारत की स्वतंत्रता की घोषणा की।

Independence Day 2020 Speech, Essay, Bhashan: स्वतंत्रता दिवस के लिए यहां से तैयार करें स्पीच और निबंध

15 अगस्त को हम अपने स्वतंत्रता की वर्षगांठ तो मनाते ही हैं, साथ ही उन तमाम सेनानियों को भी याद करते हैं, जिनकी बदौलत हमें यह दिन नसीब हुआ। महात्मा गांधी, सुभाष चंद्रबोस, भगत सिंह, जवाहरलाल नेहरू, सरदार वल्लभाई पटेल समेत तमाम सेनानियों के अथक प्रयास का नतीजा ही था कि अंग्रेज भारत छोड़ने पर विवश हुए।

इस दिन का इसलिये भी खास महत्व है कि स्वतंत्रता के बाद से भारत लगातार तरक्की की सीढ़ियां चढ़ता रहा है और पूरी दुनिया में अपनी एक अलग पहचान कायम की है। देश विकास के रास्ते पर है। भारत की गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ लोकतांत्रिक देशों में होती है। ऐसे में हमारी जिम्मेदारी और बढ़ जाती है।

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अमर शहीदों को याद करते हुए अपने कर्तव्यों को भी याद करना चाहिए और मंथन करना चाहिए कि हम किस तरीके से देश की उन्नति के लिए अपना योगदान दे सकते हैं। ताकि उन अमर शहीदों का सपना साकार हो सके, जिन्होंने आजादी की लड़ाई में अपनी जान गंवाई थी।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट